16 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

कंगना रनोट ने ज्वैलरी ब्रांड तनिष्क के उस विज्ञापन पर जमकर निशाना साधा है, जिसमें एक हिंदू लड़की को मुस्लिम परिवार की बहू के रूप में दिखाया गया था। एक्ट्रेस ने ट्विटर पर लिखा है, “यह विज्ञापन कई स्तर पर गलत है। हिंदू बहू परिवार के साथ लंबे समय तक रहती है, लेकिन उसे स्वीकारा तब जाता है, जब वह उनका उत्तराधिकारी लाती है। तो क्या वह सिर्फ ओवरी का एक सेट है? यह ऐड न केवल लव-जिहाद, बल्कि सेक्सिज्म को भी बढ़ावा देता है।”

विज्ञापन बनाने वालों को कहा- क्रिएटिव टेररिस्ट

कंगना ने अगले ट्वीट में लिखा है, “हिंदुओं को इस बात से पूरी तरह सचेत रहने की जरूरत है कि ये क्रिएटिव टेररिस्ट हमारे दिमाग में क्या घुसाने की कोशिश कर रहे हैं। हमें इसे जांचना चाहिए। बहस और मूल्यांकन करना चाहिए कि जो सोच हमारे दिमाग में भरी जा रही है, उसका हम पर क्या असर हो रहा है? अपनी सभ्यता को बचाने का यही इकलौता तरीका है।”

कंगना ने कहा था- लानत है

इससे पहले सोमवार रात कंगना ने तनिष्क को लानत भेजी थी। उन्होंने लिखा था, “कॉन्सेप्ट इतनी बड़ी समस्या नहीं थी, जितना कि इसका एक्जीक्यूशन था। डरी हुई हिंदू लड़की सहमी हुई आवाज में अपनी सास से पूछती है कि ये रस्म तो आपके यहां होती ही नहीं? क्या वह महिला घर का हिस्सा नहीं है? वह उनकी दया पर क्यों है? अपने ही घर में इतनी डरी हुई क्यों है? लानत है।”

बायकॉट के बाद ऐड वापस लिया

विज्ञापन रिलीज होने के बाद सोशल मीडिया यूजर्स ने सवाल उठाया कि बिना किसी धर्म या जाति के कोई ऐड क्यों नहीं बनाया जा सकता? कई यूजर्स ने तो यहां तक लिखा कि तनिष्क अपने ऐड में एकत्वम की आड़ में लव-जिहाद को बढ़ावा दे रहा है। सोशल मीडिया पर #BoyCottTanishq चलाया गया। विवाद बढ़ते देख कंपनी ने अपना विज्ञापन वापस ले लिया है।

क्या था तनिष्क के विज्ञापन में?

तनिष्क के इस विज्ञापन में एक हिंदू लड़की को मुस्लिम परिवार की बहू के रूप में दिखाया गया था। जब वह मां बनने वाली होती है और उसकी गोद भराई होती है तो वह अपनी सास से पूछती है कि यह रस्म तो आपके यहां होती भी नहीं है न? जवाब में सास कहती है, “पर बिटिया को खुश रखने की रस्म तो हर घर में होती है न?”





Source link

By Raj

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *