MP में एनकाउंटर: रतलाम में तिहरे हत्याकांड का आरोपी मुठभेड़ में मारा गया, लूट के बाद पूरे परिवार की हत्या कर देता था


  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Bhopal
  • The Main Accused Psycho Killer Dileep Was Killed In An Encounter By The Police; Five Policemen Including Two Sub inspectors Injured

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

भोपाल2 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

मुठभेड़ में मारा गया आरोपी दिलीप लूट के लिए घर में घुसकर गोली मारकर हत्या कर देता था। उसका मकसद रहता था कि लूट के बाद कोई गवाह नहीं छोड़ना है। 

  • एनकाउंटर में दो सब इंस्पेक्टर सहित पांच पुलिसकर्मी भी घायल

मध्यप्रदेश के रतलाम में तिहरे हत्याकांड के आरोपी दिलीप देवल को गुरुवार रात पुलिस ने एनकाउंटर में मार गिराया। इस मुठभेड़ में दो सब इंस्पेक्टर सहित पांच पुलिसकर्मी भी घायल हुए हैं।

आरोपी दिलीप पर रतलाम के राजीव नगर में सप्ताह भर पहले तिहरे हत्याकांड को अंजाम देने का आरोप था। गुजरात के दाहोद जिले के गांव खरेड़ी डूंगरी के रहने वाले दिलीप ने अपने तीन साथियों के साथ मिलकर लूट के लिए इस वारदात को अंजाम दिया था।

दिलीप लूट के लिए घर में घुसकर गोली मारकर हत्या कर देता था। उसका मकसद रहता था कि लूट के बाद कोई गवाह नहीं छोड़ना है। उसके खिलाफ 2017 में दाहोद में हत्या के दो अलग-अलग मामले, रतलाम में 2009 में रेप का मामला दर्ज है।

उसने गुजरात से अनुपम शर्मा और हिमांशु सोलंकी के नाम से फर्जी आधार कार्ड भी बनवा रखे थे। उसे दाहोद के एक व्यापारी की हत्या के मामले में आजीवन कारावास की सजा हुई थी। 2019 में जेल से पेरोल पर बाहर आने के बाद रतलाम आकर किराये के मकान में रहने लगा था।

दिलीप ने भी पुलिस पर किए फायर

पुलिस को सूचना मिली थी कि फोरलेन से लगे खाचरौद मार्ग के पास से आरोपी दिलीप कहीं जा रहा है। एसपी गौरव तिवारी के निर्देशन में पुलिस दल ने घेराबंदी की तो दिलीप ने पुलिस बल पर फायर कर दिए। पुलिस ने जवाब में फायर किए। इससे दिलीप को गोली लगी और उसकी घटनास्थल पर ही मौत हो गई। दो सब इंस्पेक्टर अयूब खान और अनुराग यादव समेत तीन अन्य पुलिसकर्मी घायल हुए हैं। घायलों को जिला अस्‍पताल भेजा है।

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान का ट्वीट

मौके पर पहुंचे एसपी गौरव तिवारी।

मौके पर पहुंचे एसपी गौरव तिवारी।

मिड टॉउन कालोनी में किराये के मकान में रह रहा था दिलीप
एसपी तिवारी ने बताया कि दिलीप मिड टॉउन कॉलोनी में किराये के मकान में रह रहा था। पीछे टूटी बाउंड्री वॉल से आना-जाना करता था ताकि आगे लगे सीसीटीवी कैमरों में न आ सके। वह खाचरौद रोड की तरफ से पैदल कॉलोनी जा रहा था। तभी पुलिस ने उसे घर लिया। यहां हुई मुठभेड़ में उसे मार गिराया।

इस वारदात के साथ पांच माह पहले मनीष नगर में हुए डॉ. प्रेमकुंवर सिसौदिया के अंधे कत्ल की गुत्थी भी सुलझ गई। यह वारदात दिलीप ने दो अन्य साथियों के साथ मिलकर की थी। दोनों मामलों में पांच आरोपियों को गिरफ्तार किया गया था, जबकि दिलीप की तलाश जारी थी। आज पुलिस ने एनकाउंटर में द‍िलीप को मार ग‍िराया। पुलिस ने कल ही लूटे गए जेवर और अन्य सामग्री बरामद की थी।

यह हुआ था 25 नवंबर की रात
तीन मंजिला मकान के दूसरे हिस्से में रहने वाले 50 वर्षीय गोविंद सोलंकी, पत्नी 45 वर्षीय शारदा और 21 वर्षीय बेटी दिव्या की बदमाशों ने गोली मारकर हत्या कर दी थी। दूसरे दिन सुबह उनकी किरायेदार घर पहुंची, तब घटना का खुलासा हुआ था। कुछ जगह से संदिग्धों के फुटेज मिले। कॉल डिटेल्स से भी पुलिस को मदद मिली।

पता चला कि आरोपित दिलीप ने अन्य साथियों अनुराग उर्फ बॉबी पुत्र प्रवीण सिंह, निवासी विनोबा नगर, गोलू उर्फ गौरव पुत्र राजेश बिलवाल निवासी रेलवे कॉलोनी रोड नंबर 7 रतलाम व लाला पुत्र मनु भाभोर निवासी ग्राम अबलोड लिम्बू फलिया थाना जेसवाड़ा जिला दाहोद के साथ साजिश रचकर तीनों हत्या की थी।





Source link

By Raj

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *