गुजरात के अंकलेश्वर में मार्मिक घटना: महिला ने तीन बेटियों को जन्म दिया, तंगी के चलते इलाज नहीं मिलने से तीनों की मौत; 4 महीने पहले ही पति का हुआ था निधन


  • Hindi News
  • Local
  • Gujarat
  • Woman Gave Birth To Three Daughters, Three Died Due To Lack Of Money Due To Timely Treatment, Husband Died 4 Months Ago

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

सूरत16 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक
बच्चियों को लेकर सिविल अस्पताल आ रहा था परिवार। - Dainik Bhaskar

बच्चियों को लेकर सिविल अस्पताल आ रहा था परिवार।

गुजरात के अंकलेश्वर में एक मां की तीन नवजात बच्चियों ने इलाज न मिलने से दम तोड़ दिया। अंकलेश्वर के कसुवावाज गांव में शनिवार सुबह ऊषा नाम की महिला ने 3 बेटियों को जन्म दिया था। बच्चियों का वजन कम था और उन्हें सांस लेने में तकलीफ हो रही थी। निजी अस्पताल ने जब एक बच्ची को इलाज के लिए मशीन में रखने का खर्च 7500 रुपए बताया, तो आर्थिक तंगी से जूझते परिवार ने उन्हें सूरत के सरकारी अस्पताल ले जाने का फैसला किया। अस्पताल पहुंचने से पहले ही तीनों बच्चियों की मौत हो गई।

तीन बेटियों को जन्म देने वाली ऊषा की फाइल फोटो।

तीन बेटियों को जन्म देने वाली ऊषा की फाइल फोटो।

आठवें महीने में हुआ बच्चियों का जन्म
मृतक बेटियों के मामा अजय राठौर ने बताया कि बहन ऊषा ने गर्भ के आठवें महीने में बच्चियों को जन्म दिया था। ऊषा को शुक्रवार को अंकलेश्वर के प्राइवेट अस्पताल में भर्ती कराया गया था। यहां आज सुबह ऊषा ने तीन बच्चियों को जन्म दिया। लेकिन, तीनों बहुत कमजोर थीं और उन्हें सांस लेने में तकलीफ हो रही थी। अस्पताल ने हरेक बच्ची को मशीन में रखने का खर्च 7500 रुपए बता दिया था। इसलिए बच्चियों को सूरत के सिविल अस्पताल लाया जा रहा था।

पति की मौत के बाद भाई के साथ ही रही थी ऊषा।

पति की मौत के बाद भाई के साथ ही रही थी ऊषा।

मां को नहीं दी गई बच्चियों की मौत की खबर
सिविल अस्पताल पहुंचते ही ट्रॉमा सेंटर के डॉक्टर्स ने बताया कि तीनों बच्चियों की मौत हो चुकी है। यह सुनकर परिवार में मातम छा गया। जबकि, बच्चियों की मां अंकलेश्वर के ही अस्पताल में भर्ती है और उसे अब तक बच्चियों की मौत की खबर नहीं दी गई है। फिलहाल बच्चियों को सिविल अस्पताल के पोस्टमॉर्टम रूम में रखा गया है।

करीब चार महीने पहले ही पति का निधन हुआ था
अजय राठौर ने बताया कि बहन ऊषा की शादी 7 साल पहले महेश पाटडिया से हुई थी। परिवार में एक 5 साल का बेटा भी है। महेश मजदूरी कर परिवार का भरण-पोषण करता था। करीब चार महीने पहले ही बीमारी के चलते महेश की मौत हो गई थी।

खबरें और भी हैं…



Source link

By Raj

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *