• Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Recovery Rate Reached 86.04 In UP; In 24 Hours, 4095 New Infected Of Kovid Were Found, 4444 People Were Discharged

लखनऊ6 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

प्रतिकात्मक फोटो। यूपी में गुरुवार को एक बार फिर चार हजार से ज्यादा मामले सामने आए हैं।

  • राजधानी लखनऊ में कोरोना के हालात, 696 केस मिले, छह की मौत
  • मुख्यमंत्री ने गुरुवार को सभी 18 मंडलों के विकास कार्यों की समीक्षा की

उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में पिछले 24 घंटों में कोविड के 4095 नए मामले सामने आए हैं और 4444 लोग ठीक होकर डिस्चार्ज हुए हैं। अब प्रदेश में रिकवर होने के बाद डिस्चार्ज हुए लोगों की कुल संख्या 3,46,859 है। कुल रिकवरी प्रतिशत 86.04 तक पहुंच गई है। सक्रिय मामले 50,378 है।

उत्तर प्रदेश के अपर मुख्य सचिव स्वास्थ्य अमित मोहन प्रसाद ने बताया कि, प्रदेश में पिछले 24 घंटों में 1,64,787 टेस्ट किए गए, अब तक कुल 1,02,63,709 सैंपल्स की जांच की गई है। मुख्यमंत्री के मार्गदर्शन में नई गाइडलाइन्स जारी की गई हैं। इसके तहत कंटेनमेंट जोन के बाहर जो गतिविधियां अनुमन्य होंगी उसमें स्कूल और कोचिंग संस्थान जो शैक्षणिक कार्य है वो 15 अक्टूबर के बाद चरणबद्ध तरीके से खोला जा सकेगा।

लखनऊ में कोरोना के हालात, 696 केस मिले, छह की मौत
गुरुवार को सीएमओ की टीम के द्वारा 7737 लोगों के सैम्पल लिये गए। जिसमें से आशियाना 21, इंदिरा नगर 47, आलमबाग 19, ठाकुरगंज 19, तालकटोरा 14, हसनगंज 17, गोमती नगर 48, हजरतगंज 15, मड़ियांव 17, रायबरेली रोड 42, अलीगंज 13, जानकीपुरम 16, महानगर 15, कैंट 28, चौक 36, चिनहट 22, विकासनगर 10, गुडम्बा 12, नाका 19, सुशान्त गोल्फ सिटी 12, गोमती नगर विस्तार 12 इत्यादि स्थानों पर पॉजिटिव रोगी पाए गए। मौजूदा समय में लखनऊ में कोरोना संक्रमित की संख्या 6431 है। अब तक 709 लोगों की मौत हो चुकी है।

मुख्यमंत्री ने सभी 18 मंडलों के विकास कार्यों की समीक्षा की
कोरोना से लड़ाई के बीच लोगों की स्वास्थ्य सुरक्षा सुनिश्चित करते हुए मुख्यमंत्री ने मंडलवार विकास कार्यों की समीक्षा भी की। बीते 2 सितंबर से मुख्यमंत्री द्वारा प्रत्येक दिन एक मण्डल की समीक्षा की जा रही थी। बीते बुधवार को 18 वीं समीक्षा बैठक झाँसी मण्डल की हुई, जो इस कड़ी में आखिरी थी।

वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से हो रही इन समीक्षा बैठकों में मुख्यमंत्री मंडलायुक्त स्तर पर समग्र और फिर जिलाधिकारी द्वारा जिले के विकास कार्यों की प्रगति से अवगत होते हुए आवश्यक दिशा-निर्देश दिए। इन बैठकों मुख्यमंत्री के विशेष निर्देश पर स्थानीय जनप्रतिनिधियों और जनपद के प्रभारी मंत्रियों की सहभागिता भी रही।

सीएम ने सभी सांसदों और विधायकों से फीडबैक प्राप्त करते हुए उनकी समस्याओं और मांगों के बारे में भी जानकारी लेते हुए अधिकारियों को निर्देश दिए। मुख्यमंत्री द्वारा कोविड काल में प्रदेश के समग्र विकास कार्य की समीक्षा करने के इस प्रयास की हर स्तर पर खासी सराहना हो रही है।



Source link

By Raj

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *