Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

वाराणसी14 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने आंगनवाड़ी के बच्चों को बाहर नहीं गांव में ही टूर कराने पर जोर दिया। जिसमें पंचायत भवन, पोस्ट ऑफिस, गांव का बाजार दिखाने का सुझाव दिया।

  • राज्यपाल ने आंगनवाड़ी प्रशिक्षण कार्यक्रम का उद्घाटन किया

UP की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने सोमवार को बीएचयू के साइंस फैकल्टी में जिला प्रशासन एवं विद्या भारती के सहयोग से आयोजित आंगनवाड़ी के तीन दिवसीय कार्यक्रम का दीप प्रज्वलित कर उद्घाटन किया। राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने आंगनवाड़ी के बच्चों को बाहर नहीं गांव में ही टूर कराने पर जोर दिया। जिसमें पंचायत भवन, पोस्ट ऑफिस, गांव का बाजार दिखाने का सुझाव दिया।

मातृभाषा से सीख जल्दी होती है और नई शिक्षा नीति में इसका समावेश है

राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने कहा कि नई शिक्षा नीति में बहुत बल है। प्रारंभिक शिक्षा आंगनवाड़ी का ही पार्ट है। भारत का भविष्य तय करने के लिए बच्चों को संस्कारित शिक्षा से जोड़ा जाए। बच्चों में मातृभाषा से सीख जल्दी होती है और नई शिक्षा नीति में इसका समावेश है। बच्चे को शुरुआती 8 वर्ष तक जो सिखाया जाता है, उसका 80 फीसदी सीख कर आदत में ढल जाती है। इसीलिए प्रारंभिक शिक्षा अति महत्वपूर्ण है।

आंगनवाड़ी में आने से पहले बच्चे ने घर में क्या देखा, क्या सुना, कैसा व्यवहार देखा, कैसे बात की वही सब लेकर आंगनवाड़ी में आता है और वैसा ही करता है। इसको आंगनवाड़ी में समझना होगा। बच्चे में क्या क्वालिटी है, तथा क्या कमी है, कमियों का पता भी लगाएं, फिर उसी अनुरूप अच्छा संस्कारवान बनाने का उसके साथ बात, व्यवहार, पढ़ाई, खेल क्रियाकलाप जोड़े ।



Source link

By Raj

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *