UP में बाल यौन शोषण का खुलासा: CBI ने सिंचाई विभाग के जूनियर इंजीनियर को किया गिरफ्तार; 10 साल में 50 से ज्यादा बच्चों को बनाया शिकार


Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

लखनऊएक मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

आरोपी बच्चों के साथ अश्लील फोटो और वीडियो बनाकर ऑनलाइन बेचता था। -प्रतीकात्मक फोटो।

  • आरोपी जूनियर इंजीनियर की गिरफ्तारी बांदा जिले से हुई
  • आरोपी फोटोग्राफ और वीडियो की ऑनलाइन बिक्री भी करता था

केंद्रीय जांच एजेंसी (CBI) ने मंगलवार को उत्तर प्रदेश के बांदा जिले से सिंचाई विभाग के एक जूनियर इंजीनियर को बच्चों का यौन उत्पीड़न करने के आरोप में गिरफ्तार किया है। अधिकारियों ने मंगलवार को बताया कि आरोपी 10 साल में 50 से ज्यादा बच्चों का यौन शोषण कर चुका है। वह बच्चों के साथ अश्लील फोटो और वीडियो बनाकर ऑनलाइन बेचता था।

आरोपी इंजीनियर ने बच्चों के साथ यह घिनौनी करतूत को चित्रकूट, हमीरपुर और बांदा में अंजाम दिया। उसे जल्द ही अदालत में पेश करने के बाद जेल भेजा जाएगा। CBI ने आरोपी के पास से 8 मोबाइल फोन, 8 लाख कैश, लैपटॉप, सेक्स टॉय, पेन ड्राइव, मेमोरी कार्ड और अन्य इलेक्ट्रॉनिक उपकरण बरामद किए हैं।

इलेक्ट्रानिक गैजेट्स देकर बच्चों का मुंह बंद कर देता था
CBI की पूछताछ में आरोपी ने बताया कि वह 5 से 16 साल के बच्चों को शिकार बनाता था। उन्हें जाल में फंसाने के लिए इलेक्ट्रॉनिक गैजेट्स का लालच देता था। आरोपी के ईमेल की जांच से पता चला है कि आरोपी अश्लील फोटो और वीडियो शेयर करने के लिए देश-विदेश के कई गिरोह के संपर्क में था। आरोपी सोशल मीडिया पर भी यह सामाग्री शेयर करता था। पीड़ित परिवारों को तस्वीरें दिखाकर ब्लैकमेल कर पैसों की मांग कर रहा था।

दो महीने पहले सोनभद्र में भी हुआ था खुलासा
यह कार्रवाई CBI की विशेष यूनिट ऑनलाइन बाल यौन शोषण और शोषण निवारण/जांच टीम ने की है। इससे पहले उत्तर प्रदेश के सोनभद्र जिले में दो महीने पहले ऐसे ही एक मामले का खुलासा हुआ था। इस मामले में कोतवाली में एक शख्स के खिलाफ भी केस दर्ज किया गया था।

2012 में युवती को प्रताड़ित करने के आरोप लगे थे

दिल्ली से आई CBI टीम 3 नवंबर मंगलवार को राम भवन जेई और उसके ड्राइवर अभय कुमार को एसडीएम कॉलोनी स्थित घर से ले गई थी। आरोपी जेई मूल रूप से बांदा के नरैनी कस्बे का रहने वाला है। यह सिंचाई विभाग में चित्रकूट में 2010 से तैनात है। 2012 में कपसेठी गांव की युवती ने खुदकुशी की थी, जिस पर जेई और उसके चालक पर युवती के परिजन ने प्रताड़ित करने समेत कई आरोप लगाए थे।

जूनियर इंजीनियर की गिरफ्तारी भी उसी सिलसिले में हुई है

युवती के परिजन ने अदालत में पूरे मामले की CBI जांच करने की मांग की थी। बताया जाता है यह गिरफ्तारी भी उसी सिलसिले में हुई है। सिंचाई विभाग के आरोपी जेई की शादी 2007 में हुई थी, अभी तक कोई बच्चा नहीं हुआ है। वह 2013 में अपने भाई के लड़के को अपने साथ लेकर आया था और एसडीएम कॉलोनी पर किराए के मकान में रहता था। 16 नवंबर सोमवार को CBI ने ड्राइवर और जेई रामभवन को लेकर चित्रकूट आई थी।



Source link

By Raj

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *