• Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Weavers Appealed By Creating A Human Chain Outside PM Modi’s Parliamentary Public Relations Office, Now Your Support

वाराणसी11 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

संसदीय जनसंपर्क कार्यालय के बाहर अपनी मांगो को लेकर खड़े बुनकर 

  • 7 दिनों से लाखों बुनकर प्रदेश में हड़ताल पर है
  • बुनकरों से मौजूद अधिकारियों ने पत्रक बाहर ही लिया

उत्तर प्रदेश की राजधानी वाराणसी में बुधवार को बुनकर संघ और बुनकर बिरादाराना तंजीम के संयुक्त आह्वान पर बुनकरों ने बुधवार को बिजली के फ्लैट रेट के मांग को लेकर रवींद्रपुरी कालोनी में मानव श्रृंखला बनाया। काशी में बुनकर पिछले 7 दिनों से अपना पावर लूम बंद कर आंदोलन कर रहे है।प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष तौर पर दो लाख से ज्यादे लोग इससे प्रभावित है।

वस्त्र बुनकर संघ के अध्यक्ष राकेश कांत राय ने कहा कि पीएम मोदी हमारे सांसद भी है। उनका दायित्व बुनकरों के प्रति भी होना चाहिये। कोरोना के बाद बिजली संकट से जूझ रहे बुनकरों की हालत खराब है। यूपी सरकार ने वादा किया था कि अक्टूबर में नया प्रारूप आ जायेगा। बुनकरों को सब्सिडी मिलेगी।

बुनकर 7 दिनों से स्ट्राइक पर हैं

हाजी ओकास अंसारी ने बताया कि 15 अक्टूबर से प्रदेश व्यापी हड़ताल हैं। इस त्योहारी सीजन में बुनकर दाने-दाने को मोहताज है। सितंबर महीने में सरकार के साथ बैठक में निर्णय हुआ था कि सब ठीक हो जायेगा। अब तो बिजली वाले बढ़े रेट से बिजली का बिल भी लेने पहुंच जा रहे है।

2006 में मुलायम सिंह की सरकार ने एक पावरलूम पर बिजली बिल 72 रुपये महीना कर दिया था। यूपी सरकार इसे बढ़ाकर 1500 रुपये के आसपास करने जा रही है। ऐसे में हम लोगो की मांग है कि कोई बीच का रास्ता निकाला जाये।



Source link

By Raj

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *