• Hindi News
  • Sports
  • Rishabh Pant; Indian Wicketkeeper Batsman Rishabh Pant Ready For India Vs Australia Adelaide Test

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

एडिलेड14 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

ऋषभ पंत ने ऑस्ट्रेलिया ए के खिलाफ दूसरे अभ्यास मैच में 73 बॉल पर 103 रन बनाए थे।

भारतीय विकेटकीपर बल्लेबाज ऋषभ पंत ने कहा है कि एडिलेड टेस्ट से पहले ऑस्ट्रेलिया ए के खिलाफ दूसरे प्रैक्टिस में शतक बनाने से उनके आत्मविश्वास में बढ़ोतरी हुई है। पंत ने दूसरे प्रैक्टिस मैच में इंडिया ए की ओर से न्यूजीलैंड ए के खिलाफ खेलते हुए 73 बॉल पर 103 रन बनाए। पंत यूएई में हुए IPL में फिटनेस से जूझते नजर आए थे।

रिद्धिमान साहा के साथ पंत टेस्ट टीम में शामिल

पंत को टेस्ट टीम में अपने को स्थापित कर चुके विकेटकीपर रिद्धिमान साहा के साथ जगह दी गई है। चार टेस्ट मैच की सीरीज का पहला मैच एडिलेड में खेला जाना है। टीम को दोनों में से किसी एक को पहले टेस्ट के लिए चुनना होगा।

पंत ने कहा-क्रीच पर ज्यादा समय बिताने की थी योजना

पंत ने BCCI की ऑफिशियल वेबसाइट से कहा,”जब मैं बल्लेबाजी करने के लिए उतरा तो उस समय काफी वर बचे हुए थे। ऐसे में मैं और विहारी (हनुमा) चाहते थे, कि हम दोनों अच्छी पार्टनरशिप करें। मैं ज्यादा बल्लेबाजी करना चाहता था। मेरी कोशिश थी कि मैं जितना संभव हो ज्यादा समय दूं। मैने धीरे-धीरे आत्मविश्वास को बढ़ाना शुरू कर दिया।”

पहला प्रैक्टिस मैच नहीं खेल पाए थे पंत

उन्होंने आगे कहा” इस शतक ने मेरे आत्मविश्वास में काफी बढ़ोतरी की है। एक महीने ऑस्ट्रेलिया में हो चुके हैं। मैं गर्दन में समस्या के कारण पहला प्रैक्टिस मैच नहीं खेला सका। वहीं पहली पारी में मैं अनलकी रहा। क्योंकि मेरा मानना है कि अंपायर ने LBW का गलत डिसीजन दिया था। वहीं दूसरी पारी में मेरा पूरा फोकस ज्यादा से ज्यादा समय बिताना था। परिणाम स्वरूप मेरे खाते में अच्छी पारी जुड़ी। पहली पारी में जल्दी आउट हो गए। क्योंकि विकेट पर नमी थी।”

दूसरी इनिंग में टीम की योजना ज्यादा समय बिताना

पंत ने कहा- दूसरी इनिंग में हमें विकेट के बारे में पता चल चुका था। ऐसे में दूसरी पारी में सभी की कोशिश थी कि ज्यादा से ज्यादा समय बिताए। ऐसे में बल्लेबाजों ने जितना संभव हुआ ज्यादा से ज्यादा समय बिताया। क्योंकि यह जरूरी था कि पिंक बॉल से हुए प्रैक्टिस मैच में खेले। वहीं गेंदबाजों ने बेहतर गेंदबाजी की। बल्लेबाजों ने क्रीच पर ज्यादा समय मिला। सभी ने बेहतर खेला। मेरा मानना है कि यह बेहतर प्रैक्टिस मैच था।



Source link

By Raj

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *