Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

अहमदाबाद4 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

भारत और इंग्लैंड के बीच आज से 4 टेस्ट की सीरीज का तीसरा मैच अहमदाबाद के नवनिर्मित मोटेरा स्टेडियम में खेला जाएगा। यह दुनिया के सबसे बड़े स्टेडियम में पहला टेस्ट है। स्टेडियम में 1 लाख 32 हजार लोगों बैठ सकते हैं। पुराने स्टेडियम में 12 टेस्ट खेले गए थे। यहां पूर्व क्रिकेटर राहुल द्रविड़ ने सबसे ज्यादा रन बनाए हैं। इस ग्राउंड पर सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले 5 गेंदबाजों में से 4 स्पिनर हैं। जानिए इस ग्राउंड का मिजाज और इंट्रेस्टिंग आंकड़े…

पिच सपाट, स्पिनर्स को मिल सकती है मदद
मोटेरा की पहचान उसका सपाट विकेट है, पर टेस्ट मैच से पहले भारतीय ओपनर रोहित शर्मा ने कहा था कि पहले दिन से गेंद टर्न हो सकती है। अगर ऐसा हुआ तो भारत को काफी फायदा मिलेगा। भारत के पास रविचंद्रन अश्विन और अक्षर पटेल जैसे स्पिनर हैं। हालांकि, पिंक बॉल का इतिहास स्पिनर्स के लिए अच्छा नहीं रहा है। इसमें तेज गेंदबाजों को ही सबसे ज्यादा विकेट मिलता है। ऐसे में इंग्लैंड और भारत के बीच कड़ी टक्कर देखने को मिल सकती है। इस मैदान पर भारत ने 12 टेस्ट खेले हैं। इनमें से 4 जीते हैं और 2 में हार मिली।

मोटेरा में कुंबले ने सबसे ज्यादा विकेट लिए, कपिल का बेस्ट फिगर इसी ग्राउंड पर
भारत के पूर्व दिग्गज स्पिनर अनिल कुंबले ने इस ग्राउंड पर सबसे ज्यादा 36 विकेट लिए। इसके बाद हरभजन सिंह और कपिल देव का नाम आता है। मोटेरा में 5 सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले गेंदबाजों में 4 स्पिनर हैं। इसमें कुंबले और भज्जी के अलावा प्रज्ञान ओझा और न्यूजीलैंड के पूर्व स्पिनर डेनियल विटोरी का नंबर है।

सचिन-सौरव ने की थी 281 रन की पार्टनरशिप
द वॉल के नाम से मशहूर द्रविड़ ने मोटेरा में सबसे ज्यादा रन बनाए हैं। उनके नाम यहां 771 रन हैं। वहीं, सचिन तेंदुलकर ने इस ग्राउंड पर 642 रन बनाए। सचिन ने इसी ग्राउंड पर 1999 में टेस्ट करियर की पहली डबल सेंचुरी लगाई थी। द्रविड़ और सचिन ने इस ग्राउंड पर सबसे ज्यादा 3-3 शतक लगाए।

चौथी पारी में टीमों को रन बनाने में होती है दिक्कत
मोटेरा में पहली पारी का एवरेज स्कोर 368 रन का है। यानी पहली पारी में जो भी टीम बैटिंग करेगी, वह अच्छा स्कोर खड़ा करेगी। इस ग्राउंड पर सबसे ज्यादा रन बनाने का रिकॉर्ड श्रीलंका के नाम है। उन्होंने नवंबर, 2009 में 7 विकेट के नुकसान पर 760 रन बनाए थे। वहीं, चौथी पारी में रन चेज करना सबसे मुश्किल है। फोर्थ इनिंग में एवरेज स्कोर 160 रन है। सबसे कम स्कोर का रिकॉर्ड भारत के नाम है। भारतीय टीम ने 2008 में 76 रन बनाए थे और ऑलआउट हो गई थी।

रन के मामले में साउथ अफ्रीका के नाम सबसे बड़ी जीत
साउथ अफ्रीका ने मोटेरा में रन के मामले में सबसे बड़ी जीत दर्ज की है। उन्होंने 2008 में भारत को पारी और 90 रन से हराया था। वहीं, विकेट के मामले में भारत ने इंग्लैंड को 2012 में 9 विकेट से हराया था। रन के मामले में भारतीय टीम को इस ग्राउंड पर सबसे बड़ी जीत 2005 में मिली थी। तब भारत ने श्रीलंका को 259 रन से हराया था।



Source link

By Raj

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *