ipl


  • Hindi News
  • Sports
  • Ravichandran Ashwin | RCB Vs DC IPL 2020 Latest Update: Ravichandran Ashwin Issues Warning To Aaron Finch

दुबई2 घंटे पहले

सोमवार आईपीएल 2020 में दिल्ली और बेंगलुरु के बीच मैच हुआ। अश्विन के पहले ओवर में ही एरोन फिंच ने नॉन स्ट्राइकिंग एंड पर क्रीज छोड़ दी। लेकिन, अश्विन ने उन्हें मांकडिंग से आउट नहीं किया। बाद में अश्विन ने ट्विटर पर कहा- ये पहली और आखिरी वॉर्निंग थी। आगे से किसी को नहीं बख्शा जाएगा।

  • लगातार दूसरी साल मांकड़िंग रन आउट रूल और पिछली साल इस्तेमाल करने वाले रविचंद्रन अश्विन चर्चा में हैं
  • सोमवार रात दिल्ली-आरसीबी मैच में फिंच क्रीज से बाहर थे, अश्विन ने मांकडिंग से उन्हें आउट नहीं किया था

आईपीएल के पिछले सीजन के बाद इस सीजन में भी मांकड़िंग रूल चर्चा में आ गया है। सोमवार रात दिल्ली और आरसीबी के मैच में दिल्ली के ऑफ स्पिनर रविचंद्रन अश्विन ने आरसीबी के एरॉन फिंच को मांकड़िंग से आउट नहीं किया। हालांकि, बाद में अश्विन ने साफ कर दिया कि यह बॉल डिलिवरी के पहले क्रीज पार करने वाले नॉन स्ट्राइकर्स के लिए पहली और आखिरी चेतावनी है। आगे से अगर किसी बल्लेबाज ने क्रीज पार की, तो उसे अश्विन बख्शेंगे नहीं।

पहले मांकडिंग समझ लेते हैं..
कोई गेंदबाज अगर गेंद फेंकने के लिए एक्शन लेता है, और अगर उसी वक्त नॉन स्ट्राइकिंग एंड पर मौजूद बल्लेबाज अगर क्रीज से बाहर निकल जाता है तो बॉलर वहां की बेल्स गिरा सकता है। इस तरह से आउट करने के तरीके को ही मांकड़िंग कहा जाता है। बात 13 दिसंबर 1947 की है। भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच एक टेस्ट मैच के दौरान भारत के वीनू मांकड़ ने ऑस्ट्रेलिया के विल ब्राउन को इसी तरह से आउट किया था। इसके बाद से वीनू के सरनेम के आधार पर यह तरीका ‘मांकड़िंग’ कहलाया।

क्रिकेट में यह नियम लागू तो होता है, लेकिन राय बंटी हुई है। कुछ जानकार और पूर्व खिलाड़ी इसके पक्ष में हैं तो कुछ का कहना है कि बल्लेबाज को आउट करने का यह तरीका खेल भावना के विपरीत है।

पिछले सीजन में बटलर ऐसे ही आउट हुए थे
आईपीएल 2019 में अश्विन किंग्स इलेवन पंजाब के कप्तान थे। हैदराबाद के खिलाफ एक मैच में उन्होंने जोस बटलर को ऐसे ही आउट किया था। ऋद्धिमान साहा के लिए अश्विन ने दो बार कोशिश की। साहा दोनों बार सतर्क थे। सोमवार रात फिंच को अश्विन मांकड़िंग से आउट कर सकते थे, लेकिन उन्होंने ऐसा नही किया।

पहली और आखिरी वॉर्निंग
अश्विन ने मैच के बाद एक ट्वीट किया। कहा- मैं बिल्कुल साफ कर देना चाहता हूं कि ये मेरी पहली और आखिरी वॉर्निंग है। मैं ऑफिशियली कह रहा हूं कि आगे से कोई बैट्समैन क्रीज से बाहर निकला तो उसे मांकड़िंग से आउट करने में देर नहीं लगाउंगा। इसके बाद कोई मुझे दोषी न ठहराए।

पोंटिंग को भी इशारा
खास बात ये है कि फिंच को जब अश्विन ने आउट नहीं किया, तब इस घटना को देखकर दिल्ली के हेड कोच रिकी पोंटिंग मुस्करा रहे थे। पोंटिंग ने आईपीएल के इस सीजन की शुरुआत में ही कह दिया था कि वे अश्विन को मांकड़िंग नहीं करने देंगे। लेकिन, अश्विन ने अपने ट्वीट में रिकी पोंटिंग को भी टैग करते हुए ये साफ कर दिया कि आगे वो उनकी सलाह नहीं मानेंगे। अश्विन ने पिछले साल कहा था- अगर मांकड़िंग से आउट किए जाने का नियम है तो इसका इस्तेमाल क्यों नहीं किया जाना चाहिए। नियम तो खेल के लिए ही बनाया गया है। गलत है तो हटा दीजिए।





Source link

By Raj

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *