टॉप न्यूज़


  • Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Jhansi
  • Mahoba IPS Manilal Patidar Case Latest News Updates। Stone Businessman Keshav Savita Serious Allegation Of Police In Mahoba Uttar Pradesh

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

महोबाएक महीने पहले

सीओ कालू सिंह ने कहा कि व्यापारी केशव बाबू सविता के द्वारा पुलिस पर लगाए गए आरोप निराधार हैं। पुलिस किसी तरह का कोई उत्पीड़न नहीं कर रही है।

  • शहर कोतवाली पुलिस ने व्यापारी के बेटे पर दर्ज किया मारपीट व लूट का केस
  • हालत बिगड़ने पर बेटा कानपुर रेफर, सीओ ने कहा- सभी आरोप बेबुनियाद

उत्तर प्रदेश के महोबा में एक और कारोबारी ने पुलिस पर उत्पीड़न का आरोप लगाया है। व्यापारी ने बेटे के साथ मारपीट, लूट का सनसनीखेज आरोप पुलिस पर लगाया है। बेटे को गंभीर हालत में कानपुर रेफर किया गया है। व्यापारी, कबरई के मृतक क्रशर कारोबारी इंद्रकांत त्रिपाठी और फरार चल रहे जिले के पूर्व पुलिस अधीक्षक (SP) व IPS मणिलाल पाटीदार के मामले में गवाह है। उसका आरोप है कि उस पर बयान बदलने का भी दबाव बनाया जा रहा है। उसकी भी हत्या हो सकती है।

हाथ बांधकर हवालात में डाला गया बेटा

यह मामला शहर कोतवाली क्षेत्र के परमार मेडिकल से जुड़ा है। जहां बीते शुक्रवार को विस्फोटक व्यापारी केशव बाबू सविता का बेटा इलाज के लिए गया हुआ था। शराब के नशे में होने के चलते केशव के बेटे कमल का स्टॉफ के साथ विवाद हो गया था। केशव का आरोप है कि इस मामले में मौके पर पहुंची शहर पुलिस ने मेरे बेटे को कोतवाली ले जाकर मारपीट के बाद उसके हाथ बांधकर हवालात में डाल दिया था। उस पर लूट का फर्जी मुकदमा लिखा गया। मेरा बेटा हार्ट का मरीज है। जिसकी तबीयत लगातार बिगड़ जाने पर कानपुर रेफर किया गया।

कोतवाल ने बेटे को न छोड़ने की धमकी दी, मेरी भी हत्या की आशंका

व्यापारी ने कहा, मैं तीन माह पूर्व हुए विस्फोटक व्यापारी इंद्रकांत त्रिपाठी की पुलिस उत्पीड़न के बाद हुई मौत मामले में गवाह हूं। जिसको लेकर पुलिस लगातार गवाही बदलने का दबाब बना रही है। पुलिस के द्वारा मेरा और मेरे परिवार का उत्पीड़न किया जा रहा है। मुझे अब खुद की हत्या की आशंका बनी हुई है। आरोप है कि बेटे को पकड़कर लाने के बाद कोतवाल विजय कुमार सिंह ने कहा कि उसे नहीं छोडूंगा। मुझ पर भी 302 का मुकदमा लिखाना।

व्यापारी के आरोप बेबुनियाद, कोई उत्पीड़न नहीं हुआ

इस मामले को लेकर CO कालू सिंह का कहना है कि शहर कोतवाली के बजरंग चौक पर रहने वाले डॉक्टर प्रशांत परमार के क्लीनिक पर केशव बाबू सविता का बेटा कमल शुक्रवार को गया हुआ था। इलाज कराने के दौरान वहां पर मारपीट करने लगा था। साथ ही वहां 5000 रुपए लूट लिए थे। जिसको लेकर डॉक्टर परमार ने कोतवाली में शिकायत दर्ज कराई थी।

इस मामले को लेकर पुलिस आरोपी कमल को लेकर कोतवाली आई थी। मगर हालत नाजुक होने पर उसे जिला अस्पताल में भर्ती कराया गय। जहां डॉक्टरों ने उसे कानपुर रिफर कर दिया है। केशव बाबू सविता के द्वारा पुलिस पर लगाए गए आरोप निराधार हैं। पुलिस किसी तरह का कोई उत्पीड़न नहीं कर रही है।



Source link

By Raj

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *