नीतीश 7वीं बार सीएम: डिप्टी सीएम बनने जा रहे तारकिशोर और रेणुदेवी समेत 14 मंत्रियों ने शपथ ली


  • Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Amit Shah And JP Nadda Will Also Attend Nitish Kumar’s Oath Taking Ceremony At Rajbhawan Patna New Government Formation In Bihar, Tarkishore Deputy Cm Jp Nadda Renu Devi Fagu Chauhan

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

पटना2 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

नीतीश कुमार ने सोमवार शाम 4.35 बजे राजभवन में बिहार के मुख्यमंत्री पद की शपथ ली। उनके साथ में डिप्टी सीएम पद के दावेदार तारकिशोर (बीच में) और रेणु देवी।

नीतीश कुमार ने आज राजभवन में 7वीं बार मुख्यमंत्री पद की शपथ ली। नीतीश के साथ 4 बार के विधायक तारकिशोर प्रसाद ने मंत्री पद की शपथ ली। वो वैश्य समुदाय से आते हैं। अति-पिछड़ा वर्ग से आने वाली रेणु देवी को भी शपथ दिलाई गई। पोर्टफोलियो भले नहीं बंटा, लेकिन नीतीश के बगल की दो कुर्सियों पर तार किशोर प्रसाद और रेणु देवी के बैठने से ये साफ हो गया कि तमाम विरोधों के बावजूद ये दोनों ही उप-मुख्यमंत्री हैं।

नीतीश की कैबिनेट में जदयू के 5, भाजपा के 7, हम के एक और वीआईपी के एक विधायक को मंत्री के तौर पर शामिल किया गया है। शपथ समारोह में गृह मंत्री अमित शाह और भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा भी मौजूद रहे। शाह और नड्डा पहली पंक्ति में बैठे, पर इस कतार में पिछले डिप्टी सीएम सुशील मोदी का नाम नहीं था।

इन्होंने ली शपथ किस कोटे से मंत्री बने कहां से विधायक
1. तारकिशोर भाजपा वैश्य समुदाय से आते है। भाजपा विधानमंडल के नेता। कटिहार से 4 बार से विधायक। 12वीं तक पढ़े हैं। डिप्टी सीएम पद इन्हीं के पास होगा।
2. रेणु देवी भाजपा भाजपा विधानमंडल की उपनेता। अति पिछड़े नोनिया समुदाय से आती हैं। बेतिया से विधायक हैं। 2005 से 2009 तक खेल और संस्कृति मंत्री रह चुकी हैं।
3. विजय चौधरी जदयू पिछली विधानसभा में स्पीकर थे। नीतीश के करीबी। इस बार सरायरंजन से जीते हैं। यहां से 6 बार से विधायक हैं।
4. बिजेंद्र यादव जदयू 74 साल के यादव सबसे उम्रदराज मंत्री। जेपी आंदोलन के समय से राजनीति में हैं। 1990 से सुपौल से 8 बार से विधायक हैं। पिछली सरकार में ऊर्जा मंत्री रहे।
5. अशोक चौधरी जदयू महादलित वर्ग से हैं। जदयू के कार्यकारी अध्यक्ष हैं और नीतीश के करीबी हैं। कभी कांग्रेस में थे। 5वीं बार सकरा से विधायक।
6. मेवालाल चौधरी जदयू कुशवाहा वर्ग से हैं। तारापुर से विधायक हैं। बिहार एग्रीकल्चर यूनिवर्सिटी के वाइस चांसलर रहे।
7. शीला कुमारी जदयू अति पिछड़े वर्ग से हैं। फुलपरास से विधायक हैं। पहली बार चुनाव जीती और मंत्री बनीं।
8. संतोष मांझी हम महादलित वर्ग से हैं और विधान परिषद के सदस्य हैं। 4 सीटों वाली पार्टी हिंदुस्तान आवाम मोर्चा के चीफ जीतनराम मांझी के बेटे हैं।
9. मुकेश सहनी VIP निषाद वर्ग से आते हैं। महागठबंधन छोड़कर NDA में आए। खुद सिमरी बख्तियारपुर सीट से चुनाव हार गए, लेकिन उनकी पार्टी 4 सीटें जीत गई।
10. मंगल पांडेय भाजपा ब्राह्मण समुदाय से हैं। पिछली सरकार में स्वास्थ्य मंत्री थे। आरएसएस और एबीवीपी में रह चुके हैं। बिहार भाजपा के अध्यक्ष भी रहे।
11. अमरेंद्र प्रताप सिंह भाजपा राजपूत वर्ग से हैं और आरा से विधायक हैं। अमरेंद्र के भाई भूपेंद्र झारखंड सरकार में मंत्री हैं।
12. रामप्रीत पासवान भाजपा पार्टी का दलित चेहरा हैं। लोजपा के अलग होने के बाद पासवान समुदाय के नेता को भाजपा ने मंत्री बनाया। मधुबनी के राजनगर से विधायक हैं। मैथिली में शपथ ली।
13. जीवेश मिश्रा भाजपा मिथिलांचल में भूमिहार समुदाय के बड़े नेता। दरभंगा की जाले सीट से विधायक हैं। मैथिली में शपथ ली।
14. रामसूरत राय भाजपा मुजफ्फरपुर के औराई से विधायक। यादव समुदाय से आते हैं। पहली बार मंत्री बन रहे हैं।

ताजपोशी में तेजस्वी नहीं
राजद नेता तेजस्वी यादव शपथ ग्रहण समारोह में शामिल नहीं हो रहे। भास्कर की रिपोर्ट के मुताबिक, तेजस्वी दो दिन से घर से बाहर ही नहीं निकले। तेजस्वी ने हार नहीं मानी है। वे चुनाव नतीजों के खिलाफ कानूनी लड़ाई लड़ने के लिए दिल्ली में विशेषज्ञों से सलाह-मशविरा कर रहे हैं। इस वजह से महागठबंधन (राजद, कांग्रेस, वाम दल) भी शपथ ग्रहण समारोह का बायकॉट कर रहा है। उधर, लोजपा को समारोह का न्योता नहीं मिला है। इस वजह से चिराग पासवान और उनकी पार्टी के इकलौते विधायक शपथ ग्रहण में नहीं जा रहे।

सुशील मोदी अलग-थलग

नीतीश के शपथ ग्रहण कार्यक्रम में पटना पहुंचे गृह मंत्री अमित शाह और पार्टी अध्यक्ष जेपी नड्डा का एयरपोर्ट पर भाजपा नेताओं ने स्वागत किया। डिप्टी सीएम की राह से दूर हुए सुशील कुमार मोदी अलग-थलग दिखे।

नीतीश के शपथ ग्रहण कार्यक्रम में पटना पहुंचे गृह मंत्री अमित शाह और पार्टी अध्यक्ष जेपी नड्डा का एयरपोर्ट पर भाजपा नेताओं ने स्वागत किया। डिप्टी सीएम की राह से दूर हुए सुशील कुमार मोदी अलग-थलग दिखे।

स्पीकर भाजपा का होगा
इस बार स्पीकर भाजपा का होगा। सोमवार दोपहर तक अमरेंद्र प्रताप सिंह और नंदकिशोर यादव के नाम की चर्चा थी। अब नंदकिशोर का नाम आगे चल रहा है। अमरेंद्र को मंत्री बनाया जा रहा है। वे आरा से विधायक हैं। इससे पहले वे डिप्टी स्पीकर रह चुके हैं। वहीं, यादव पटना साहिब से विधायक हैं। वे भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष रह चुके हैं। पिछली बार स्पीकर रहे विजय कुमार चौधरी को भी मंत्री बनाया जा रहा है।

सुशील मोदी का ट्वीट





Source link

By Raj

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *