शेहला रशीद पर पिता ने लगाए आरोप: अब्दुल रशीद ने कहा- मेरी बेटी को देश विरोधी काम करने के लिए US से फंडिंग मिलती है


  • Hindi News
  • National
  • JNU Ex Student Leader Shehla Rashid Father Abdul Rashid Shora Complain Her Anti National Activities

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

श्रीनगर2 घंटे पहलेलेखक: दीपक खजूरिया

  • कॉपी लिंक

शेहला रशीद पर उनके पिता अब्दुल राशिद शोरा ने गंभीर आरोप लगाते हुए जम्मू-कश्मीर के डीजीपी से मामले की जांच करने की मांग की है।

जम्मू कश्मीर पीपुल्स कॉन्फ्रेंस (JKPC) की नेता और पूर्व JNU छात्र नेता शेहला रशीद पर उनके पिता अब्दुल रशीद शोरा ने गंभीर आरोप लगाए हैं। उन्होंने आरोप लगाया कि शेहला को देश विरोधी एक्टिविटी के लिए बाहरी देशों से फंडिंग आती है। उन्होंने इस संबंध में जम्मू-कश्मीर के डीजीपी को लिखित शिकायत कर जांच की मांग की।

अब्दुल रशीद ने जम्मू सोमवार देर शाम प्रेस कॉन्फ्रेंस की। उन्होंने कहा कि शेहला के खातों की जांच होनी चाहिए। अगर वह NGO चला रही है और कुछ काम नहीं करती, तो उसके पास पैसा कहां से आया? उन्होंने आगे कहा कि उसके खातों की जांच हुई, तो सारी सच्चाई सामने आ जाएगी।

लेफ्ट पार्टी की एक्टिव सदस्य थी शेहला
अब्दुल रशीद ने कहा- मैं एक गैर राजनीतिक व्यक्ति हूं। मैंने शेहला को इन सबसे दूर रहने को भी कहा था, मगर वह नहीं मानी। शेहला ने कश्मीर के पूर्व विधायक और अलगाववादी बोली बोलने वाले इंजीनियर रशीद को JNU में बोलने का मौका क्यों दिया? मेरी बेटी लेफ्ट पार्टी की एक्टिव सदस्य थी और वह मेरठ से चुनाव लड़ने वाली थी। शेहला को कहां से, कैसे और क्यों फंडिंग आती है, इसकी भी जांच की जानी चाहिए। उसे US में बैठे कुछ अलगाववादी फंडिंग करते हैं।

पिता के आरोपों को झूठा बताया
अपने पिता के आरोपों के बाद शेहला ने कश्मीर से ट्वीट किया और कहा- मेरे पिता झूठ बोल रहे हैं। वह मेरी मां को मारते-पीटते हैं। उनके खिलाफ हम शिकायत भी दर्ज करवा चुके हैं। वहीं, शेहला के पिता का कहना है कि उन्हें धमकी मिली है और इसी कारण वह कश्मीर से जम्मू आए हैं।

कौन हैं शेहला रशीद?
शेहला रशीद जेएनयू की रिसर्च स्कॉलर हैं। 2015-16 में यूनिवर्सिटी के छात्र संघ की उपाध्यक्ष बनी थीं। इसी साल मार्च में शाह फैसल की पार्टी जम्मू-कश्मीर पीपुल्स मूवमेंट से जुड़ गई थीं। शाह फैसल पूर्व आईएएस हैं, जिन्होंने नौकरी छोड़कर अपनी पार्टी बनाई है।





Source link

By Raj

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *