ipl


फरीदाबाद32 मिनट पहले

निकिता लगातार 3 साल से टॉप कर रही थी। सेना में जाना चाहती थी। सोमवार को उसकी गोली मारकर हत्या कर दी गई।

फरीदाबाद के बल्लभगढ़ में लव जिहाद का मामला सामने आया है। यहां नूंह से कांग्रेस विधायक आफताब आलम के चचेरे भाई ने कॉलेज से लौट रही 21 साल की लड़की की गोली मारकर हत्या कर दी। परिवार का आरोप है कि लड़का उनकी बेटी पर धर्म बदलकर शादी करने का दबाव डाल रहा था। दो साल पहले उसने लड़की को किडनैप करने की कोशिश की थी और पुलिस को भी यह बात पता थी।

पेपर देने के बाद भाई का इंतजार कर रही थी
बीकॉम थर्ड ईयर की स्टूडेंट निकिता तोमर सोमवार को बल्लभगढ़ के अग्रवाल कॉलेज में पेपर देने गई थी। सोमवार शाम 4 बजे घर लौटने के लिए वह भाई का इंतजार कर रही थी। तभी कार से तौसीफ नाम का लड़का अपने दोस्त रेहान के साथ आ गया। तौसीफ ने निकिता को गाड़ी में खींचने की कोशिश की। जब निकिता ने इनकार कर दिया तो तौसीफ ने उसे गोली मार दी। पुलिस ने तौसीफ और रेहान को गिरफ्तार कर लिया है। तौसीफ फिजियोथैरेपी का कोर्स कर रहा है।

रसूखदार परिवार से है तौसीफ
तौसीफ के दादा कबीर अहमद पूर्व विधायक हैं। चचेरे भाई आफताब आलम इस समय मेवात जिले की नूंह सीट से कांग्रेस विधायक हैं। आफताब के पिता खुर्शीद अहमद हरियाणा सरकार में मंत्री रह चुके हैं। तौसीफ के सगे चाचा जावेद अहमद सोहना विधानसभा सीट से बसपा के टिकट पर चुनाव लड़ चुके हैं।

दो साल पहले से परेशान कर रहा था तौसीफ, पुलिस भी जानती थी
लड़की के पिता मूलचंद तोमर ने बताया कि तौसीफ 12वीं तक निकिता के साथ ही पढ़ता था। उसने कई बार दोस्ती के लिए निकिता पर दबाव बनाया। वह उस पर धर्म बदलने का दबाव भी बना रहा था। 2018 में तौसीफ ने निकिता को अगवा किया था। हालांकि, तब बदनामी के डर से हमने समझौता कर लिया था।

तौसीफ ने फोन पर कहा था- मुसलमान बन जा, शादी कर लेंगे
निकिता के रिश्तेदार हाकिम सिंह भी इस बात की पुष्टि करते हैं। वे कहते हैं, ‘निकिता पर तौसीफ मुस्लिम बनने के लिए बार-बार दबाव डाल रहा था। पहले भी उसने वारदात की थी, लेकिन तब हमने पंच फैसले से मामला निपटा लिया था। अब लड़के ने फिर निकिता को फोन किया कि मुसलमान बन जा, हम शादी कर लेंगे। निकिता ने इनकार कर दिया तो उसने अपहरण की कोशिश की। अपहरण में नाकाम रहा तो तौसीफ ने उसे गोली मार दी।’

फोटो सीसीटीवी से ली गई है। एकतरफा प्यार में दबाव बना रहा युवक दोस्तों के साथ अपहरण के इरादे से आया था। नाकाम रहा तो गोली मारकर फरार हो गया था।

फोटो सीसीटीवी से ली गई है। एकतरफा प्यार में दबाव बना रहा युवक दोस्तों के साथ अपहरण के इरादे से आया था। नाकाम रहा तो गोली मारकर फरार हो गया था।

बल्लभगढ़ में दो साल पहले से मामला दर्ज था
पुलिस कमिश्नर ओपी सिंह ने बताया कि घटना सामने आने के बाद क्राइम ब्रांच ने फरीदाबाद से पलवल और मेवात तक पांच घंटे ऑपरेशन चलाकर दोनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया। तौसीफ वारदात के बाद मेवात चला गया था। उस पर 2018 में भी इसी लड़की को अपने साथ ले जाने पर शहर थाना बल्लभगढ़ में मामला दर्ज किया गया था।

सीएम कह रहे- पुलिस का काम होता है अपराध होने के बाद व्यक्ति को पकड़ना

  • कानून-व्यवस्था की स्थिति के बारे में सवाल किए जाने पर मुख्यमंत्री मनोहरलाल खट्‌टर ने कहा कि अपराध होने से पहले यह नहीं कहा जा सकता कि आगे क्या होने वाला है। अपराध होने के बाद कितना जल्दी पुलिस जांच कर उसे पकड़ ले, यही पुलिस का काम होता है। अपराधी को पूरी सजा मिलेगी। बख्शा नहीं जाएगा।
  • उधर, हरियाणा के गृह मंत्री अनिल विज ने ट्वीट भी किया कि एसीपी के नेतृत्व में SIT बना दी गई है ताकि जल्द जांच हो सके और परिवार को इंसाफ मिल सके।
  • बल्लभगढ़ के विधायक मूलचंद शर्मा ने कहा कि आरोपी चाहे कोई भी हो, किसी भी सूरत में बख्शा नहीं जाएगा। निकिता हमारी बेटी थी और बेटी को इंसाफ दिलाने के लिए मैं और पूरा प्रशासन परिवार के साथ खड़ा है।
पिता मूलचंद तोमर ने बताया कि निकिता सेना में भर्ती होना चाहती थी।

पिता मूलचंद तोमर ने बताया कि निकिता सेना में भर्ती होना चाहती थी।

निकिता का सेना में जाकर देश सेवा का था सपना
पिता ने बताया कि निकिता पढ़ने में काफी अच्छी थी। 12वीं में उसके 95% नंबर आए थे। बीकॉम में दोनों साल वह टॉपर रही। इस बार फिर टॉप करने के लिए मेहनत कर रही थी। वह लेफ्टिनेंट बनकर देश की सेवा करना चाहती थी। उसने हाल ही में एयरफोर्स की परीक्षा भी दी थी। साथ ही एनडीए के लिए भी तैयारी कर रही थी।



Source link

By Raj

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *