वाराणसीएक घंटा पहले

  • कॉपी लिंक

काशी में बुनकारों ने बुधवार को एक बैठक की जिसमें तय किया गया कि वह अपनी मांगों को लेकर कल से प्रदर्शन करेंगे।

  • काशी में लगभग 30 हजार बुनकर इससे प्रभावित होंगे
  • बिजली विभाग के लोग घर घर पहुंच वसूली कर रहे हैं

उत्तर प्रदेश के वाराणसी में बुनकरों ने बिजली के फ्लैट रेट को लेकर 15 तारीख से फिर से पावरलूम बंद करने का एलान कर दिया है। बनारस की बुनकर बिरादराना तंज़ीम बाईसी के सरदार के शादुल्लापुरा स्थित आवास पर एक अहम् बैठक में निर्णय लिया गया है। पिछले सरकार द्वारा जो 2006 से बुनकरों को फ्लैट रेट से दी जा रही बिजली को 1 जनवरी 2020 से रोक दी गयी है। उसे फिर से चालू कराने को लेकर बंदी की घोषणा की गई है।

बिरादराना तंजीम बाइसी के सरदार हाजी अब्दुल कलाम ने बताया कि 3 सितंबर को लखनऊ में नवनीत सहगल के साथ हुई बैठक में निर्णय लिया गया था,कि जनवरी से 31 जुलाई तक पुरानी फ्लैट रेट व्यवस्था ही रहेगा।अक्टूबर माह में जल्द ही बुनकरों के हित मे फ्लैट रेट को लेकर नयी योजना बनायी जाएगी।अभी तक कोई योजना बनी नही और बुनकर परेशान हो रहा है।

बुनकरों की बदहाली किसी से छिपी नहीं
बुनकर बिरादराना तंजीम बाइसी के सरदार हाजी अब्दुल कलाम ने कहा कि आज बुनकरों की बदहाली किसी से छुपी नहीं है। हम सभी पंचायत के लोग सरकार से मांग करते है ,की जिस तरह बुनकरों को 2006 से फ्लैट रेट बिजली मिलती थी वो बदस्तूर जारी रहे और सरकार को ये पूरा हक़ है की फ़्लैट रेट अगर पहले के मुकाबले कम है तो उसमे बढ़ा कर ले ताकि जो पूर्व की सरकार ने कानून बनाया था उस कानून के तहत हम बुनकरों को फ़्लैट रेट से बिजली मिले ।

हाजी ओकास अंसारी ने बताया फ्लैट रेट में 72 रुपये में एक पावरलूम चलाने को मिलता है।वर्तमान सरकार अब इसे 1500 रुपया महीना कर रही है।साथ ही मीटर रीडिंग से बिल लेने की योजना भी बनायी जा रही है।



Source link

By Raj

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *