वाराणसी38 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

संतों पर लगातार हो रहे हमलों को लेकर काशी में आज कई राज्यों के संत एकत्र हुए। इस बैठक में संतों की सुरक्षा को लेकर चर्चा हुई।

  • पातालपुरी मठ और नरहर पुरा ने संत सेना बनाने का निर्णय लिया है
  • कहा- राजस्थान में संत ज्यादा परेशान, सरकार को नवंबर तक की मोहलत

राजस्थान और उत्तर प्रदेश में संतों पर हो रहे हमलों से संत समाज की चिंता बढ़ गई है। संतों और पुजारियों की सुरक्षा को लेकर अखिल भारतीय संत समिति और अखिल भारतीय व्यास संघ के संयुक्त तत्वावधान में रविवार को पातालपुरी मठ, नरहर पुरा में बैठक हुई। इसमें में राजस्थान, गुजरात और महाराष्ट्र के संतों ने भाग लिया। बैठक के अंत में निर्णय हुआ कि पूरे देश में जल्द ही संत सेना का निर्माण होगा। प्रदेश और जिलों में चौकियां भी बनेंगी।

नरसिंह पीठाधीश्वर जयपुर अवधेश दास ने कहा- राजस्थान की घटना को पूरे देश ने देखा है। पालघर में संतों की निर्मम हत्या कर दी गई। यूपी में गोंडा में पुजारी के ऊपर जानलेवा हमला हुआ। अगर सरकार नहीं चेती तो संत सुरक्षा मिशन के तहत संत सेना का निर्माण किया जाएगा।

राजस्थान सरकार के रवैये से दुखी हैं लोग
अखिल भारतीय संत समाज राजस्थान के प्रदेश अध्यक्ष, स्वामी जगतगुरु स्वामी बलदेव वल्लभाचार्य ने बताया कि राजस्थान में तीन – चार घटनाएं हो चुकी हैं। संत सुरक्षा मिशन नवंबर में सामने आने लगेगा। जहां जहां कांग्रेस की सरकार है, वहां लोग भी दुखी हैं।

अखिल भारतीय संत समिति के राष्ट्रीय महामंत्री जितेन्द्रानंद सरस्वती ने बताया की गहलोत सरकार को नवंबर तक कि मोहलत दी गई है। वहां संत सबसे अधिक परेशान हैं। इसको रोका नहीं गया तो फिर वहां की सरकार खुद सिहर उठेगी। संत अपने मठ मंदिर की सुरक्षा खुद कर सकते हैं।



Source link

By Raj

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *