Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

लखनऊ12 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

बाइक बोट घोटाले के आरोपी को ईओडब्लयू ने दिल्ली एयरपोर्ट से पकड़ा है।

  • निवेशक दिनेश पांडे गिरफ्तार, बीएन तिवारी की तलाश में एसटीएफ लगाई गई थी
  • संजय भाटी और बीएन तिवारी ने दिनेश पांडे को दिए थे निवेश के लिए 150 करोड रुपए

बाइक बोट घोटाला मामले में EOW (आर्थिक अपराध शाखा) की लखनऊ शाखा ने एक और गिरफ्तारी की है। निवेशक दिनेश पांडे को दिल्ली एयरपोर्ट से गिरफ्तार किया गया है। EOW टीम को जानकारी मिलने के बाद दिनेश पांडेय दुबई भाग गया था। बयान देने के लिए नहीं आने वाले दिनेश पांडे के खिलाफ लुकआउट नोटिस जारी किया गया था। शनिवार को दुबई से लौटते ही दिनेश पांडे को दिल्ली एयरपोर्ट से पकड़ लिया गया। इससे पहले 19 नवम्बर को भी मामले में एक गिरफ्तारी की गई थी।

गिरफ्तार किए गए दिनेश पांडे ने जेनिथ टाउनशिप समेत अपनी कई कंपनियों में बाइक बोट की रकम निवेश की थी। दिनेश पांडेय ने बाइक बोट के घोटाले की रकम को नोबल कोऑपरेटिव बैंक में भी जमा कराया था। संजय भाटी और बीएन तिवारी ने दिनेश पांडे को निवेश के लिए 150 करोड रुपए दिए थे। दिनेश पांडेय मुकदमा दर्ज होने के बाद से फरार चल रहे थे।

निजी चैनल के मालिक बीएन तिवारी की तलाश में एसटीएफ लगाई गई
गिरफ्तार किए गए दिनेश पांडे के बयान के आधार पर लखनऊ के निजी चैनल के मालिक बीएन तिवारी की तलाश तेज कर दी गई है। संजय भाटी के साथ बीएन तिवारी को भी दिनेश पांडे ने बड़ा निवेशक बताया है। जिसके बाद से जौनपुर के रहने वाले लखनऊ में निजी चैनल के मालिक बीएन तिवारी की तलाश में यूपी एसटीएफ लगाई गई है। इससे पहले बीते 19 नवंबर को बाइक बोट घोटाले में वांछित रहे विजय कुमार शर्मा को गिरफ्तार किया गया था।

ईओडब्लू की पूछताछ में दिनेश पांडे ने कबूला अपना जुर्म
ईओडब्ल्यू की पूछताछ में पकड़े गए अभियुक्त दिनेश पांडे ने बताया कि नोएडा में वर्ष 2012 से विजेंद्र कुमार हुड्डा के संपर्क में आया था। वर्ष 2017 में बाइक बोर्ड प्रकरण शुरू हुआ तो दिनेश पांडे, संजय भाटी विजेंद्र हुड्डा के साथ मिलकर अलग-अलग कंपनियों और संपत्तियों में पैसा निवेश किया।

उसकी कंपनी में लगभग 150 करोड़ आए थे। उन पैसों का हिसाब पूछा क्या तो 60 करोड़ गर्वित व इंडिपेंडेंट टीवी को वापस करने और शेष बची रकम को दिनेश पांडे ने जमीन जायदाद में निवेश कर दिया।



Source link

By Raj

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *