Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

लखनऊ17 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

पूर्व आईएएस सच्चिदानंद दुबे के खिलाफ जांच में सीबीआई को प्रमाण मिले थे कि उन्होंने वर्ष 2007 से 2009 के बीच डीएम रहने के दौरान मनरेगा का बजट स्टेशनरी खरीद‚ प्रचार–प्रसार और जनरेटर खरीद में खर्च कर दिया।

  • CBI ने घर पर छापेमारी में बरामद किए थे 51 लाख‚ हुए थे गिरफ्तार
  • बलरामपुर के चार मामलों में चार्जशीट दाखिल कर चुकी है CBI

उत्तर प्रदेश के बलरामपुर में मनरेगा घोटाले की जांच कर रही सीबीआई को राज्य सरकार ने तत्कालीन ड़ीएम एवं रिटायर्ड़ आईएएस सच्चिदानंद दुबे के खिलाफ अभियोजन की मंजूरी दे दी है। सच्चिदानंद दुबे को जांच में दोषी पाए जाने के बाद सीबीआई ने उनके खिलाफ नये नियमों की वजह से अभियोजन स्वीकृति मांगी थी। राज्य सरकार के इस फैसले से सच्चिदानंद दुबे की मुश्किलों में इजाफा होना तय है और अब उनको अदालत में आत्मसमर्पण करना होगा।

डीएम रहते हुए मिड डे मील घोटाला आया था सामने,2014 का मामला
मैनपुरी में सच्चिदानंद दुबे के ड़ीएम रहने के दौरान मिड़ डे़ मील घोटाला सामने आया था। इस मामले में दुबे के खिलाफ केस दर्ज करने के बाद सीबीआई ने 21 जुलाई 2014 को उनके आवास पर छापा मारकर कई अलमारियों में अलग–अलग लिफाफों में करीब 51 लाख रुपये की नगदी बरामद की थी। जांच में पता चला कि यह रकम बलरामपुर में ड़ीएम रहने के दौरान मनरेगा घोटाले में बतौर रिश्वत मिली थी। तत्पश्चात सीबीआई ने उनको गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था।

जांच में CBI को मिले थे पूर्व IAS अधिकारी के खिलाफ प्रमाण

दरअसल सच्चिदानंद दुबे के खिलाफ जांच में सीबीआई को प्रमाण मिले थे कि उन्होंने वर्ष 2007 से 2009 के बीच डीएम रहने के दौरान मनरेगा का बजट स्टेशनरी खरीद‚ प्रचार–प्रसार और जनरेटर खरीद में खर्च कर दिया। केंद्रीय एजेंसी से खरीदारी के बजाय एनजीओ से सप्लाई ली गयी जिसमें करोड़ों रुपए का गोलमाल हुआ।

चार मामलों में चार्जशीट दाखिल कर चुकी है CBI

सीबीआई बलरामपुर के चार मामलों में चार्जशीट दाखिल कर चुकी है जबकि कई मामलों की जांच जारी है। इसी तरह दुबे के मैनपुरी के डीएम रहने के दौरान मिड डे मील घोटाले में संलिप्त होने के आरोप हैं। इसमें तत्कालीन सीडीओ जेबी सिंह व उदय शंकर चतुर्वेदी के अलावा पूर्व बीएसए केडीएन राम व सप्लाई करने वाली फर्म को सीबीआई ने आरोपी बनाया था।



Source link

By Raj

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *