लखनऊ/बाराबंकी17 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

नेता प्रतिपक्ष व सपा के वरिष्ठ नेता राम गोविंद चौधरी।

  • हाथरस गैंगरेप के बहाने से यूपी में दंगा भड़काने की साजिश के खुलासे पर सपा-कांग्रेस में उबाल
  • राम गोविंद चौधरी बोले- दंगा रोकने के लिए बड़ी बड़ी कुर्बानी देने को तैयार रहें समाजवादी

हाथरस में दलित युवती के साथ गैंगरेप और मौत की घटना के बाद उत्तर प्रदेश में जातीय दंगे भड़काने की साजिश का खुलासा हुआ है। इंटेलीजेंस से मिले इनपुट के आधार पर पुलिस का दावा है कि घटना के बाद रातों-रात एक वेबसाइट ‘जस्टिस फॉर हाथरस विक्टिम’ बनाई गई। इसके जरिए मुख्यमंत्री योगी के गलत बयान प्रसारित किए गए, ताकि माहौल बिगड़े। लेकिन इसके खुलासे के बाद कांग्रेस और सपा सत्ताधारी दल भाजपा पर हमलावर हो गई है। कांग्रेस ने इसे फर्जी व हास्यास्पद करार दिया है। कहा कि, इससे भाजपा का दलित चेहरा सामने आया है। वहीं, सपा ने कहा कि सीएम योगी आदित्यनाथ अपने पुराने रास्ते पर लौट रहे हैं। लोग सावधान रहें। सीएम योगी व उनकी टीम द्वारा होने वाले दंगों को रोकने के लिए समाजवादी बड़ी से बड़ी कुर्बानी देने को तैयार रहें।

कांग्रेस प्रवक्ता पीएल पुनिया।

कांग्रेस प्रवक्ता पीएल पुनिया।

भाजपा का असली दलित विरोधी चेहरा सामने आया: पीएल पुनिया

योगी अपना पुराना रिकॉर्ड याद करें, वे इस कुर्सी के लायक नहीं

नेता प्रतिपक्ष व सपा के वरिष्ठ नेता राम गोविंद चौधरी ने कहा है कि सूबे के लोग योगी आदित्यनाथ के पुराने रिकार्ड को याद करें। उन्होंने बतौर मुख्यमंत्री अपने ऊपर लगे मामलों को वापस नहीं लिया होता तो वह आज इस बड़ी कुर्सी की जगह खुद कानून की गिरफ्त में होते। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ कानून का राज स्थापित करने की जगह कानून की मर्यादा को तार तार कर रहे हैं। इसे लेकर केवल विपक्ष नहीं, पक्ष के भी संवेदनशील और समझदार लोगों को भी सावधान रहने की जरूरत है।

जनता को होशियार रहने की जरुरत

चौधरी ने कहा है कि सूबे के लोग इस समय केवल एक मांग कर रहे हैं कि सूबे में कानून व्यवस्था का शासन बहाल हो, बेटियों की सुरक्षा सुनिश्चित हो। लोगों की इस मांग को समाजवादी पार्टी और विपक्ष मुख्यमंत्री योगी तक पहुंचाना चाहता है। लेकिन इस आवाज को सुनना ही नहीं चाहते हैं। विपक्ष की आवाज बर्बर, दमन और गिरफ्तारी के बल पर कुचल देने की कोशिश की जा रही है। इस स्थिति से लोगों का ध्यान भटकाने के लिए अचानक मुख्यमंत्री को दंगा दंगा खेलने के अपने पुराने खेल का बोध हुआ है। जिसे कुछ लोगों और विपक्ष पर आरोप के बहाने उन्होंने व्यक्त कर दिया है। इसे लेकर सूबे के हर संवेदनशील और समझदार आदमी को सावधान रहने की जरूरत है। मुख्यमंत्री अपनी नाकामियों को छुपाने के लिए अपनी पार्टी के लोगों को उकसा कर जातीय व साम्प्रदायिक दंगा कराने की साजिश का मुंहतोड़ जवाब देने के लिए जनता होशियार रहे।



Source link

By Raj

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *