Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

अमेठीएक महीने पहले

  • कॉपी लिंक
केंद्रीय मंत्री के निजी सचिव विजय गुप्ता ने एसपी को पत्र लिखा था कि फर्जी तरीके से पत्र लिखकर मेरे विरूद्ध निराधार व असत्य आरोप लगाकर मानसिक रूप से परेशान करने व सामाजिक छवि को क्षति पहुंचाने का प्रयास किया। - Dainik Bhaskar

केंद्रीय मंत्री के निजी सचिव विजय गुप्ता ने एसपी को पत्र लिखा था कि फर्जी तरीके से पत्र लिखकर मेरे विरूद्ध निराधार व असत्य आरोप लगाकर मानसिक रूप से परेशान करने व सामाजिक छवि को क्षति पहुंचाने का प्रयास किया।

  • गुरुवार को स्मृति के निजी सचिव विजय गुप्ता मीडिया के सामने आए
  • बोले- कूटरचित दस्तावेजों के आधार पर वर्तिका ने सामाजिक छवि को बिगाड़ने का किया प्रयास
  • बुधवार को वर्तिका सिंह ने MP-MLA कोर्ट में केंद्रीय मंत्री समेत तीन लोगों पर दर्ज कराया था केस

केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी और अंतरराष्ट्रीय निशानेबाज वर्तिका सिंह के बीच विवाद में नया मोड़ सामने आया है। गुरुवार को स्मृति ईरानी के निजी सचिव विजय गुप्ता मीडिया के सामने आए और वर्तिका सिंह के खिलाफ वो पेपर मुहैया कराया, जिसके आधार पर उनके खिलाफ FIR दर्ज है। विजय ने कहा कि पूर्व ही में SP अमेठी को पत्र लिखा गया था। जिस पर पुलिस जांच कर रही है। यह भी कहा कि, वर्तिका ने कूटरचित दस्तावेजों के आधार पर मानसिक रुप से परेशान करने व सामाजिक छवि को क्षति पहुंचाने का प्रयास किया है।

मुसाफिरखाना कोतवाली में दर्ज हुआ था केस
केंद्रीय मंत्री के निजी सचिव विजय गुप्ता ने SP अमेठी दिनेश सिंह को 21 नवंबर को पत्र लिखा था। गुप्ता ने लिखा था कि वर्तिका निराधार आरोप लगाकर मानसिक रुप से परेशान कर रही हैं। इसके अलावा कमल किशोर कमांडो नाम के व्यक्ति ने भी सोशल मीडिया पर तथ्यों को जाने बगैर फर्जी तरीके से कुछ चीजें वायरल कर सामाजिक छवि को खराब करने का प्रयास किया। निजी सचिव ने शामिल लोगों की जांच कराकर विधिक कार्रवाई की मांग की थी। जिस पर मुसाफिरखाना पुलिस ने 23 नवंबर को वर्तिका के खिलाफ केस दर्ज किया था। इस संबंध में अमेठी के अपर पुलिस अधीक्षक दयाराम सरोज ने बताया कि उक्त प्रकरण की जांच साइबर सेल व पुलिस द्वारा की जा रही है।

2 जनवरी को होगी मामले की सुनवाई

प्रतापगढ़ जिले की रहने वाली वर्तिका ने बुधवार को सुल्तानपुर में एक परिवाद दायर किया था। जिसमें उन्होंने आरोप लगाया था कि स्मृति ईरानी के करीबियों ने केंद्रीय महिला आयोग का सदस्य बनाने के नाम 25 लाख रुपए की डिमांड की। नहीं देने पर फर्जी लेटर जारी किया गया। वर्तिका ने स्मृति ईरानी, उनके निजी सचिव विजय गुप्ता और डॉ. रजनीश सिंह के खिलाफ एमपी-एमएलए कोर्ट में परिवाद दायर कराया है। कोर्ट ने दो जनवरी 2021 को मामले में सुनवाई की तारीख दी है।



Source link

By Raj

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *