• Hindi News
  • Sports
  • Cricket
  • West Indies Vs Bangladesh West Indies Won By Making Record Of Chasing Biggest Target In Asia Kyle Mayers Scored Double Hundred On Debut

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

चटगांव3 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

वेस्टइंडीज ने बांग्लादेश के खिलाफ दो टेस्ट मैचों की सीरीज के पहले मुकाबले में ऐतिहासिक जीत दर्ज की है। करियर का पहला टेस्ट खेल रहे काइल मायर्स की नाबाद डबल सेंचुरी (210*) की बदौलत कैरेबियाई टीम ने चौथी पारी में सात विकेट खोकर 395 रन का टारगेट हासिल कर लिया। यह एशिया में सबसे बड़े टारगेट का सफल पीछा करने का रिकॉर्ड है। इससे पहले यह रिकॉर्ड श्रीलंका के नाम था। श्रीलंकाई टीम ने 2017 में गॉल में जिम्बाब्वे के खिलाफ छह विकेट पर 391 रन बनाकर जीत हासिल की थी।

इस टेस्ट में श्रीलंका ने टॉस जीतकर पहले बैटिंग करते हुए 430 रन बनाए थे। जवाब में वेस्टइंडीज ने 259 रन बनाए। बांग्लादेश ने मैच की तीसरी पारी 8 विकेट पर 223 रन के स्कोर पर घोषित कर दी। इससे वेस्टइंडीज को मैच जीतने के लिए 395 रन का टारगेट मिला था।

एशिया में बड़े टारगेट का पीछा करते हुए टॉप-5 जीत

विनिंग स्कोर टीम विरुद्ध सेंटर वर्ष
395/7 वेस्टइंडीज बांग्लादेश चटगांव 2021
391/6 श्रीलंका जिम्बाब्वे कोलंबो 2017
​​​​​387/4 भारत इंग्लैंड चेन्नई 2008
382/3 पाकिस्तान श्रीलंका पल्लेकल 2015
352/9 श्रीलंका साउथ अफ्रीका कोलंबो 2006

मायर्स ने तोड़ा यूनुस खान का रिकॉर्ड
मायर्स ने अपनी पारी में 310 गेंदों का सामना किया और 20 चौके और सात छक्के जमाए। वे एशियाई पिचों पर चौथी पारी में सबसे बड़ा स्कोर बनाने वाले बल्लेबाज बन गए हैं। उन्होंने पाकिस्तान के यूनुस खान का रिकॉर्ड तोड़ा है। यूनुस ने 2015 में श्रीलंका के खिलाफ पल्लेकल टेस्ट की चौथी पारी में नाबाद 171 रन बनाए थे।

डेब्यू पर चौथी पारी में सबसे बड़े स्कोर का वर्ल्ड रिकॉर्ड
काइल मायर्स ने डेब्यू टेस्ट में चौथी पारी में सबसे बड़े स्कोर का वर्ल्ड रिकॉर्ड अपने नाम कर लिया है। उन्होंने भारत के अब्बास अली बेग का 62 साल पुराना रिकॉर्ड तोड़ दिया। बेग ने 1959 में इंग्लैंड के खिलाफ मैनचेस्टर टेस्ट में 112 रनों की पारी खेली थी।

डेब्यू पर डबल सेंचुरी जमाने वाले छठे बल्लेबाज
काइल मायर्स डेब्यू टेस्ट में डबल सेंचुरी जमाने वाले दुनिया के छठे बल्लेबाज बन गए हैं। उनसे पहले टिप फोस्टर (इंग्लैंड), लॉरेंस रोव (वेस्टइंडीज), ब्रेंडन कुरुप्पू (श्रीलंका), मैथ्यू सिंकलेयर (न्यूजीलैंड) और जैक रुडोल्फ (साउथ अफ्रीका) यह कारनामा कर चुके हैं। रुडोल्फ ने 2003 में अपने डेब्यू टेस्ट में डबल सेंचुरी जमाई थी। यानी 18 साल बाद किसी खिलाड़ी ने डेब्यू टेस्ट में डबल सेंचुरी जमाई है।

डेब्यू टेस्ट में डबल सेंचुरी

बैट्समैन (टीम) स्कोर विरुद्ध सेंटर वर्ष
टिप फोस्टर (इंग्लैंड) 287 ऑस्ट्रेलिया सिडनी 1903
लॉरेंस रोव (वेस्टइंडीज) 214 न्यूजीलैंड किंग्सटन 1972
ब्रेंडन कुरुप्पू (श्रीलंका) 201* न्यूजीलैंड कोलंबो 1987
मैथ्यू सिंकलेयर (न्यूजीलैंड) 214 वेस्टइंडीज वेलिंगटन 1999
जैक रुडोल्फ (साउथ अफ्रीका) 222* बांग्लादेश चटगांव 2003
काइल मायर्स (वेस्टइंडीज) 210* बांग्लादेश चटगांव 2021

​​​​वेस्टइंडीज के तीन खिलाड़ी पहला टेस्ट खेल रहे थे
वेस्टइंडीज की यह जीत इस मायने में खास है कि वह इस मुकाबले में तीन डेब्यूटेंट के साथ उतरा था। काइल मायर्स के अलावा एनक्रुमाह बोनर और शेन मोस्ली भी इस टेस्ट में डेब्यू कर रहे थे। बूनर ने भी चौथी पारी में 86 रनों का योगदान दिया।



Source link

By Raj

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *