Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

वाराणसी22 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक
जवानों के परिजन भी पासिंग आउट परेड में शामिल होते हैं। - Dainik Bhaskar

जवानों के परिजन भी पासिंग आउट परेड में शामिल होते हैं।

  • 42 महीनों की कठिन प्रशिक्षण के बाद जवानों को देश सेवा का मौका मिलता हैं

39 GTC (गोरखा ट्रेनिंग सेंटर ) के कसम परेड ग्राउंड में मंगलवार को 42 सप्ताह के कठिन प्रशिक्षण के बाद 94 जवानों को विधिवत भारतीय सेना में शामिल कर लिया गया। दंड पाल अधिकारी द्वारा पवित्र गीता पर हाथ रखवा कर भारतीय संविधान के अनुसार मातृभूमि की रक्षा की शपथ दिलाई गई। इस दौरान प्रशिक्षण के दौरान बेहतर ट्रेनिंग करने वाले जवानों को पुरस्कार भी दिया गया।

जम्मू कश्मीर, पंजाब, असम समेत देश अन्य हिस्सों में जवान देश की रक्षा करेंगे

गोरखा जवानों को ट्रेनिंग के बाद भारतीय सेना में शामिल कर लिया गया है। उन्हें नेपाल का परंपरागत हथियार खुखरी भी भेंट की गई। जवान जम्मू, हिमाचल, पंजाब समेत देश के कई राज्यों में देश रक्षा के लिए तैनात किए जाएंगे। बेस्ट फायरिंग का सम्मान अमित बहादुर और बेस्ट ड्रिल का सम्मान काशी शाही को मिला।

सेना के अधिकारियों ने जवानों को कहा आप सभी मौसम और परिस्थितियों में अपने आप को ढाल सकें यही आपकी ताकत है। इस अवसर पर देश के लिए शहीद जवानों श्रद्धांजलि भी दी गई।



Source link

By Raj

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *