• Hindi News
  • Sports
  • India Vs Australia Brisbane Test; BCCI Writes To Cricket Australia (CA) Over Quarantine Rules

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

मुंबई2 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) ने क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया (CA) को चिट्‌ठी लिखकर क्वारैंटाइन प्रोटोकॉल में राहत देने के लिए कहा है। BCCI ने लिखा है कि टीम इंडिया सख्त क्वारैंटाइन नियमों से तंग आ चुकी है। अगर ब्रिस्बेन में टेस्ट खेलना है तो प्लेयर्स को सख्त क्वारैंटाइन नियमों से छूट देनी होगी। चौथा टेस्ट 15 जनवरी से खेला जाएगा।

गुरुवार को BCCI एग्जीक्यूटिव ने CA के हेड अर्ल एडिंग को टूर से पहले साइन किया गया समझौता याद दिलाया, जिसमें दो बार सख्त क्वारैंटाइन नियमों मानने को लेकर कोई बात नहीं कही गई थी।

दो बार सख्त क्वारैंटाइन क्यों?
BCCI के एक सीनियर अधिकारी ने न्यूज एजेंसी को बताया कि CA से बात की जा रही है। उन्हें टीम इंडिया के खिलाड़ियों को रिलेक्सेशन देने के लिए कहा गया है। अगर सीरीज पूरी करनी है, तो उन्हें इसे मंजूर करना ही होगा। टीम इंडिया ने पहले ही सिडनी में सख्त क्वारैंटाइन प्रोटोकॉल का पालन कर लिया है। अब ब्रिस्बेन में ऐसा करने की क्या जरूरत?

टीम मीटिंग की इजाजत मिले
बोर्ड ने कहा कि खिलाड़ियों को होटल में एक-दूसरे के कमरे में जाने की इजाजत दी जानी चाहिए। IPL में भी इसे फॉलो किया गया था। इसके साथ ही उन्हें एक-दूसरे के साथ खाना खाने और टीम मीटिंग करने की इजाजत भी दी जानी चाहिए।

लिखित में जवाब दे CA
अधिकारी ने बताया कि टीम इंडिया IPL स्टाइल में बायो-बबल चाहती है। सिडनी में खेले जा रहे मौजूदा टेस्ट में क्वारैंटाइन नियमों के मुताबिक भारतीय खिलाड़ियों को मैच के बाद सीधे होटल जाने के लिए कहा गया है। ऐसे में नियमों की छूट की बात CA लिखित में दे।

IPL के बाद सख्त क्वारैंटाइन में थी टीम
IPL के बाद UAE से सिडनी पहुंची टीम इंडिया को उस वक्त भी सख्त क्वारैंटाइन नियमों का पालन करना पड़ा था। टीम के खिलाड़ियों को एक-दूसरे के कमरे में जाने की इजाजत तक नहीं दी गई थी। इसकी निगरानी के लिए फ्लोर पर सिक्योरिटी ऑफिसर तैनात किए गए थे।

क्वींसलैंड में एक फ्लोर से दूसरे फ्लोर जाने की इजाजत नहीं
ब्रिस्बेन ऑस्ट्रेलिया के क्वींसलैंड प्रांत में है। वहां के प्रोटोकॉल के मुताबिक, टीम के प्लेयर्स को क्वारैंटाइन के दौरान एक फ्लोर पर खिलाड़ियों से ही मिलने की इजाजत होगी। प्लेयर्स दूसरे फ्लोर पर नहीं जा सकते। मेडिकल टीम को भी एक फ्लोर से दूसरे फ्लोर पर जाने की इजाजत नहीं होगी।

ब्रिस्बेन को लेकर BCCI फैसला लेगा
वहीं, बुधवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस में टीम इंडिया के कप्तान अजिंक्य रहाणे ने मामले को लेकर कहा था कि BCCI और टीम मैनेजमेंट इस पर फैसला लेगी। रहाणे ने कहा कि सिडनी में प्लेयर्स को सख्त कोरोना प्रोटोकॉल का पालन करना पड़ रहा है। जबकि बाहर आम जीवन काफी सामान्य है।

चिड़ियाघर के जानवरों की तरह बर्ताव से परेशान टीम इंडिया
वहीं BCCI के एक अधिकारी ने क्रिकेट वेबसाइट क्रिकबज को बताया था कि टीम इंडिया के प्लेयर्स चिड़ियाघर में रखे गए जानवरों की तरह किए जा रहे बर्ताव से परेशान हो चुके हैं। उन्होंने कहा था कि यह अजीब बात है, 20 हजार दर्शकों को स्टेडियम में जाने की इजाजत है और खिलाड़ी क्वारैंटाइन हैं।



Source link

By Raj

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *