वैक्सीनेशन का आंकड़ा एक करोड़ के करीब: 11 राज्यों में 75% से ज्यादा हेल्थकेयर वर्कर्स का टीकाकरण; 31 लाख से ज्यादा फ्रंटलाइन वर्कर्स को वैक्सीन लगी


  • Hindi News
  • National
  • Coronavirus VaccinationLatest Update; Covishield Covaxin  | About 1 Crore Healthcare And Frontline Workers To Get Covid 19 Vaccine Dose

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

नई दिल्ली3 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

दुनिया के सबसे बड़े वैक्सीनेशन प्रोग्राम के तहत अब तक कोरोना वैक्सीन की करीब 98.5 लाख डोज हेल्थकेयर और फ्रंटलाइन वर्कर्स को दी जा चुकी है। वैक्सीनेशन के 34वें दिन शाम 6 बजे तक वैक्सीन की 3 लाख 17 हजार 190 डोज दी गई। इसी के साथ देश में वैक्सीनेशन का आंकड़ा 98 लाख 46 हजार 523 पहुंच गया है। शुक्रवार को भारत वैक्सीन के एक करोड़ डोज देने वाला देश बन जाएगा।

हेल्थ मिनिस्ट्री के मुताबिक, अब तक 11 राज्य और केंद्रशासित प्रदेश ऐसे हैं, जहां 75% से ज्यादा हेल्थकेयर वर्कर्स को वैक्सीन का पहला डोज दे दिया गया है। इनमें बिहार, त्रिपुरा, ओडिशा, लक्षद्वीप, गुजरात, छत्तीसगढ़, उत्तराखंड, मध्य प्रदेश, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश और उत्तर प्रदेश शामिल हैं। 7 राज्य ऐसे हैं, जहां 50% से कम हेल्थकेयर वर्कर्स को पहला डोज दिया गया। इनमें लद्दाख, तमिलनाडु, दिल्ली, पंजाब, चंडीगढ़, नगालैंड और पुड्‌डुचेरी शामिल हैं।

वैक्सीनेशन के मामले में टॉप-7 राज्य

राज्य डोज दी गई
उत्तर प्रदेश 10,23,988
गुजरात 8,31,739
महाराष्ट्र 8,05,514
राजस्थान 7,62,602
मध्य प्रदेश 6,05,399
कर्नाटक 5,80,330
पश्चिम बंगाल 5,86,415

13 फरवरी से वैक्सीन का दूसरा डोज दिया गया
देश में 16 जनवरी से वैक्सीनेशन प्रोग्राम की शुरुआत की गई थी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इसकी शुरुआत की थी। इसके तहत हेल्थकेयर वर्कर्स को वैक्सीन की पहली डोज दी जा रही है। वहीं, 13 फरवरी से इनमें से जिन्हें पहला डोज लगाया जा चुका है, उन्हें दूसरा डोज देना भी शुरू कर दिया गया है। फ्रंटलाइन वर्कर्स का वैक्सीनेशन भी 2 फरवरी से शुरू हो गया है।

अब तक 32 की मौत हुई
मिनिस्ट्री के मुताबिक, कोरोना वैक्सीनेशन के बाद अब तक 32 लोगों की मौत के मामले भी सामने आए हैं। यह कुल वैक्सीनेशन का 0.0003% हैं। इनमें से 13 की मौत हॉस्पिटल में और 19 की मौत हॉस्पिटल के बाहर हुई है। हालांकि किसी की भी वैक्सीनेशन की वजह से नहीं हुई है।

प्रायोरिटी दिसंबर में ही तय कर ली थी
कोरोना की वैक्सीन पहले किसे लगेगी, इसकी प्रायोरिटी सरकार ने दिसंबर में ही तय कर ली थी। इस लिस्ट में 30 करोड़ लोगों को शामिल किया गया है। इसमें 1 करोड़ हेल्थवर्कर्स और 2 करोड़ फ्रंटलाइन वर्कर्स के साथ 27 करोड़ ऐसे लोग होंगे, जिनकी उम्र 50 साल से ज्यादा होगी या जो किसी तरह की गंभीर बीमारी से जूझ रहे होंगे।



Source link

By Raj

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *