• Hindi News
  • Sports
  • Cricket
  • BCCI Permits Direct Transfers From National Bubble To Franchise Bubble For Players Ahead Of IPL 2021

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

मुंबई3 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) ने IPL के 14वें सीजन के लिए भारतीय और विदेशी खिलाड़ियों को बबल से बबल ट्रांसफर की इजाजत दे दी है। BCCI ने बायो सिक्योर प्रोटोकॉल को लेकर एक SoP जारी किया। इसमें उन्होंने कहा कि खिलाड़ी नेशनल टीम बबल से फ्रेंचाइजी के बबल में डायरेक्ट एंट्री कर सकते हैं।

IPL के 14वें सीजन के लिए 12 बायो-बबल तैयार किए जा रहे हैं। इसमें से 8 बबल 8 फ्रैंचाइजी टीम और सपोर्ट स्टाफ के लिए है। वहीं, 2 बबल मैच ऑफिशियल और मैच मैनेजमेंट टीमों के लिए है। ब्रॉडकास्ट कमेंटेटर्स और क्रू के लिए भी 2 बबल तैयार किए जाएंगे।

विशेष परिस्थिति में ही 7 दिनों के लिए क्वारैंटाइन किया जाएगा
BCCI ने डॉक्यूमेंट में भारत और इंग्लैंड सीरीज की विशेष तौर पर चर्चा की। उन्होंने लिखा है कि कि भारत-इंग्लैंड सीरीज के खिलाड़ी IPL बबल में डायरेक्ट एंट्री ले सकते हैं। उन्हें किसी भी क्वारैंटाइन पीरियड की जरूरत नहीं होगी। किसी विशेष परिस्थिति में खिलाड़ी, ओनर, फ्रेंचाइजी मैनेजमेंट मेंबर, कमेंटेटर और मैच ऑफिशियल को 7 दिन के क्वारैंटाइन में रहना होगा।

सनराइजर्स हैदराबाद की टीम (फाइल फोटो)

सनराइजर्स हैदराबाद की टीम (फाइल फोटो)

BCCI चीफ मेडिकल ऑफिसर के मुताबिक तैयारी होनी चाहिए
नियम के मुताबिक अगर खिलाड़ी चार्टर्ड फ्लाइट से आ रहे हैं, तो क्रू मेंबर को लेकर प्रोटोकॉल का पालन किया जाना चाहिए। अगर यात्रा की व्यवस्था BCCI चीफ मेडिकल ऑफिसर की संतुष्टि के मुताबिक है, तो खिलाड़ी डायरेक्ट फ्रेंचाइजी के टीम बबल में एंट्री करेंगे। उन्हें क्वारैंटाइन होने या RT-PCR टेस्ट कराने की जरूरत नहीं होगी।

विदेशी खिलाड़ी और विदेशी दौरे पर गई टीमों को फायदा होगा
इससे विदेशी खिलाड़ी और विदेशी दौरे पर मौजूद टीमों को भी काफी फायदा मिलेगा। इसमें साउथ अफ्रीका, श्रीलंका, वेस्टइंडीज और न्यूजीलैंड के खिलाड़ी शामिल हैं। यह सभी टीमें अभी किसी दौरे पर या किसी देश की मेजबानी कर रही हैं। हालांकि, इन सभी देश के खिलाड़ियों को फ्रेंचाइजी के बबल में डायरेक्ट एंट्री के लिए चार्टर्ड फ्लाइट का इस्तेमाल करना होगा।

BCCI अधिकारी और ऑपरेशन टीम किसी बबल का हिस्सा नहीं
BCCI ने यह भी कहा है कि उनके अधिकारी और ऑपरेशन टीम किसी भी बबल का हिस्सा नहीं हैं। ऐसे में BCCI अधिकारी किसी खिलाड़ी, सपोर्ट स्टाफ, मैच मैनेजमेंट टीम और ब्रॉडकास्ट क्रू से नहीं मिल सकेंगे। अगर किसी अधिकारी को बबल में एंट्री करनी है, तो पहले उन्हें होटल रूम में 7 दिनों के लिए क्वारैंटाइन रहना होगा।

मुंबई इंडियंस ने IPL 2020 की ट्रॉफी अपने नाम की थी।

मुंबई इंडियंस ने IPL 2020 की ट्रॉफी अपने नाम की थी।

IPL के लिए बबल इंटेग्रिटी मैनेजर्स नियुक्त किए जाएंगे
BCCI ने कहा है कि IPL में लिए इस बार हर फ्रेंचाइजी के साथ 4 सिक्योरिटी स्टाफ रहेंगे। इन्हें बबल इंटेग्रिटी मैनेजर्स के नाम से जाना जाएगा। वे उस फ्रेंचाइजी के साथ पूरे टूर्नामेंट में ट्रेवल करेंगे। उनका काम होगा कि वे बायो सिक्योर बबल तोड़ने वालों के बारे में BCCI के चीफ मेडिकल ऑफिसर को रिपोर्ट करें।

सभी खिलाड़ियों को ट्रैकिंग के लिए रिस्ट बैंड दिया जाएगा
इसके साथ ही BCCI सभी फ्रेंचाइजी के मेंबर्स को ट्रैकिंग डिवाइस (एक रिस्ट बैंड) भी देगा। इसे मेंबर्स को हर समय पहनकर रखना होगा। अगर किसी की रिपोर्ट पॉजिटिव आती है, तो उसे इस ट्रैकिंग डिवाइस के उसके कॉन्टैक्ट में आए लोगों को खोजा जाएगा।

UAE में IPL 2020 के दौरान BCCI अध्यक्ष सौरव गांगुली (दाएं), सचिव जय शाह (दाएं)।

UAE में IPL 2020 के दौरान BCCI अध्यक्ष सौरव गांगुली (दाएं), सचिव जय शाह (दाएं)।

किसी फ्रेंचाइजी के लिए वैक्सीन की संभावना नहीं
BCCI ने यह भी साफ कर दिया है कि लीग में शामिल लोगों के लिए वैक्सीनेशन उपलब्ध करवाना संभव नहीं होगा। BCCI ने कहा कि भारत में वैक्सीन फिलहाल, फ्रंट लाइन वर्कर्स, हेल्थ केयर प्रोफोशनल्स, 60 साल से ज्यादा उम्र वाले और 45-59 साल के लोग जो पहले से किसी से बीमारी से जूझ रहे, इन लोगों के लिए है। दिल्ली कैपिटल्स ने शनिवार को BCCI से अपने भारतीय खिलाड़ियों को वैक्सीन लगवाने की मांग की थी। साथ ही BCCI ने यह भी कहा कि गेंद से कोरोना वायरस फैलने का चांस बेहद कम है।

BCCI ने पहले लेग के लिए एंट्री गाइडलाइन्स जारी की
BCCI ने मुंबई और चेन्नई में होने वाले पहले लेग के लिए एंट्री गाइडलाइन्स भी जारी की है। UK, मिडिल ईस्ट, साउथ अफ्रीका, ब्राजील और यूरोप से आने वाले पैसेंजर्स को 7 दिनों के लिए मुंबई में इस्टीट्यूशनल क्वारैंटाइन किया जाएगा। डॉमेस्टिक पैसेंजर्स के लिए कोई नियम नहीं होगा।

इंटरनेशनल पैसेंजर्स और भारत के किसी राज्य या केंद्र शासित प्रदेश से तमिलनाडु में एंट्री करने वाले पैसेंजर्स को राज्य सरकार से ई-पास लेना होगा। इसके बाद ही उन्हें चेन्नई में एंट्री की परमिशन दी जाएगी।

खबरें और भी हैं…



Source link

By Raj

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *