• Hindi News
  • Sports
  • Cricket
  • ICC CEO Manu Sawhney Sent On Leave After Allegedly Abrasive Behaviour With Colleagues, May Resign Before Term Ends In 2022

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

दुबई11 घंटे पहले

मनु साहनी को 2019 में डेव रिचर्ड्सन के जाने के बाद ICC का चीफ एग्जीक्यूटिव बनाया गया था। उनका कार्यकाल 2022 में समाप्त होगा। (फाइल फोटो)

इंटरनेशनल क्रिकेट काउंसिल के चीफ एग्जीक्यूटिव ऑफिसर (CEO) मनु साहनी को छुट्टी पर भेजा गया है। उन पर सहकर्मियों के साथ बुरा बर्ताव करने का आरोप लगा है। ऑडिट फर्म प्राइसवाटर हाउसकूपर्स के इंटरनल इन्वेस्टिगेशन में मनु साहनी की बातें खुलकर सामने आईं। साहनी जल्द ही अपने पद से इस्तीफा भी दे सकते हैं। हालांकि, उनका कार्यकाल 2022 में पूरा हो रहा है।

कई स्टाफ ने साहनी के खिलाफ बयान दिया
ICC बोर्ड से जुड़े एक सीनियर अधिकारी ने न्यूज एजेंसी से कहा कि काउंसिल के कई स्टाफ ने साहनी के खिलाफ बुरे बर्ताव को लेकर बयान दिया है। यह ICC में काम करने वाले स्टाफ के मनोबल के लिए बुरा है।

पिछले कुछ समय से ऑफिस नहीं आ रहे साहनी
56 साल के साहनी पिछले कुछ समय से ऑफिस भी नहीं आ रहे हैं। मंगलवार को उन्हें लीव पर जाने के लिए कह दिया गया। ICC के अधिकारी ने बताया कि बोर्ड ऑफ डायरेक्टर्स एक फॉर्मूला ढूंढ़ने की कोशिश कर रहा है, जिससे साहनी गरीमा के साथ अपने पद से इस्तीफा देने के लिए तैयार हो जाएं।

बार्क्ले के अध्यक्ष बनने के बाद से प्रेशर में हैं साहनी
अधिकारी के मुताबिक साहनी पिछले साल से ही अंडर प्रेशर हैं। उन्हें जॉर्ज बार्क्ले के ICC चेयरमैन बनने के बाद से अपनी कुर्सी के जाने का डर है। उन्होंने कहा कि पूर्व चीफ एग्जीक्यूटिल डेव रिचर्ड्सन के जाने के बाद साहनी ने सत्तावादी सोच के साथ काम किया। इससे किसी भी कर्मचारी का भला नहीं हुआ।

कुछ समय से कई बड़े बोर्ड के फेवरेट नहीं रहे साहनी
वहीं, कुछ कर्मचारी साहनी से इसलिए भी खफा हैं, क्योंकि ICC चेयरमैन के चुनाव में उन्होंने इमरान ख्वाजा का सपोर्ट किया था। BCCI के एक सीनियर अधिकारी ने न्यूज एजेंसी को बताया कि साहनी पिछले कुछ समय से कई बोर्ड के फेवरेट नहीं रहे हैं। ICC चेयरमैन के चुनाव के दौरान उनकी भागीदारी ने इसे और बुरा कर दिया।

साहनी ने अगली साइकिल के लिए बोली लगाने को कहा था
इसके साथ ही साहनी ने ICC की ओर से फैसला लेते हुए सभी बोर्ड्स को अगले साइकिल के लिए ICC इवेंट्स को होस्ट करने के लिए बोली लगाने और फीस देने के लिए कहा था। BCCI, इंग्लैंड क्रिकेट बोर्ड (ECB) और क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया (CA) पहले ही कई बार बोर्ड मीटिंग में इसका विरोध कर चुका है।

साहनी को निकालने के लिए दो-तिहाई वोट की जरूरत
अगर साहनी इस्तीफा नहीं देते हैं, तो सभी पावरफुल बोर्ड ऑफ डायरेक्टर्स उनको निकालने पर विचार कर सकते हैं। ICC के एक अधिकारी के मुताबिक साहनी को लेकर बोर्ड में दो भाग हैं। 17 वोट 9 और 8 में बंट चुका है। उन्हें निकालने के लिए दो-तिहाई यानी 17 में से 12 वोट की दरकार है। यही देखने वाली बात होगी की बिग-थ्री यह करने में कामयाब हो पाते हैं या नहीं।

डेव रिचर्ड्सन को रिप्लेस कर चीफ एग्जीक्यूटिव बने साहनी
साहनी इससे पहले सिंगापुर स्पोर्ट्स हब के CEO भी रह चुके हैं। साथ ही उन्होंने ESPN स्टार स्पोर्ट्स के मैनेजिंग डायरेक्टर के तौर पर भी काम किया है। वह फुटबॉल क्लब मैनचेस्टर यूनाइटेड लिमिटेड के ऑडिट कमेटी के नॉन-एग्जीक्यूटिव डायरेक्टर और मेंबर भी हैं। उन्हें 2019 में डेव रिचर्ड्सन के जाने के बाद ICC का चीफ एग्जीक्यूटिव बनाया गया था।

खबरें और भी हैं…



Source link

By Raj

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *