टॉप न्यूज़


  • Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Lucknow
  • Three Dozen Leaders, Including The Daughter Of Munawar Rana, Joined The SP, Leaders Of Other Parties, Akhilesh Said Agriculture Law Is A Death Warrant For Farmers

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

लखनऊ25 दिन पहले

पूर्व सीएम ने मंगलवार को सपा कार्यालय पर प्रेस कांफ्रेंस की। इस दौरान कहा कि सरकार ने वादा किया था कि हम किसानों की आय दोगुनी करेंगे।

  • पूर्व सीएम ने कहा कि सरकार ने वादा किया था कि हम किसानों की आय दोगुनी करेंगे
  • अखिलेश ने कहा कि सरकार बड़े व्यापारियों के हाथ मजबूत करने का काम किया

समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष और उत्तर प्रदेश के पूर्व सीएम अखिलेश यादव की मौजूदगी में शायर मुनव्वर राना की बेटी सुमैय्या राना और बसपा से निष्कासित गोंडा जिले के पूर्व विधायक समेत करीब 3 दर्जन नेताओं ने समाजवादी पार्टी का दामन थामा। अखिलेश यादव ने कहा कि केंद्र सरकार का कृषि बिल किसानों के लिए डेथ वारंट है। पूर्व सीएम ने कहा कि पश्चिम बंगाल में भाजपा सिर्फ नफरत की राजनीति करने में लगी हुई है।

पूर्व सीएम अखिलेश यादव ने पार्टी कार्यालय पर कहा- जो काम कभी लोकतंत्र में नहीं हुआ वो आज भाजपा सरकार कर रही है।सरकार के मंत्री फर्जी मोबाइल लांच कर दे रहे है। विधानसभा में पुड़िया मिली तो उसको कुछ भी बता दिया। इस सरकार में कुछ भी हो सकता है। आज आवाज उठाने पर लोगो को जेल भेजा जा रहा है। सपा छोटी पार्टियों को आज साथ जोड़ने का काम कर रही है। किसान आंदोलन के नाम पर सपा के कार्यकर्ताओं पर सबसे ज्यादा मुकदमे लिखे गए है। आज किसानों को एमएसपी नहीं मिल रही। भाजपा के फैसलों ने देश की अर्थव्यवस्था को खराब कर दिया है।

ठोक दो की नीति पर काम कर रही सरकार

उत्तर प्रदेश सरकार का मुखिया जब ठोक दो नीति पर है तो लोकतंत्र कैसे बचेगा। उत्तर प्रदेश सरकार का विजन नहीं है तभी गोरखपुर में मेट्रो नहीं बन पा रही है। पश्चिम बंगाल में भाजपा सिर्फ नफरत की राजनीति कर रही है। पश्चिम बंगाल के जनता से अपील करता हूं की भाजपा को हराए। भाजपा सरकार जब तक रहेगी तब तक लोकतंत्र को नहीं बचाया जा सकता। किसानों को वो MSP मिलनी चाहिए, जिससे किसानों की आय दुगनी हो।

घंटाघर पर प्रदर्शन कर चर्चा में आईं थी सुमैय्या
शायर मुनव्वर राणा की बेटी सुमैय्या राना ने नागरिकता संशोधन कानून और जनगणना के खिलाफ प्रदर्शन में बढ़-चढ़कर हिस्सा लिया था। लखनऊ के घंटाघर पर हुए प्रदर्शनों में सैयद उजमा परवीन और सुमैय्या राना ने ह‍िस्‍सा ल‍िया था। पुलिस ने इस मामले में कार्रवाई करते हुए शायर मुनव्वर राना की बेटी समेत 150 लोगों के खिलाफ मुकदमा भी दर्ज किया था। ये मुकदमे रास्ता जाम कर प्रदर्शन, सोशल मीडिया पर आपत्तिजनक टिप्पणी वायरल करने, धारा 144 का उल्लंघन और बलवा करने के आरोप में दर्ज किए गए थे।



Source link

By Raj

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *