त्रिपुरा के सीएम की मुसीबत बढ़ी: प्रदेश प्रभारी के सामने कार्यकर्ताओं ने मुख्यमंत्री विरोधी नारे लगाए; सीएम बोले- जनता बताएगी कि मैं सीएम रहूं या नहीं


  • Hindi News
  • National
  • In Front Of BJP State In charge, Activists Shouted Anti Chief Minister Slogans; CM Said On December 13, The Public Will Tell Whether I Should Remain CM Or Not

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

24 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

मुख्यमंत्री बिप्लब देव ने कहा कि वह 13 दिसंबर को विवेकानंद मैदान में आम लोगों से बात करेंगे।

त्रिपुरा में मुख्यमंत्री बिप्लब देव की मुसीबतें बढ़ती जा रहीं हैं। BJP प्रदेश प्रभारी के सामने कार्यकर्ताओं के मुख्यमंत्री विरोधी नारेबाजी पर बिप्लब देव ने कहा कि वह 13 दिसंबर को त्रिपुरा के विवेकानंद मैदान जाएंगे। त्रिपुरा के लोगों से अपील है कि वह वहां पहुंचे और बताएं कि मैं मुख्यमंत्री रहूं या नहीं? अगर लोग मुझे सपोर्ट नहीं करेंगे तो इसकी जानकारी मैं पार्टी हाईकमान को दे दूंगा।

कार्यकर्ताओं ने लगाए थे बिप्लब हटाओ, BJP बचाओ का नारा
सोमवार को पार्टी के प्रदेश प्रभारी विनोद सोनकर अगरतला पहुंचे थे। इस दौरान पार्टी के बड़ी संख्या में कार्यकर्ताओं ने मुख्यमंत्री के खिलाफ नारेबाजी की थी। कार्यकर्ताओं ने ‘बिप्‍लब हटाओ, BJP बचाओ’ जैसे नारे लगाए थे। इससे पार्टी में फूट की बात सामने आने लगी थी। हालांकि बाद में प्रदेश प्रभारी विनोद कुमार सोनकर ने कहा था कि पार्टी में किसी भी तरह का कोई मतभेद नहीं है।

पहले भी मुसीबतें झेल चुके हैं बिप्‍लब देव
ये पहली बार नहीं है जब बिप्‍लब देव की सरकार पर खतरे के बादल मंडराए हैं। इसके पहले भी ऐसी कई मुसीबतें वह झेल चुके हैं। अक्‍टूबर में ही त्रिपुरा BJP के नाराज विधायकों ने पार्टी अध्‍यक्ष जेपी नड्डा से मुलाकात करके मुख्यमंत्री की शिकायत की थी। चार विधायकों के दल ने भी त्रिपुरा के राजनीतिक हालात को लेकर पार्टी हाईकमान को रिपोर्ट सौंपी थी।





Source link

By Raj

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *