• Hindi News
  • Sports
  • Cricket
  • Ipl
  • IPL 2021 : Team Analysis Of 5 Time Champions Mumbai Indians; Aggressive Batting Line up But Some Spin Worries In Way

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

चेन्नईएक घंटा पहले

मुंबई इंडियंस की टीम इस बार अपनी छठी IPL ट्रॉफी के लिए मैदान पर उतरेगी। टीम का पहला मुकाबला विराट कोहली की रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु से है। MI मौजूदा समय में IPL की सबसे मजबूत टीम है। टीम में रोहित शर्मा, ईशान किशन, सूर्यकुमार यादव, कीरोन पोलार्ड जैसे कुछ पावरफुल हिटर्स हैं। वहीं, पिछले सीजन में टीम की जीत में अहम भूमिका निभाने वाले जसप्रीत बुमराह और ट्रेंट बोल्ट जैसे तेज गेंदबाज हैं। टीम को इस बार एक क्वालिटी स्पिनर की कमी जरूर खलेगी। टीम में राहुल चाहर और क्रुणाल पंड्या ही स्पिनर हैं। पिछला सीजन राहुल के लिए कुछ खास नहीं रहा था।

मजबूती

मुंबई लगातार दो खिताब जीतने वाली दूसरी टीम
2019 में खिताब जीतने के बाद रोहित की टीम ने 2020 सीजन भी अपने नाम किया। वह लगातार 2 बार (2019, 2020) IPL खिताब अपने नाम करने वाली दूसरी टीम है। इससे पहले महेंद्र सिंह धोनी की कप्तानी वाली चेन्नई सुपर किंग्स ने 2010 और 2011 में लगातार खिताब अपने नाम किया था। मुंबई को जीत उसके स्ट्रेंथ की वजह से मिली। टीम का कोर काफी मजबूत है। ऐसा इसलिए क्योंकि कई खिलाड़ी पिछले काफी सीजन से इस टीम से खेल रहे हैं।

मुंबई की बैटिंग लाइनअप उसकी मजबूती है। उसके पास रोहित और क्विंटन डि कॉक के रूप में विस्फोटक ओपनिंग जोड़ी है। अगर इन दोनों में से कोई चोटिल होता है, तो ऑप्शन के तौर पर क्रिस लिन मौजूद हैं। मिडिल ऑर्डर में सूर्यकुमार और ईशान मौजूद हैं। पिछले सीजन में इनके बेहतरीन प्रदर्शन ने ही इस साल इन्हें नेशनल टीम का टिकट दिलाया।

नोट: यह रिकॉर्ड 2020 सीजन का है।

नोट: यह रिकॉर्ड 2020 सीजन का है।

सूर्यकुमार और ईशान की जुगलबंदी
2020 में सूर्यकुमार (480) ने IPL के लगातार तीसरे सीजन में 400 से ज्यादा रन बनाए। वहीं, ईशान ने सीजन में मुंबई के लिए सबसे ज्यादा 516 रन बनाए। दोनों ने मिलकर टीम के कुल स्कोर का करीब 40% स्कोर बनाया। ईशान ने सीजन में सबसे ज्यादा 30 छक्के भी लगाए थे।

इन दोनों के बाद मुंबई के पास पंड्या ब्रदर्स हैं। हार्दिक और क्रुणाल पिछले कई सीजन से इसी फ्रेंचाइजी से जुड़े हुए हैं। वहीं, हाल ही में श्रीलंका के खिलाफ 6 छक्के लगाने वाले वेस्टइंडीज के कप्तान कीरोन पोलार्ड की मौजूदगी से टीम का बैटिंग लाइनअप काफी आक्रामक है।

नोट: यह रिकॉर्ड 2020 सीजन का है।

नोट: यह रिकॉर्ड 2020 सीजन का है।

कप्तान रोहित और पोलार्ड का विनिंग कॉम्बिनेशन
मुंबई के कप्तान रोहित और ऑलराउंडर पोलार्ड पांचों बार चैम्पियन टीम का हिस्सा रहे हैं। इस दौरान दोनों ने टीम की जीत में अहम योगदान भी दिया है। जिस-जिस साल दोनों ने 250 से ज्यादा रन बनाए हैं, टीम ने खिताब पर कब्जा किया है। रोहित की गैर-मौजूदगी में पोलार्ड टीम की कमान भी संभालते हैं। रोहित ने पिछले सीजन में 3 फिफ्टी समेत 332 रन बनाए। वहीं, पोलार्ड ने 13वें सीजन में 191.42 के सबसे ज्यादा स्ट्राइक रेट के साथ 268 रन बनाए थे।

बोल्ट ने सभी विपक्षी टीमों को झटका दिया
गेंदबाजी में टीम के पास सभी फॉर्मेट में खेलने वाले 3 बेहतरीन गेंदबाज मौजूद हैं। बुमराह ने पिछले सीजन में 27 विकेट अपने नाम किए थे। वे किसी भी सीजन में सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले भारतीय रहे। इससे पहले यह रिकॉर्ड सनराइजर्स हैदराबाद के भुवनेश्वर कुमार के नाम था। भुवी ने 2017 के सीजन में 26 विकेट लिए थे। बुमराह 2020 में कगिसो रबाडा के बाद सेकंड हाईएस्ट विकेट टेकर रहे थे।

ट्रेंट बोल्ट ने 2019 सीजन दिल्ली कैपिटल्स की ओर से खेला था। पिछले सीजन में मुंबई ने उन पर दांव खेला और 3.20 करोड़ में उन्हें ट्रेड कर लिया। बोल्ट ने 13वें सीजन में 25 विकेट लिए। साथ 157 डॉट बॉल के साथ सबसे ज्यादा 3 मेडन ओवर भी डाले। उन्होंने टीम में लीग के सबसे सफल गेंदबाज लसिथ मलिंगा की कमी नहीं खलने दी। इस बार भी यह गेंदबाज अपनी स्पीड से सबको चौंकाना चाहेगा।

इनके अलावा भी टीम के पास कई ऑप्शन मौजूद हैं। इनमें न्यूजीलैंड के स्पीडस्टर एडम मिल्ने, साउथ अफ्रीका के युवा तेज गेंदबाज मार्को जेन्सन, ऑस्ट्रेलिया के नाथन कुल्टर नाइल और सचिन तेंदुलकर के बेटे अर्जुन तेंदुलकर शामिल हैं। जिमी नीशम भी अपने ऑलराउंड प्रदर्शन से उपयोगी साबित हो सकते हैं।

कमजोरी

टीम के पास सिर्फ 2 स्पेशलिस्ट स्पिनर
इस बार कोई भी टीम अपने होम ग्राउंड पर मैच नहीं खेलेगी। मुंबई को अपने 14 मैच चेन्नई और बेंगलुरु में खेलने हैं। चेन्नई का चेपक ग्राउंड स्पिन के लिए जाना जाता है। ऐसे में टीम को एक क्वालिटी स्पिनर की कमी खल सकती है। हाल ही में हुए इंग्लैंड सीरीज में लेफ्ट आर्म स्पिनर क्रुणाल की गेंद पर खूब चौके-छक्के लगे थे। लेग स्पिनर राहुल चाहर के लिए पिछला सीजन कुछ खास नहीं रहा था।

ऐसे में टीम के पास ऑप्शन के लिए सिर्फ ऑफ स्पिनर जयंत यादव और लेग स्पिनर पीयूष चावला ही बचे हैं। पिछले सीजन में जयंत सिर्फ 2 मैच खेले थे। देखना होगा कि वे इस सीजन में कितने मैच खेलते हैं। वहीं, पीयूष को मुंबई ने इस साल ऑक्शन में खरीदा है। अगर टीम क्रुणाल-राहुल के कॉम्बिनेशन पर गई, तो उन्हें भी बेंच पर बैठना होगा। चावला के नाम IPL में 156 विकेट हैं। वे लीग में सबसे ज्यादा विकेट लेने के मामले में तीसरे नंबर पर हैं।

चांसेज
यह देखते हुए कि मुंबई के मुंबई के सभी मिडिल ऑर्डर बैट्समैन बड़े हिटर्स हैं, उन्हें चेन्नई और बेंगलुरु के ग्राउंड में चेज करने में आसानी हो सकती है। वहीं, पोलार्ड को बैट के साथ-साथ 5वें या छठे गेंदबाज का रोल भी निभाना होगा। वे रोहित के बाद (5,320 रन) टीम के सेकंड हाईएस्ट रन स्कोरर हैं। पोलार्ड के नाम 3,023 रन हैं। इसके अलावा उन्होंने 60 विकेट भी लिए हैं।

पोलार्ड मुंबई के दूसरे सबसे ज्यादा छक्के लगाने वाले बल्लेबाज भी हैं। उनके नाम 198 सिक्स हैं। रोहित मुंबई के लिए 213 सिक्स के साथ पहले नंबर पर हैं। ऐसे में दूसरी टीमों को अगर जीतना है, तो उन्हें मुंबई से पार पाना ही होगा। यह टीम एक बार फिर टीम टू बीट होगी।

खबरें और भी हैं…



Source link

By Raj

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *