• Hindi News
  • Sports
  • Cricket
  • India Vs England Vs 2nd Test Playing 11 And Head To Head Records | IND VS ENG Playing 11 | Eng Vs IND Preview Prediction Details

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

चेन्नईएक घंटा पहले

  • कॉपी लिंक

भारत और इंग्लैंड के बीच दूसरा टेस्ट मैच शनिवार से चेन्नई के एम चिदंबरम स्टेडियम (चेपक) में शुरू हो रहा है। पहले मैच में हार के कारण टीम इंडिया दबाव में है। लिहाजा प्लेइंग-11 में कुछ अहम बदलाव हो सकते हैं। भारत के प्रैक्टिस सेशन और BCCI सूत्रों से जो संकेत मिले हैं, उनके आधार पर कहा जा सकता है कि टीम इस मुकाबले में भी तीन स्पिनर्स के साथ उतर सकती है। लेफ्ट आर्म स्पिनर अक्षर पटेल के अलावा एक रिस्ट स्पिनर को रविचंद्रन अश्विन का साथ देने का मौका मिल सकता है। यह देखने वाली बात होगी कि वह रिस्ट स्पिनर कुलदीप यादव होते हैं या राहुल चाहर।

टीम इंडिया के लिए राहत की बात यह है कि उसे पिछले 8 साल में घरेलू मैदानों पर लगातार दो टेस्ट मैच में हार नहीं झेलनी पड़ी है। दूसरी ओर मुसीबत यह है कि आखिरी बार भारतीय टीम को भारत में लगातार दो टेस्ट मैच में हराने का कारनामा इंग्लैंड ने ही किया था। 2012 में इंग्लैंड ने मुंबई और कोलकाता में खेले गए लगातार दो टेस्ट मैचों में जीत हासिल की थी। इंग्लैंड की टीम ने तब सीरीज में 2-1 से जीत हासिल की थी।

अक्षर के खिलाफ स्वीप शॉट आसान नहीं

फिट होने की स्थिति में अक्षर पटेल (दाएं) का खेलना तय माना जा रहा है। उनके अलावा रविचंद्रन अश्विन और एक रिस्ट स्पिनर प्लेइंग-11 में हो सकते हैं।

फिट होने की स्थिति में अक्षर पटेल (दाएं) का खेलना तय माना जा रहा है। उनके अलावा रविचंद्रन अश्विन और एक रिस्ट स्पिनर प्लेइंग-11 में हो सकते हैं।

अक्षर पटेल पहले टेस्ट मैच में भी भारतीय टीम मैनेजमेंट की पसंद थे, लेकिन मुकाबले से ठीक पहले वे चोटिल हो गए और उनकी जगह शाहबाज नदीम को शामिल किया गया। अक्षर की बॉलिंग स्पीड नदीम से अधिक है। इसलिए उनके खिलाफ स्वीप शॉट खेलना इंग्लैंड के बल्लेबाजों के लिए आसान नहीं होगा। साथ ही अक्षर लोअर ऑर्डर में अच्छी बल्लेबाजी भी कर लेते हैं।

वॉशिंगटन सुंदर को होना पड़ सकता है बाहर
भारतीय थिंक टैंक का साफ मानना है कि पांच गेंदबाजों में दो ऐसे होने चाहिए, जो बल्ले के साथ भी ठीक-ठाक योगदान कर सकें। इससे टीम की टेल बहुत लंबी नहीं होती है और बैटिंग ऑर्डर में गहराई आती है। जब अक्षर पहले टेस्ट से बाहर हुए तो बैटिंग एबिलिटी के कारण ही वॉशिंगटन सुंदर को तरजीह मिली। अगर अक्षर वापस आते हैं तो सुंदर को बाहर होना पड़ सकता है। इस स्थिति में सुंदर की जगह एक रिस्ट स्पिनर को मौका मिलेगा। पांच गेंदबाजों में दो अक्षर पटेल और रविचंद्रन अश्विन ऐसे गेंदबाज होंगे, जो अच्छी बैटिंग भी कर सकते हैं।

बुमराह और सिराज में एक को मौका

जसप्रीत बुमराह को अगर आराम दिया जाता है तो मोहम्मद सिराज को मौका मिलेगा।

जसप्रीत बुमराह को अगर आराम दिया जाता है तो मोहम्मद सिराज को मौका मिलेगा।

टीम इंडिया दूसरे टेस्ट मैच की प्लेइंग-11 में तेज गेंदबाजी कॉम्बिनेशन में भी बदलाव कर सकती है। पहले टेस्ट में इशांत शर्मा और जसप्रीत बुमराह खेले थे। बुमराह पहले टेस्ट में खास प्रभावशाली नजर नहीं आए। विशेषज्ञों का मानना है कि बुमराह को अभी और आराम दिया जाना चाहिए। इस स्थिति में दूसरे टेस्ट में बुमराह की जगह मोहम्मद सिराज का चयन किया जा सकता है। हालांकि, इस बारे में आखिरी फैसला बुमराह से सलाह करने के बाद ही लिया जाएगा।

इंग्लैंड दे सकता है जेम्स एंडरसन को आराम
इंग्लैंड की टीम अपने खिलाड़ियों को थकान से बचाने के लिए रोटेशन पॉलिसी अपना रही है। जेम्स एंडरसन ने पहले टेस्ट में अच्छी गेंदबाजी की। तीसरा टेस्ट पिंक बॉल से होना है और उसमें एंडरसन की मौजूदगी जरूरी मानी जा रही है। इस कारण इंग्लैंड का टीम मैनेजमेंट दूसरे टेस्ट में एंडरसन को आराम देकर स्टुअर्ट ब्रॉड को मौका दे सकता है।

पिच के दो ऑप्शन मौजूद
पहले मैच की पिच को लेकर देश के सबसे दिग्गज क्यूरेटर दलजीत सिंह की तारीफ पाने वाले वी रमेश कुमार ने दूसरे टेस्ट के लिए दो पिचें तैयार की हैं। एक पिच लाल मिट्‌टी से बनी है। वहीं, दूसरी पिच लाल और काली मिट्‌टी के मिश्रण से बनी है। एक पिच का मिजाज पहले टेस्ट की पिच जैसा ही हो सकता है। दूसरी पिच को इस लिहाज से तैयार किया गया है कि उस पर पहले दिन से स्पिनरों को मदद मिले। कौन सी पिच पर मैच होगा, यह फैसला भारतीय कप्तान विराट कोहली और कोच रवि शास्त्री को लेना है।

87 साल में पहली बार घर में एक सीरीज के लगातार दो टेस्ट एक ही ग्राउंड पर
सीरीज का पहला टेस्ट मैच भी चेपक स्टेडियम में ही खेला गया था। दूसरा भी यहीं खेला जा रहा है। भारत में 87 साल से टेस्ट मैचों का आयोजन हो रहा है। तब से यह पहला मौका है, जब भारतीय टीम घर में एक सीरीज के लगातार दो टेस्ट मैच एक ही ग्राउंड पर खेलेगी। विदेश में भारतीय टीम एक टेस्ट सीरीज के लगातार दो मुकाबले एक स्टेडियम में खेल चुकी है। ऐसा 1976 में वेस्टइंडीज दौरे पर हुआ था। तब भारत ने सीरीज में लगातार दो टेस्ट पोर्ट ऑफ स्पेन में खेले थे।

क्राउड की वापसी से बढ़ेगा भारतीय खिलाड़ियों का मनोबल
पहला टेस्ट मैच खाली स्टेडियम में खेला गया था, लेकिन दूसरा टेस्ट 50% दर्शक क्षमता के साथ खेला जाएगा। भारतीय टीम देश में खेले या विदेश में ज्यादातर दर्शकों का सपोर्ट उसे मिलता है। दूसरे टेस्ट में टीम इंडिया को यह सपोर्ट फिर मिल सकेगा।

दोनों टीमों की संभावित प्लेइंग-11
भारत: रोहित शर्मा, शुभमन गिल, चेतेश्वर पुजारा, विराट कोहली (कप्तान), अजिंक्य रहाणे, ऋषभ पंत, अक्षर पटेल, रविचंद्रन अश्विन, कुलदीप यादव/राहुल चाहर, इशांत शर्मा और जसप्रीत बुमराह/मोहम्मद सिराज।
इंग्लैंड: रोरी बर्न्स, डॉमनिक सिबली, डैन लॉरेंस, जो रूट, ओली पोप, बेन स्टोक्स, बेन फोक्स, डॉम बेस, जोफ्रा आर्चर, जैक लीच और जेम्स एंडरसन/स्टुअर्ट ब्रॉड।



Source link

By Raj

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *