राजद ने हार नहीं मानी: तेजस्वी बोले- जनादेश महागठबंधन के साथ, लेकिन EC का नतीजा NDA के पक्ष में


  • Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • RJD Tejashwi Yadav Mahagathbandhan Patna Press Confrence Tejashwi Attacks On Nitish Kumar Government Formationn In Bihar Bihar Election Patna Mandate In Favor Of Grand Alliance, NDA Will Form Government Through Door

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

पटना20 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

राजद नेता तेजस्वी यादव ने गुरुवार को पटना में राबड़ी आवास पर प्रेस कॉन्फ्रेंस की। उन्होंने नीतीश की नैतिकता पर सवाल उठाया।

बिहार चुनाव के नतीजे NDA के पक्ष में भले आए हों, लेकिन राजद इसे हार मानने को तैयार नहीं है। नतीजा आने के दो दिन बाद राजद नेता तेजस्वी यादव ने कहा कि जनता का जनादेश महागठबंधन को ही मिला है, पर चुनाव आयोग का नतीजा NDA के पक्ष में आया है।

तेजस्वी ने नीतीश पर भी तंज कसा, “हम लोग रोने वाले नहीं, संघर्ष करने वाले हैं। जो पार्टी (जदयू) चेहरा बदलने की बात करती थी, वह खुद तीसरे नंबर पर आ गई है। नीतीश कुमार में नैतिकता नहीं बची है, अगर थोड़ी भी बची है तो उन्हें कुर्सी छोड़ देनी चाहिए। वे जोड़-तोड़, गुणा-भाग करके कुर्सी पाने की जुगत में लगे हैं।’

NDA और महागठबंधन का अंतर प्वाइंट वन परसेंट- तेजस्वी
तेजस्वी ने कहा, ‘NDA चोर दरवाजे से सरकार बना रही है। भाजपा साफ तौर पर समझ ले कि यह जनादेश बदलाव का जनादेश है। NDA का वोट शेयर 37.3% है और महागठबंधन का वोट शेयर 37.2% है यानी प्वाइंट वन का अंतर है। इस अंतर को अगर वोटों में कनवर्ट करें तो 12 हजार 270 वोट होंगे।’

‘नीतीश ने बेरोजगारों को नौकरी देने में असमर्थता जताई है। क्या बिहार के युवा सरकारी नौकरी पाने के हकदार नहीं हैं। देश में पहली बार किसी पार्टी ने अपने एजेंडे में दस लाख नौकरियां देने की बात रखी। हम लोग जल्दी ही धन्यवाद यात्रा निकालेंगे। अगर शिक्षा और रोजगार के क्षेत्र में सुधार नहीं हुआ तो महागठबंधन के लोग आंदोलन करेंगे।’

भास्कर के सवाल पर बोले- हम सरकार बनाएंगे
भास्कर ने तेजस्वी से सरकार बनाने पर सवाल किया। राजद नेता ने कहा, “हां, हम सरकार बनाएंगे। हमने अपने विधायकों से भी कहा है कि आप तैयार रहें, बशर्ते चुनाव आयोग रद्द किए गए पोस्टल बैलेट की ईमानदारी से जांच कराए।’

’40 दिन तक पोस्टल बैलट को सील कर रखने का नियम है इसलिए इसे छिपाया नहीं जा सकता। 900-900 पोस्टल वोट रद किए गए। इसकी रिकाउंटिंग हो। हमारे कैंडिडेट्स ने सवाल उठाया था, पर इसे भी नहीं सुना गया। हम जो कह रहे हैं, इसका सबूत रिकॉर्डिंग में होगा। हमें भी रिकॉर्डिंग देखने का अधिकार है। रात के अंधेरे में खेल किया गया।’



Source link

By Raj

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *