गुंडों से बचाने के लिए महिला भरे बाजार में मदद को चिल्लाती रही; एक दुकानदार ने हिम्मत दिखाई तो बदमाश भाग गए


भरतपुर13 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

बदमाश महिला को जबरन उठाकर ले जा रहे थे, इस दौरान भीड़ तमाशा देखती रही। एक दुकानदार ने पुलिस बुलाने की बात कही तो बदमाशों ने महिला को छोड़ दिया।

राजस्थान के धौलपुर जिले के बाड़ी कस्बे में रविवार को एक महिला घर से निकली। इस बीच एक जीप उसके पास रुकती है और उसमें से दो लोग उतरकर महिला को उठाने की कोशिश करते हैं। इस बीच वहां तमाशा देखने वालों की भीड़ जमा हो गई। महिला मदद की गुहार लगाती रही, लेकिन कोई आगे नहीं आया। पास में ई-मित्र सेंटर चलाने वाले व्यक्ति ने यह सब देखा तो वह आगे आया और आरोपियों का विरोध करने लगा। ई-मित्र संचालक ने पुलिस बुलाने की बात कही तो तो आरोपी वहां से भाग गए।

मामला दर्ज कराने के लिए पीड़ित को 5 घंटे थाने में बैठना पड़ा
घटना एक दुकान के बाहर लगे CCTV में कैद हो गई। इस मामले में पुलिस की लापरवाही भी सामने आई है। पुलिस ने घटना के करीब 5 घंटे बाद केस दर्ज किया। वजह बताई कि एसपी मीटिंग ले रहे थे, इसलिए देरी हो गई।

महिला का आरोप- ससुराल वाले परेशान करते हैं
पीड़ित भूरी ने बताया कि उसकी शादी 12 साल पहले जगनेर कस्बे के गांव रछुआ में साहब सिंह के साथ हुई थी। पति के भाभी से अवैध संबंध थे। इसलिए, भूरी ने ससुराल छोड़ दिया और पिछले 6 साल से पिता के मिले प्लॉट में मकान बनाकर तीन बच्चों के साथ रह रही है। वह बाड़ी कस्बे के एक निजी नर्सिंग होम में काम करती है। उसका कहना है कि ससुराल वाले उसे आए दिन परेशान करते हैं।

पीड़ित ने बताया कि उसने पहले भी पुलिस से शिकायत की, लेकिन कोई कार्रवाई नहीं की गई। इसके चलते आरोपियों की हिम्मत बढ़ गई। यही वजह है कि उसके अपहरण की कोशिश हुई। पीड़ित ने अपने नंदोई और उसके 5 साथियों पर अपहरण की कोशिश का केस दर्ज करवाया है।



Source link

By Raj

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *