Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

गोरखपुर7 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

यह फोटो गोरखपुर की है। सीएम योगी दो दिवसीय गोरखपुर के दौरे पर हैं। गुरुवार को उन्होंने यहीं से प्रदेश को सड़क परियोजनाओं की सौगात दी।

  • गोरखपुर में थे सीएम योगी, नई दिल्ली से VC के जरिए जुड़े केंद्रीय सड़क एवं परिवहन मंत्री
  • सीएम ने कहा- राजमार्ग के निर्माण से प्रदेश के साथ आम नागरिकों का भी होगा विकास

उत्तर प्रदेश में रोड इंफ्रास्ट्रक्चर को मजबूती देने के लिए गुरुवार को केंद्र सरकार के सहयोग से मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने 16 नेशनल हाईवे की सौगात दी। नई दिल्ली से केंद्रीय सड़क एवं परिवहन मंत्री नितिन गडकरी वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए जुड़े। जबकि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ गोरखपुर के सर्किट हाउस में थे। गडकरी और योगी ने प्रदेश को 7476.56 करोड़ रुपए की लागत की 504.32 किमी लंबी 16 सड़क परियोजनाओं का लोकार्पण और शिलान्यास किया। इस मौके पर मुख्यमंत्री ने कहा कि, जितने राजमार्ग 60 साल में बने उतने छह साल में बनाकर दिखाए हैं।

प्रदेश नई गति से आगे बढ़ता दिखाई दिया

CM योगी आदित्यनाथ ने कहा कि, कोरोना काल में भी 505 किमी लंबी 7477 करोड़ की सड़क परियोजनाओं का लोकार्पण/शिलान्यास किया गया है। छह वर्ष में प्रदेश में विकास और राजमार्ग का निर्माण हुआ है, इसके लिए केंद्रीय सड़क एवं परिवहन मंत्रालय बधाई का पात्र है। छह वर्षों में उन्होंने विकास कार्यों को हर जगह पहुंचाया है। जितने राजमार्ग 60 साल में बने उतने 6 साल में बना कर दिखाए हैं। पहली बार जब गडकरी जी आए थे, तो एक बाईपास बनाने के बात कही थी। आज उसका भी लोकार्पण हो रहा है। आज 16 कार्यों का शिलान्यास और लोकार्पण हो रहा है। प्रदेश के अंदर कार्य नई गति से आगे बढ़ता हुआ दिखाई दिया।

आम नागरिकों का भी होगा विकास

योगी ने कहा कि, यूपी शासन से जुड़ी हुई कोई भी समस्या है, वहां समस्या को हल करने के लिए आश्वस्त करते हैं। ग्राम सभा की जमीन को जरूरत पड़ने पर राजमार्ग के लिए निशुल्क जमीन उपलब्ध कराएं। राजमार्ग के निर्माण से प्रदेश और आम नागरिकों का भी विकास होगा। प्रदेश की जनता की ओर से गडकरी जी और जनरल वीके सिंह जी को प्रदेश की जनता की ओर से धन्यवाद देता हूं।

इन परियोजना का शिलान्यास व लोकार्पण

  • 61.19 किमी लंबी मेरठ से बुलंदशहर राष्ट्रीय राजमार्ग का 4 लेन चौड़ीकरण होगा। इस पर 2407.91 करोड़ रुपए खर्च होंगे।
  • कौड़िया से गोरखपुर बाइपास को 4 लेन किया जाएगा। इस पर 866 करोड़ रुपए खर्च आएगा।
  • कबरई से बांदा NH 76 का अपग्रेडेशन होगा। जिस पर 215 करोड़ रुपए खर्च होगा।
  • चित्रकूट और प्रयागराज जिले में मऊ से जसरा तक NH 76 का चौड़ीकरण होगा। यहां 218 करोड़ रुपए खर्च किया जाएगा।
  • प्रतापगढ़ और प्रयागराज जिले में प्रयागराज से प्रतापगढ़ के बीच NH 76 का अपग्रेडेशन। लागत 599 करोड़ रुपए है।
  • सिद्धार्थनगर जिले में बरहनी से कटाया के बीच NH 730 का अपग्रेडेशन होगा। इसकी लागत 209 करोड़ रुपए है।
  • बहराइच और श्रावस्ती जिले में बहराइच से श्रावस्ती के बीच NH 730 का अपग्रेडेशन किया जाएगा। इसकी लागत 389 करोड़ रुपए है।
  • कानपुर जिले में ROB का निर्माण होगा।
  • सोनभद्र जिले में यूपी/झारखंड सीमा से मध्य प्रदेश/उत्तर प्रदेश सीमा पर NH 75E का अपग्रेडेशन। इस पर 87 करोड़ रुपए खर्च होंगे।
  • इटावा और औरैया जिले में कुदरकुट से भरथना चौक तक NH 91A का चौड़ीकरण। 39 करोड़ रुपए लागत।
  • मिर्जापुर जिले में ड्रमंडगंज से हालिया के बीच NH 135C का चौड़ीकरण। 39 करोड़ रुपए लागत।
  • प्रयागराज जिले में रामपुर से भदेवरा के बीच NH135C का चौड़ीकरण। 76 करोड़ रुपए लागत।
  • गोरखपुर जिले में सिकरिनगंज से गोला के बीच NH 227 का चौड़ीकरण। लागत 37.52 करोड़ रुपए।
  • कुशीनगर जिले में तमकुहीराज से पडरौना के बीच NH 730 का चौड़ीकरण। 69 करोड़ रुपए लागत।
  • प्रयागराज जिले में फाफामऊ से गंगा नदी पर मौजूदा पुल के समानांतर 6 लेन के पुल का निर्माण होगा। जिस पर 1948 करोड़ रुपए लागत आएगी।



Source link

By Raj

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *