Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

आगरा3 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

यह बीते वर्ष की फोटो है। हर वर्ष 18 से 27 फरवरी तक आगरा के ताजमहल पूर्वी गेट के निकट शिल्पग्राम में ताज महोत्सव का आयोजन होता था।

  • साल 1992 में हुई थी ताज महोत्सव की शुरुआत, तब से फरवरी माह में 10 दिन होता था आयोजन

कोरोना संकट ने आगरा वासियों को एक बार फिर मायूस किया है। हर साल यहां 18 से 27 फरवरी के बीच 10 दिन तक होने वाले ताज महोत्सव का आयोजन इस बार नहीं होगा। 30 साल में पहला मौका जब ताज महोत्सव नहीं मनाया जाएगा। इस आयोजन में भारतीयों के अलावा तमाम विदेशी पर्यटक भी आते थे। लोगों को जहां परिवार के साथ ताजमहल की खूबसूरती के बीच सुखद यादें संजोने का मौका मिलता था, वहीं व्यापारियों को भी काफी मुनाफा होता था।

1992 में हुई थी ताज महोत्सव की शुरुआत

साल 1992 में ताज महोत्सव की शुरुआत हुई थी। इसकी पहचान राष्ट्रीय महोत्सव के रुप में है। ताज महोत्सव ने हर साल 350 शिल्पियों को देश में पहचान दी और अनगिनत स्थानीय कलाकारों को स्थानीय मंच भी दिया। ताज महोत्सव के मुक्ताकाशीय मंच पर पूरे देश की विधाएं अपनी कला प्रस्तुत कर अभिभूत हुईं। लेकिन कोविड-19 काल में माहौल को देखते हुए इस बार ताज महोत्सव का आयोजन रद्द किया जा रहा है।

शिल्पग्राम में होता था आयोजन

हर वर्ष 18 से 27 फरवरी तक आगरा के ताजमहल पूर्वी गेट के निकट शिल्पग्राम में ताज महोत्सव का आयोजन होता था। इससे पूर्व स्थानीय साहित्य प्रेमी यहां इन्ही तारीखों पर शरद महोत्सव मनाते थे। जिलाधिकारी प्रभु नारायण सिंह ने इसे रद्द करने की सिफारिश की है।



Source link

By Raj

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *