Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

नई दिल्ली26 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

घटना नवदीप सैनी के 7वें ओवर से पहले हुई। प्रदर्शनकारी ने पिच के बिलकुल नजदीक पहुंचकर विरोध जताया। हालांकि, सिक्योरिटी गार्ड्स उसे मैदान से बाहर कर दिया।

भारत और ऑस्ट्रेलिया पहले वनडे के दौरान शुक्रवार को ग्राउंड पर एक अजीब वाकया हुआ। दो प्रदर्शनकारी सिडनी क्रिकेट ग्राउंड में घुस गए। इनमें से एक व्यक्ति पोस्टर लिए हुए था, जिसमें लिखा था- नो 1 बिलियन डॉलर अडाणी लोन। पिछले दिनों SBI द्वारा अदाणी ग्रुप को ऑस्ट्रेलिया में कोल माइनिंग के लिए 5 हजार करोड़ रुपए का लोन दिए जाने की खबरें सामने आई थी।

पोस्टर लिए हुए यह शख्स पिच के करीब पहुंच गया था।

पोस्टर लिए हुए यह शख्स पिच के करीब पहुंच गया था।

SBI से लोन की खबर
17 नवंबर को मीडिया में छपी खबरों के मुताबिक, SBI अदाणी ग्रुप को ऑस्ट्रेलियाई कोल माइनिंग प्रोजेक्ट के लिए 1 बिलियन ऑस्ट्रेलियन डॉलर (करीब 5450 करोड़ रुपए) की रकम देगा। यह रकम अदाणी इंटरप्राइजेज की ऑस्ट्रेलियन माइनिंग कंपनी ब्रेवस माइनिंग एंड रिसोर्सेज को दी जाएगी।

रिपोर्ट्स के मुताबिक SBI और अदाणी ग्रुप के बीच लोन संबंधी बातचीत आखिरी दौर में है। इस पर बैंक अधिकारियों की कमेटी जल्द मंजूरी दे सकती है। इससे पहले सिटी बैंक, डॉयशे बैंक, रॉयल बैंक ऑफ स्कॉटलैंड, HSBC और बार्कलेज ने अदाणी ग्रुप को लोन देने से इनकार कर दिया था।

मैच की शुरुआत में ही पोस्टर लेकर पहुंचा
ये घटना ऑस्ट्रेलियाई पारी के 7वें ओवर के दौरान हुई। यह ओवर नवदीप सैनी कर रहे थे। शख्स ने पिच के बिलकुल नजदीक पहुंचकर विरोध जताया। हालांकि, सिक्योरिटी गार्ड्स दोनों प्रदर्शनकारियों को मैदान से बाहर कर दिया। कोरोना के बीच 50% क्रिकेट फैंस को पहली बार स्टेडियम में मैच देखने की अनुमति मिली। सभी टिकट्स आधे दिन में बिक गए थे।

ऑस्ट्रेलिया में ‘स्टॉप अदाणी’ मूवमेंट

‘स्टॉप अडाणी’ मूवमेंट ऑस्ट्रेलिया में काफी चर्चित है। लोग अदाणी के प्रोजेक्ट को जलवायु परिवर्तन का दोषी मान रहे हैं। वहीं, ग्रुप ने ऑस्ट्रेलिया में करीब एक दशक बाद 2019 में 16 बिलियन डॉलर के कोल प्रोजेक्ट को हासिल कर लिया। इससे सालाना लगभग 6 करोड़ टन कोयला उत्पादन का अनुमान है।

सितंबर में ऑस्ट्रेलिया की विवादास्पद अदानी कोयला खदान ने पर्यावरण कार्यकर्ताओं के खिलाफ जीत दर्ज की थी। जबकि ग्रुप ने कहा था की कि इस परियोजना ने निर्माण के दौरान क्वींसलैंड राज्य में 1500 से ज्यादा लोगों को नौकरी दी।



Source link

By Raj

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *