• Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Varanasi
  • Champat Rai’s Statement By The Makarsankranti In Ayodhya, The Drawing Of The Strong Foundation Will Be Revealed And Construction Work Will Begin.

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

वाराणसी4 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र न्यास के महासचिव चंपत राय ने अयोध्या राम मंदिर से जुड़ी जानकारियों को साझा किया।

  • जमीन के 70 फुट गहराई से आज भी बालू निकल रहा है
  • मंदिर के टूटने का प्रमाण नीचे मलबा मिलने से मिल रहा है

श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र न्यास के महासचिव चंपत राय इंग्लिशिया लाइन स्थित विश्व हिंदू परिषद के कार्यालय में शुक्रवार को मीडिया से मिले। उन्होंने बताया मकर संक्रांति से मंदिर निर्माण का कार्य शुरू हो जायेगा। इससे जुड़ा मजबूत ड्राइंग तब तक सामने आ जायेगा। मंदिर की नींव में लोहा नही होगा। तांबे के साथ पत्थर,प्लेन कंक्रीट या चुना होगा तय नही हुआ है। सोने की ईंट देश मे कही से नही आयी है।

लोगो से अपील चांदी न दान करे,इसकी जगह धन दान करे

चंपत राय ने बताया देश भर से चांदी बहुत आ रहा है। इसका उपयोग कहा होगा, एक्सपर्ट भी नही समझ पा रहे है। मंदिर 360 फिट लंबा, 235 फिट चौड़ा और जमीन से 161 फिट ऊंचा होगा। मंदिर दर्शन करने जाने के लिए 32 सीढ़ियां चढ़नी होगी। करीब साढ़े सोलह फिट ऊपर चढ़ना होगा। 4 लाख घन फुट पत्थर करीब लगेगा।

दिसंबर 2023 तक निर्माण कार्य पूर्ण होने की उम्मीद

मंदिर के मजबूत नींव के लिए आईआईटी मुंबई, गुवाहाटी, रुड़की, चेन्नई के एक्सपर्ट कार्य कर रहे है। मंदिर के पत्थरों को तांबे से जोड़ा जायेगा। जमीन के 200 फिट नीचे तक गहराई का अध्ययन हो रहा है। भूकंपरोधी बनाने और अन्य चीजों को भी देखा जा रहा है। लोग धन का दान करे। रैली के बजाय कार्यकर्ता घर घर जाये।



Source link

By Raj

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *