दुबई6 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

चेन्नई सुपर किंग्स के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी के साथ सुरेश रैना और हरभजन सिंह। -फाइल फोटो

  • आईपीएल में सुरेश रैना 5368 रन के साथ दूसरे नंबर पर बरकरार
  • स्पिनर हरभजन सिंह भी 150 विकेट के साथ चौथे नंबर पर काबिज हैं
  • चेन्नई टीम के रैना और हरभजन निजी कारणों से मौजूदा सीजन नहीं खेल रहे

आईपीएल-13 के शुरू होने के पहले चेन्नई सुपरकिंग्स के दिग्गज खिलाड़ी सुरेश रैना और हरभजन सिंह निजी कारणों से हट गए थे। रैना तो टीम के साथ यूएई भी गए थे और मैनेजमेंट के साथ उनके विवाद की भी खबर आई थी। इसके बाद टीम ने दोनों का नाम अपने वेबसाइट से हटा दिया था। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक अब फ्रेंचाइजी ने बड़ा कदम उठाते हुए दोनों खिलाड़ियों के साथ अपने अनुबंध को खत्म करने की प्रक्रिया शुरू कर दी है।

आईपीएल की नीलामी की गाइडलाइन के मुताबिक 2018 में हरभजन सिंह और सुरेश रैना ने सीएसके के साथ तीन साल का अनुबंध साइन किया था, जो 2020 में खत्म हो रहा था। सुरेश रैना को हर सीजन के 11 करोड़ और हरभजन को 2 करोड़ रुपए मिलते थे।

दोनों खिलाड़ियों को इस साल सैलरी नहीं मिलेगी

जानकारी के मुताबिक दोनों खिलाड़ियों को इस साल उनकी सैलरी नहीं दी जाएगी। हालांकि फ्रेंचाइजी के सीईओ कासी विश्वनाथन ने इस मामले पर कुछ भी कहने से मना कर दिया। जब उनसे पूछा गया कि क्या इन खिलाड़ियों को सैलरी दी जाएगी, तो इस पर उन्होंने साफ कर दिया कि खिलाड़ियों को पैसे तभी दिए जाएंगे, जब वो खेलेंगे। जो नहीं खेल रहे हैं, उन्हें कोई पैसा नहीं दिया जाएगा।

2020 तक ही कॉन्ट्रैक्ट था दोनों खिलाड़ियों का
दोनों का अनुबंध सीएसके के साथ 2020 तक का ही था। अगर फ्रेंचाइजी इनके साथ अनुबंध खत्म कर देती है, तो इसका दोनों पर काफी बुरा असर पड़ेगा। अगले साल समय की कमी के कारण बीसीसीआई की ओर से बड़े ऑक्शन की उम्मीद कम है। अगले साल नए सिरे से नीलामी होनी थी। ऐसे हालात में रैना और हरभजन के पास सीएसके के साथ कोई अनुबंध नहीं रहेगा। हो सकता है कि उन्हें 2021 आईपीएल सीजन से भी बाहर रहना पड़े। हालांकि सभी टीम को कुछ खिलाड़ियों को बदलने का मौका दिया जा सकता है। ऐसे में अगर इन्हें मौका मिलता भी है तो भी सैलरी में बड़ी कटौती हो सकती है। रैना ने अगस्त में ही इंटरनेशनल क्रिकेट से संन्यास लिया था। हरभजन को 2016 के बाद भारत के लिए खेलने का मौका नहीं मिला है।

रैना ने चेन्नई की ओर से तीन टाइटल जीते
रैना 2008 से चेन्नई की ओर से खेल रहे हैं। टीम ने तीन बार टाइटल जीता और रैना इस दौरान टीम का हिस्सा रहे। दो सीजन के लिए टीम के बैन होने पर वे गुजरात लायंस से खेले। लीग के 193 मैच में रैना ने 33 की औसत से 5368 रन बनाए हैं। इसमें एक शतक और 38 अर्धशतक शामिल है। ओवरऑल टी20 करिअर की बात की जाए तो उन्होंने 319 मैच में 8392 रन बनाए हैं। 4 शतक और 51 अर्धशतक भी लगाया। 53 विकेट भी झटके।

हरभजन मुंबई और चेन्नई दोनों से खेले, चार टाइटल जीते
ऑफ स्पिनर हरभजन सिंह ने लीग की शुरुआत 2008 में मुंबई की ओर से की। 2017 तक वे मुंबई में ही रहे और टीम के लिए 136 मैच खेले। 2018 में वे चेन्नई से जुड़े और अब तक 24 मैच खेल चुके हैं। उन्होंने मुंबई की ओर से तीन और चेन्नई की ओर से एक टाइटल जीता है। लीग के रिकॉर्ड की बात की जाए तो हरभजन ने 160 मैच में 150 विकेट लिए हैं। लीग के इतिहास में अब तक सिर्फ 4 गेंदबाज ही 150+ विकेट ले सके हैं। उन्होंने एक बार पांच और एक बार चार विकेट भी लिए हैं। ओवरऑल टी20 में हरभजन ने 265 मैच में 235 विकेट लिए हैं।



Source link

By Raj

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *