ipl


हाथरस15 घंटे पहले

हाथरस गैंगरेप मामले को लेकर 12 अक्टूबर को इलाहाबाद हाईकोर्ट की लखनऊ खंडपीठ में सुनवाई होगी। इस सिलसिले में शुक्रवार को प्रशासन ने गैंगरेप पीड़िता के परिवार से मुलाकात की।

  • मामले में 12 अक्टूबर को इलाहाबाद हाईकोर्ट की लखनऊ खंडपीठ में सुनवाई होगी
  • उत्तर प्रदेश के बड़े अफसरों के अलावा हाथरस के डीएम और एसपी कोर्ट में तलब

हाथरस में गैंगरेप पीड़िता की मौत हुए 11 दिन हो चुके हैं। पीड़िता का परिवार न्याय के लिए लड़ रहा है, उधर आरोपी पक्ष के लोग इस पूरे मामले को ऑनर किलिंग की तरफ मोड़ने की कोशिश में हैं। इसी बीच शुक्रवार को पीड़िता के भाई का बयान सामने आया। उसने कहा- अभी तक हमनें बहन की अस्थियां विसर्जित नहीं कीं। पहले हम आरोपियों को फांसी पर लटकते देखना चाहते हैं।

सहमति पत्र पर साइन करते मृतका के पिता।

सहमति पत्र पर साइन करते मृतका के पिता।

अब 12 अक्टूबर को हाईकोर्ट में सुनवाई

1 अक्टूबर को इलाहाबाद हाईकोर्ट की लखनऊ खंडपीठ ने हाथरस गैंगरेप केस का स्वत: संज्ञान लिया था। जज राजन रॉय और जसप्रीत सिंह की पीठ ने प्रमुख सचिव गृह, डीजीपी, एडीजी कानून व्यवस्था के अलावा हाथरस के डीएम और एसपी को नोटिस जारी किया था। राज्य सरकार से प्रतिक्रिया मांगते हुए सुनवाई के लिए 12 अक्टूबर को तय की थी। ऐसे में शुक्रवार को तहसीलदार ने पीड़िता के परिवार के बीच पहुंचकर सहमति पत्र पर साइन कराया है। मृतका के भाई ने बताया कि 12 तारीख को हाईकोर्ट पहुंचना है। कहा गया है कि सुरक्षा दी जाएगी। हम पांच लोग जाएंगे। कुछ रिश्तेदार भी जाएंगे।

डीआईजी ने सुरक्षा व्यवस्था का जायजा लिया

डीआईजी लखनऊ शलभ माथुर शुक्रवार को हाथरस में पीड़िता के गांव बूलगढ़ी पहुंचे। उन्होंने परिवार की सुरक्षा व्यवस्थाओं का जायजा जिया। डीआईजी ने कहा कि पुलिस इस प्रकरण में कानून की प्रक्रिया के तहत जांच कर रही है। परिवार की सुरक्षा के लिए सीसीटीवी लगाए और सुरक्षा कर्मियों को तैनात किया गया है।

बूलगढ़ी गांव में डीआईजी लखनऊ।

बूलगढ़ी गांव में डीआईजी लखनऊ।

क्या है पूरा मामला?

हाथरस में 14 सितंबर को 4 लोगों ने 19 साल की लड़की के साथ गैंगरेप किया था। आरोपियों ने लड़की की रीढ़ की हड्डी तोड़ दी और उसकी जीभ भी काट दी थी। दिल्ली में इलाज के दौरान 29 सितंबर को पीड़ित की मौत हो गई। चारों आरोपी गिरफ्तार कर लिए गए हैं। हालांकि, पुलिस का दावा है कि दुष्कर्म नहीं हुआ था।



Source link

By Raj

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *