• Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Dilip Mishra Prayagraj Latest News And Updates: Former Block Pramukh And Mafia Dilip Mishra Properties Demolished In Prayagraj Uttar Pradesh

प्रयागराज28 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

प्रयागराज में गैंगस्टर की लॉज ढहाई जा रही है।

  • औद्योगिक क्षेत्र के मऊ हारी में स्थित करीब दो करोड़ के तीन मंजिला लॉज को गिराने पहुंचे पीडीएफ अफसर
  • पूर्व ब्लॉक प्रमुख दिलीप का नाम कैबिनेट मंत्री नंद गोपाल गुप्ता पर हुए रिमोर्ट बम के हमले में सामने आया था

उत्तर प्रदेश के प्रयागराज में अपराधी प्रवृत्ति के लोगों पर पुलिस का एक्शन जारी है। यहां बाहुबली पूर्व सांसद अतीक अहमद और उसके गैंग के लोगों की संपत्ति को कुर्क करने और अवैध निर्माण ध्वस्त करने की प्रक्रिया के बीच रविवार से यमुनापार में पूर्व ब्लाक प्रमुख और गैंगस्टर दिलीप मिश्रा की कुर्क संपत्तियों पर बने अवैध निर्माण के ध्वस्तीकरण की प्रक्रिया शुरू कर दी। इसमें सबसे पहले औद्योगिक क्षेत्र में यूनाइटेड कॉलेज के समीप बने तीन मंजिला लॉज को ध्वस्त करने का काम पुलिस प्रशासन और प्रयागराज विकास प्राधिकरण ने शुरू किया है। दिलीप पर कैबिनेट मंत्री नंद गोपाल गुप्ता नंदी पर रिमोट बम के हमले का आरोप है।

तीन जेसीबी की ड्रिल मशीनें टूटीं

रविवार सुबह लगभग 11:30 बजे जिला प्रशासन और संबंधित विभाग पीडीए की टीम जेसीबी लेकर दिलीप के लॉज को गिराने के लिए पहुंची और कार्रवाई शुरू की। बताया जाता है कि लाॅज इतना मजबूत बना है कि तीन जेसीबी मशीनों की ड्रिल मशीनें टूट गई। पिलर और छत में लगी मोटी सरिया तोड़ने में दिक्कत आ रही है।

लॉज को गिरवाते पुलिसकर्मी।

लॉज को गिरवाते पुलिसकर्मी।

खान मुबारक के शाॅर्प शूटर नीरज सिंह की हुई थी गिरफ्तारी

यमुनापार के औद्योगिक क्षेत्र थाना अंतर्गत लवायन कला गांव निवासी पूर्व ब्लाॅक प्रमुख चाका दिलीप मिश्रा फिलहाल फतेहगढ़ जेल में बंद है। उस पर खान मुबारक के खास शूटर और सुल्तानपुर में दोहरे हत्याकांड के आरोपी नीरज सिंह उर्फ अखंड प्रताप सिंह को औद्योगिक क्षेत्र में छिपाकर रखने का आरोप है। उसके खिलाफ गैंगस्टर ऐक्ट की भी कार्रवाई की गई है। पुलिस ने करीब 2 महीने पहले दिलीप मिश्रा के बेटे के कॉलेज में शूटर नीरज सिंह को मुठभेड़ के दौरान गिरफ्तार करने का दावा किया था। उस दौरान दिलीप मिश्रा का बेटा शुभम मिश्रा भी नीरज सिंह के साथ गिरफ्तार हुआ था। दिलीप मिश्रा मौके से फरार हो गए थे। उनकी दो दिन बाद हंडिया इलाके से गिरफ्तारी हुई थी।

चार दर्जन से ज्यादा आपराधिक मुकदमों में नामजद दिलीप मिश्रा

12 जुलाई 2010 को प्रयागराज के कोतवाली अंतर्गत बहादुरगंज में कैबिनेट मंत्री नंद गोपाल गुप्ता नंदी पर हुए रिमोट बम के हमले में आरोपी दिलीप मिश्रा पर 4 दर्जन से ज्यादा आपराधिक मुकदमा पंजीकृत हैं। इनमें हत्या, अपहरण, जानलेवा हमले, रंगदारी, भूमि कब्जा समेत कई मामले हैं। हालांकि उनके परिवार का दावा है कि इनमें से अधिकांश मामले खत्म हो चुके हैं।

प्रशासन ने कुर्क की हैं 12 अचल संपत्तियां

पिछले दिनों प्रशासन ने दिलीप मिश्रा के माया देवी स्मारक कॉलेज समेत कुल 12 संपत्तियों को सील किया था। उन्हीं में से एक औद्योगिक क्षेत्र के महुआरी में स्थित तीन मंजिला लाॅज भी थी। प्रयागराज विकास प्राधिकरण का दावा है कि यह लाॅज बिना नक्शे के बना है। जबकि प्रशासन के अनुसार करीब दो करोड़ की कीमत के इस लाॅज को दिलीप ने अवैध तरीके से अर्जित की गई संपत्ति से बनवाया है। इसलिए इसका ध्वस्तीकरण कराया जा रहा है। अभी उनके कॉलेज को भी गिराने की प्रक्रिया की जानी है।

अवैध निर्माण को कराया जाएगा ध्वस्त
एएसपी सोमेंद्र मीणा ने बताया कि जो भी अवैध निर्माण है, सभी का ध्वस्त कराया जाएगा। आज महुआरी औद्योगिक क्षेत्र स्थित दिलीप के अवैध संपत्ति से अर्जित किए गए तीन मंजिला लाॅज को ध्वस्त कराया जा रहा है।



Source link

By Raj

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *