टॉप न्यूज़


  • Hindi News
  • Local
  • Maharashtra
  • Chhota Rajan | Underworld Don Chhota Rajan And His Three Aides Jailed For Two Years By Mumbai Sessions Court

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

मुंबई14 दिन पहले

मुंबई सेशन कोर्ट ने सोमवार को गैंगस्टर छोटा राजन और 3 गुर्गों को जबरन वसूली के मामले में दो साल की सजा सुनाई। राजन पर 2015 में पनवेल के बिल्डर नंदू वाजेकर को धमकाकर 26 करोड़ की जबरन उगाही करने का आरोप था। पुलिस के पास मौजूद बिल्डर के ऑफिस के सीसीटीवी फुटेज से साबित हुआ कि आरोपी बिल्डर के ऑफिस गए थे। साथ ही पुलिस को इनकी कॉल रिकॉर्डिंग भी मिली, जिसमें छोटा राजन बिल्डर को धमकी दे रहा है।

छोटा राजन को भारत लाने के बाद उस पर लगे सारे मामले CBI को ट्रांसफर हो गए थे। उसी में से यह एक मामला भी था। यह मामला पनवेल में रजिस्टर किया गया था। फिलहाल, छोटा राजन तिहाड़ जेल में है।

पुणे में एक जमीन खरीद मामले में की थी वसूली
2015 में नंदू वाजेकर ने पुणे में एक जमीन खरीदी थी, जिसके एवज में एजेंट परमानंद ठक्कर को 2 करोड़ रुपए कमीशन के रूप में देना तय हुआ था। ठक्कर को और पैसे चाहिए थे, लेकिन वाजेकर ने रुपए देने से इनकार कर दिया। ठक्कर ने छोटा राजन ने संपर्क किया था और राजन ने अपने गुर्गों की मदद से वाजेकर को धमकाकर 26 करोड़ वसूले थे। इसी मामले में ठक्कर मुख्य आरोपी है और फिलहाल फरार है।

2 करोड़ की जगह वसूले 26 करोड़
छोटा राजन ने अपने कुछ लोगों को वाजेकर के ऑफिस में भेजा और पिस्तौल दिखाकर धमकी दी थी। आरोप है कि वाजेकर से 2 करोड़ के जगह 26 करोड़ लिए थे और जान से मारने की धमकी भी दी।

मुंबई में तीसरे मामले में हुई सजा
बिल्डर से फिरौती के लिए खुद छोटा राजन ने दो बार फोन किया था। मुंबई में यह तीसरा केस है, जिसमें छोटा राजन को सजा हुई हैं। इससे पहले मुंबई में पत्रकार जे. डे की हत्या के मामले में राजन दोषी करार दिया जा चुका है। इसके अलावा दिल्ली में जाली पासपोर्ट मामले में भी छोटा राजन को सजा हो चुकी है।



Source link

By Raj

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *