Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

मथुराएक घंटा पहले

  • कॉपी लिंक

श्रीकृष्ण जन्मभूमि विवाद को लेकर आज स्थानीय अदालत में सुनवाई होनी है। याचिका में मथुरा में श्रीकृष्ण जन्मभूमि के बाद बने ईदगाह को हटाने की मांग की गई है।

  • श्रीकृष्ण जन्मभूमि परिसर की 13.37 एकड़ जमीन का मालिकाना हक मांगा गया है
  • जिला अदालत से पहले सिविल कोर्ट में दायर की याचिका को खारिज कर दिया था

उत्तर प्रदेश के मथुरा में श्रीकृष्ण जन्मभूमि विवाद को लेकर आज स्थानीय अदालत में सुनवाई टल गई है। बताया जा रहा है कि जिला जज साधना रानी ठाकुर एक दिन के अवकाश पर होने के कारण आज सुनवाई नहीं हुई। कुछ समय बाद हालांकि अदालत ने मामले की सुनवाई के लिए 7 जनवरी की तारीख तय की है।

इससे पहले याचिका में मथुरा में श्रीकृष्ण जन्मभूमि के बाद बने ईदगाह को हटाने की मांग की गई है। मथुरा श्रीकृष्ण विराजमान सिविल वाद के संबंध में दाखिल की गई अपील को जिला न्यायाधीश ने 16 अक्टूबर को स्वीकार कर लिया था। इस मामले में सभी विपक्षियों को नोटिस भी जारी किया गया था। इससे पहले केस की सुनवाई 18 नवंबर को हुई थी, जिसे बाद में 10 दिसंबर के लिए टाला गया गया था। हालांकि, उस दिन सभी पक्षकार उपस्थित नहीं हो सके, ऐसे में अब आज इस केस की सुनवाई होनी है।

जज साधना रानी ठाकुर की अदालत में दायर हुआ था वाद

श्री कृष्ण विराजमान और लखनऊ निवासी अधिवक्ता रंजना अभिनेत्री समेत आठ लोगों ने जिला जज साधना रानी ठाकुर की अदालत में वाद दायर किया था । इसमें श्री कृष्ण जन्म स्थान को 13.37 एकड़ जमीन सौंपने के साथ ही वहां से शाही मस्जिद ईदगाह हटाने की मांग की थी । जिला जज के द्वारा फैसले की तारीख को बढ़ा कर 10 दिसंबर कर दिया गया था।

25 सितम्बर को दायर हुई थी याचिका
25 सितंबर को अपर सिविल जज सीनियर डिवीजन न्यायालय में अपील स्वीकार की गई थी और सुन्नी वक्फ बोर्ड, श्री कृष्ण जन्मस्थान ट्रस्ट, श्री कृष्ण जन्मस्थान सेवा संघ, शाही ईदगाह ट्रस्ट को नोटिस जारी किया गया था। मामले में श्री कृष्ण विराजमान सखाओं द्वारा श्रीकृष्ण जन्मस्थान के पास बने ईदगाह को हटाने की माग की गई है। सुनवाई के बाद 30 सितम्बर को वाद खारिज हो गया।

16 अक्टूबर को जिला जज की अदालत ने चारों प्रतिवादियों को नोटिस जारी किया था। उन्होंने ये भी फैसला सुनाया की श्री कृष्ण विराजमान मामले को लेकर 10 दिसंबर 2020 को कोर्ट में मामले की सुनवाई की जायेगी। कोर्ट द्वारा दी गई तारीख़ को लेकर सबकी नजरें जिला जज के फैसले पर टिकी हुई हैं।

सिविल कोर्ट खारिज कर चुकी है याचिका
मथुरा की कोर्ट में दायर हुए मुकदमे में श्रीकृष्ण जन्मभूमि परिसर की 13.37 एकड़ जमीन का मालिकाना हक मांगा गया है। साथ ही मंदिर स्थल से शाही ईदगाह मस्जिद को भी हटाने की अपील की गई है। जिला अदालत से पहले सिविल कोर्ट में दायर की याचिका को खारिज कर दिया गया था। इससे पहले भी 1968 में ऐसा ही एक मामला अदालत में दायर किया गया था, तब भी मंदिर के पास से ईदगाह मस्जिद हटाने को कहा गया था। हालांकि, बाद में दोनों पक्षों ने अदालत के बाहर ही समझौता कर लिया था।



Source link

By Raj

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *