• Hindi News
  • Sports
  • Cricket
  • Sachin Tendulkar: Indian Cricket Legend Sachin Tendulkar Advice To Virat Kohli led Team India Over Australia Tour

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

नई दिल्ली33 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

सचिन तेंदुलकर ने कहा कि टीम इंडिया के पास बेहतरीन और बैलेंस्ड बॉलिंग अटैक है। वे कहीं मैच जीतने में सक्षम हैं। (फाइल फोटो)

भारतीय क्रिकेट के लीजेंड सचिन तेंदुलकर ने कहा है कि ऑस्ट्रेलिया दौरे पर गई टीम इंडिया को जीत के लिए ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाज स्टीव स्मिथ को रोकना होगा। सचिन ने कहा कि कोरोना प्रोटोकॉल के तहत बॉलर्स बॉल को चमकाने के लिए लार का इस्तेमाल नहीं कर सकते। ऐसे में बॉल स्विंग होने के चांसेज कम हो जाते हैं। सचिन ने टीम इंडिया के बॉलर्स को सलाह दी कि वे स्मिथ को आउट करने के लिए 5वें स्टम्प (ऑफ स्टम्प के बाहर) की लाइन पर ही बॉलिंग करें।

स्मिथ की तकनीक सबसे अलग
सचिन ने PTI को दिए इंटरव्यू में बताया कि सामान्य तौर पर हम टेस्ट मैच में बॉलर्स को ऑफ स्टम्प या ऑफ स्टम्प के आसपास (चौथे स्टम्प की लाइन पर) बॉलिंग करने को कहते हैं। लेकिन स्मिथ पिच पर शफल (चहलकदमी) करते हुए शॉट खेलना पसंद करते हैं। ऐसे में बॉलर्स को अपनी लाइन चौथे से पांचवें स्टम्प तक ले जानी होगी।

उन्होंने कहा कि बॉलर्स को मानसिक रूप से तैयार होना होगा। वे लगातार स्मिथ को 5वें स्टम्प पर टारगेट करें, ताकि बाहरी किनारा लगने के मौके बने।

पिंक बॉल टेस्ट से पहले सेशन में बल्लेबाजी आसान
17 दिसंबर को विदेश में भारत के पहले पिंक बॉल टेस्ट के बारे में सचिन ने कहा कि टाइमिंग की वजह से डे-नाइट टेस्ट के पहले सेशन में (जोकि दिन में होता है) ज्यादा से ज्यादा रन बनाने होंगे। पिंक बॉल दोहरी रोशनी में ज्यादा स्विंग होती है, तब बल्लेबाजी करना मुश्किल हो जाता है।

टीम इंडिया के ओपनर के बारे में उन्होंने बताया कि टेस्ट में मयंक अग्रवाल के रूप में एक ओपनर को तो मैदान में उतारना ही चाहिए। दूसरे ओपनर के लिए पृथ्वी शॉ और लोकेश राहुल में किसी को टीम मैनेजमेंट मौका दे सकती है।

हमारे पास बैलेंस्ड बॉलिंग अटैक
डिफेंसिव बॉलर्स की जरूरत पर जोर देते हुए सचिन ने कहा कि टीम इंडिया के पास बेहतरीन और बैलेंस्ड बॉलिंग अटैक है। आखिरकार, टेस्ट मैच जीतने के लिए हमें 20 विकेट लेने होते हैं। लेकिन उन 20 विकेटों के एवज में हम ज्यादा रन भी नहीं लुटा सकते।

उन्होंने कहा कि हमें अटैक करने के साथ ऐसे बॉलर्स को भी पहचानना होगा, जो एक क्षोर से रन को रोके और दबाव बनाकर रखे। तभी दूसरे क्षोर से विकेट गिरेंगे।

स्मिथ-वॉर्नर की वापसी से मजबूत हुई ऑस्ट्रेलिया
सचिन ने माना कि डेविड वॉर्नर और स्मिथ जैसे सीनियर खिलाड़ियों की वापसी से ऑस्ट्रेलियाई टीम मजबूत हुई है। इनके अलावा मार्नस लाबुशाने भी टीम की बल्लेबाजी को मजबूत बनाते हैं। सचिन ने कहा कि दोनों टीमों के बीच कांटे की टक्कर देखने को मिलेगी और मुझे पूरा भरोसा है कि टीम इंडिया इसके लिए तैयार है।

टेस्ट में भारत के खिलाफ स्मिथ का रिकॉर्ड का शानदार
पिछली बार जब भारत ने ऑस्ट्रेलिया का दौरा किया था, तब स्मिथ-वॉर्नर बॉल टेम्परिंग कांड की वजह से बैन झेल रहे थे। इस बार दोनों टीम में शामिल हैं। स्मिथ का भारत के खिलाफ रिकॉर्ड जबरदस्त है। उन्होंने भारत के खिलाफ 10 टेस्ट मैच में 84.06 की औसत से 1429 रन बनाए हैं। इसमें 7 शतक और 3 अर्धशतक शामिल हैं।

टीम को खलेगी विराट की कमी, यह युवाओं के लिए मौका
सचिन ने कहा कि पहले टेस्ट के बाद टीम इंडिया को विराट कोहली की कमी खलेगी। ऐसे में युवा खिलाड़ियों को इस मौके पर खुद को साबित करना होगा। उन्होंने कहा कि टेस्ट मैचों में चेतेश्वर पुजारा का होना बहुत जरूरी है। इसके अलावा अजिंक्य रहाणे पर भी टीम को जीत दिलाने की जिम्मेदारी होगी।

17 दिसंबर से खेले जाएंगे टेस्ट मैच
दोनों टीमों के बीच पहला टेस्ट एडिलेड में डे-नाइट होगा। यह 17 से 21 दिसंबर तक खेला जाएगा। दूसरा टेस्ट मेलबर्न में 26 से 30 दिसंबर तक खेला जाएगा। तीसरा टेस्ट सिडनी में 7 से 11 जनवरी और चौथा टेस्ट मैच ब्रिस्बेन में 15-19 जनवरी तक होगा।



Source link

By Raj

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *