टॉप न्यूज़


Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

मेरठ10 घंटे पहले

कृषि बिल का विरोध कर रहे किसानों का एक दल मेरठ से दिल्ली के लिए रवाना हो गया। ये लोग दिल्ली पहुंचकर केंद्र सरकार के खिलाफ विरोध करेंगे।

  • राकेश टिकैत ने कहा- किसानों का उत्पीड़न किसी कीमत पर बर्दाश्त नहीं किया जाएगा
  • शाम तक दिल्ली पहुंचेंगे किसान जहां वह केंद्र सरकार के खिलाफ धरना प्रदर्शन

उत्तर प्रदेश के मेरठ जिले में भारतीय किसान यूनियन (BKU) के कार्यकर्ताओं के साथ टोल प्लाजा पर जमे किसान शनिवार सुबह 11:30 बजे दिल्ली रवाना हो गए। केंद्र सरकार के कृषि कानून के खिलाफ आंदोलन कर रहे किसान शाम तक दिल्ली पहुंचेंगे जहां वे धरना प्रदर्शन करेंगे। भाकियू के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत ने कहा कि यह विचारों की लड़ाई है। जब एक दूसरे के विचार एक से होंगे लड़ाई खुद खत्म हो जाएगी। उन्होंने कहा कि इस बार वार्ता नहीं समस्या का समाधान चाहिए।

मोदीपुरम स्थित टोल प्लाजा पर भाकियू के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत ने कहा कि अन्नदाता पर लाठी बरसाई जा रही है, उन पर ठंडे पानी की बौछार की जा रही है। यह वही अन्नदाता है जो तपती धूप में खेत में काम करता है ताकि दूसरों का पेट भर सके। देश के किसान के साथ अन्याय हो रहा है। कृषि कानून लागू कर किसानों की कमर तोडऩे का काम किया जा रहा है।

दिल्ली की ओर कूच करता हुआ किसानों का हुजूम।

दिल्ली की ओर कूच करता हुआ किसानों का हुजूम।

राकेश टिकैत ने कहा कि बिजली, खाद, डीजल के दामों में लगातार बढ़ोतरी की जा रही है जिससे किसानों की लागत बढ़ रही है। सरकार किसानों की आय दोगुना करने की बात कह रही है और दूसरी ओर किसानों का लगातार उत्पीडऩ किया जा रहा है।

किसानों का उत्पीड़न बर्दाश्त नहीं किया जाएगा

उन्होंने कहा कि किसानों का उत्पीड़न किसी कीमत पर बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। केंद्र सरकार से मांग करते हुए कहा कि देशभर में किसानों की फसलों का एक ही दाम होना चाहिए। कहा कि नए कानून का फायदा बड़े व्यापारी उठा रहे हैं।

आगे की रणनीति तैयार करते किसानों का समूह।

आगे की रणनीति तैयार करते किसानों का समूह।

शनिवार को किसान ट्रैक्टर ट्राली और कारों में सवार होकर दिल्ली के लिए रवाना हुए। रात भर टोल प्लाजा पर डेरा डाले रहने से टोल प्लाजा को भी नुकसान का सामना करना पड़ा। किसानों के दिल्ली की ओर रवानगी भरने के बाद टोल प्लाजा प्रबंधन ने राहत की सांस ली।



Source link

By Raj

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *