Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

जयपुर8 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

यूपी का रहने वाला वांटेड संदीप उर्फ निक्की चौहान भरतपुर में फरारी काटते वक्त उद्योग नगर थाना पुलिस की गिरफ्त में आ गया। वह रिमांड पर चल रहा है। पूछताछ में कई वारदातें करना बताया है।

  • भरतपुर में उद्योग नगर थाना पुलिस की कार्रवाई, जयपुर के मुहाना कस्बे में 50 लाख व 20 लाख की फिरौती मांगने की वारदात में आरोपी
  • उत्तरप्रदेश के बुलंद शहर के नरोरा कस्बे में ज्वैलर को लूटने के इरादे से गोली मारकर हत्या करने का भी आरोप

अपहरण, लूट, हत्या की जघन्य वारदातों में उत्तरप्रदेश और राजस्थान की जयपुर पुलिस के वांटेड संदीप उर्फ निक्की चौहान (30) को भरतपुर में उद्योग नगर थाना पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। यूपी में हरदुआ तहसील, जिला अलीगढ़ का रहने वाला संदीप फिलहाल दो दिन की पुलिस रिमांड पर चल रहा है। तीन दिन पहले पुलिस को सूचना मिली थी कि संदीप भरतपुर में उद्योगनगर इलाके में रघुवीर पटवारी के मकान में छिपकर फरारी काट रहा है।

तब भरतपुर शहर वृत्ताधिकारी सतीश कुमार वर्मा और थानाप्रभारी चंद्रप्रकाश चौधरी के निर्देशन में पुलिस टीम ने घेराबंदी की। पुलिस से बचने के लिए संदीप चौहान मकान की पहली मंजिल पर छत से कूदकर पीछे की तरफ खड़ी अपनी कार से बचकर भाग रहा था। लेकिन पुलिस ने संदीप को धरदबोचा। उसके कब्जे से यहां प्रतिबंधित 9 एमएम कैलिबर कंट्रीमेड पिस्टल और 9 जिंदा कारतूस बरामद कर लिया। छत से कूदकर भागते वक्त संदीप के चोटें आई। वहीं, एक कांस्टेबल गिरधारीलाल का पैर भी जख्मी हो गया।

लूट, डकैती, हत्या व अपहरण के 24 से ज्यादा मुकदमे

एसपी डॉ. अमनदीप सिंह कपूर ने बताया कि गिरफ्तार संदीप चौहान के खिलाफ 24 से ज्यादा मुकदमे दर्ज है। पूछताछ में सामने आया कि संदीप चौहान ने अपने गैंग के साथी दीपू धनखड़ व लक्की हाथरस सहित अन्य बदमाशों के साथ मिलकर 22 नवंबर 2020 को नरोरा, बुलंदशहर में हिमांशु ज्वैलर्स के मालिक रोहताश वर्मा की गोली मारकर हत्या कर दी थी। बुलंदशहर पुलिस ने भी संदीप से पूछताछ की है।

वहीं, जयपुर में इस गिरोह ने सितंबर 2020 में मुहाना में अरविंद उर्फ लाला जाट के साथ पुरानी रंजिश में अपहरण कर मारपीट की और 20 लाख रुपए की फिरौती मांगी थी। फिरौती नहीं देने पर गोली मारकर घायल कर दिया था। इसी तरह, मुहाना में ही विजय कुमार गुप्ता नाम के व्यवसायी का अपहरण कर 50 लाख रुपए की फिरौती मांगी थी। इस संबंध में कमिश्नरेट पुलिस ने भी भरतपुर में संदीप से पूछताछ की है।

आठ साल बाद जेल में रहकर 2019 में बाहर आया और फिर वारदातें की

एसपी कपूर के मुताबिक वर्ष 2012 में पुराना रिको एरिया में संदीप और उसकी गैंग ने एसबीआई बैंक में डकैती डाली थी। जिसमें वह 8 साल तक सेवर जेल, भरतपुर में बंद रहा। वह 2019 में ही जेल से बाहर आया था। बदमाश संदीप का संपर्क कुख्यात बदमाश विनोद पथैना व अन्य गिरोह से भी है। इस गिरोह ने जयपुर, बुलंदशहर और अलीगढ़ में लूट व फायरिंग कर दहशत फैलाने व फिरौती मांगने की कई वारदातों को अंजाम दिया है।



Source link

By Raj

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *