लखनऊ4 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

लखनऊ पुलिस की गिरफ्त में हत्यारोपी पुजारी।

  • बंथरा थाना क्षेत्र के बेंती गांव में 27 सितंबर की रात हुई थी महिला की हत्या
  • आरोपी पर किसी को शक न हो, इसलिए उसने सबको चोरी होनी की बात कही

राजधानी लखनऊ के बंथरा थाना क्षेत्र के बेंती गांव स्थित नागेश्वर मंदिर के पुजारी दीप नारायण द्विवेदी की 46 साल की पत्नी दीपिका की हत्या मामले का पुलिस ने गुरुवार को खुलासा कर दिया। पुलिस के अनुसार पुजारी ने दो शादियां कर रखी हैं। दोनों पत्नियों के बीच विवाद चल रहा था। इसी के चलते दीप नारायण ने अपनी पहली पत्नी की गला दबाकर हत्या कर दी थी। बाद में जब पुलिस पहुंची लूटकांड का बहाना बनाया था। पुलिस ने पुजारी को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है।

गला दबाकर हत्या करने के बाद बिखेर दिया था सामान

डीसीपी मध्य सोमेन वर्मा ने बताया कि 54 साल के दीप नारायण द्विवेदी ने 10 साल पहले अपनी पत्नी दीपिका की भतीजी कुसुम से शादी कर ली थी। कुसुम और दीपिका व उनके दो-दो बेटे साथ में रहते थे। आए दिन दोनों पत्नियों के बीच विवाद होता रहता था। ऐसे में दीप नारायण ने पहली पत्नी दीपिका को रास्ते से हटाने की साजिश रची। उन्होंने 27/28 सितंबर की रात जब घर के अन्य सदस्य सो रहे थे तो उन्होंने दीपिका की गला दबाकर हत्या कर दी। घटना को लूट का रूप देने के लिए आरोपी ने घर के सामान को बिखेर दिया और दानपात्र को मंदिर परिसर से कुछ दूरी पर फेंक दिया था।

खुद ही दीवार में सेंध लगाई थी
डीसीपी मध्य ने बताया कि, हत्या के दौरान चोरी या फिर लूट जैसी किसी भी वारदात को अंजाम नहीं दिया गया था। इस बात का खुलासा जांच में हो गया था। घटना के बाद वादी की तरफ से जो तहरीर दी गई थी उसमें चोरी का जिक्र किया गया था। पुलिस ने जब आरोपी को गिरफ्तार किया तो उसकी निशानदेही पर एफआईआर में लिखाए गए आभूषण को भी बरामद कर लिया गया है। घटना को पूरी तरह साजिश तरीके से अंजाम दिया गया था। योजना के तहत ही दीप नारायण त्रिवेदी ने जिस कमरे में दीपिका सोती थी, वहां की दीवार में सेंध लगाया। उसके बाद पत्नी दीपिका की गला दबाकर हत्या कर दी।



Source link

By Raj

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *