• Hindi News
  • Entertainment
  • Bollywood
  • Akshay Kumar, Riteish Deshmukh, Urmila, Farhan And Many More Bollywood Stars Reaction On Hathras Gang Rape Incident, All They Demanded Hanging Of The Culprits

एक घंटा पहले

  • कॉपी लिंक

रितेश देशमुख और अक्षय कुमार ने कहा कि गैंगरेप के दोषियों को सरेआम फांसी पर लटका देना चाहिए।

उत्तर प्रदेश के हाथरस जिले में दलित लड़की के साथ हुई गैंगरेप की घटना को लेकर बॉलीवुड स्टार्स में भी गुस्सा देखा जा रहा है। अक्षय कुमार, रितेश देशमुख, फरहान अख्तर और उर्मिला समेत कई सेलेब्स ने घटना को लेकर सोशल मीडिया पर अपनी नाराजगी जताई है। 14 सितंबर को गैंगरेप के बाद दरिंदों ने पीड़िता की जीभ काट दी थी और रीढ़ की हड्डी तोड़ दी थी। करीब 15 दिन तक जिंदगी की जंग लड़ने के बाद मंगलवार तड़के पीड़िता ने दिल्ली के एक अस्पताल में दम तोड़ दिया।

इस मामले को लेकर किए अपने ट्वीट में अक्षय कुमार ने लिखा, ‘गुस्से में और निराश हूं। हाथरस गैंगरेप में कितनी क्रूरता हुई है। आखिर ये कब जाकर रुकेगा? हमारा कानून और उन्हें लागू करने वालों को सच में कठोर होना पड़ेगा। ताकि सजा के बारे में सोचकर ही बलात्कारी थरथराने लगें। दोषियों को फांसी दो। बेटियों और बहनों की सुरक्षा के लिए कम से कम हम अपनी आवाज तो उठा सकते हैं।’

रितेश देशमुख ने प्रतिक्रिया देते हुए लिखा, ‘इस क्रूरता और भयानक अपराध के दोषियों को सार्वजनिक रूप से फांसी दी जानी चाहिए।’

फरहान अख्तर ने अपने ट्वीट में लिखा, ‘दुखद दुखद दिन। इसे कितने समय तक चलने दिया जा सकता है… # हाथरस’

उर्मिला मातोंडकर ने लिखा, ‘दुखद… अमानवीय बहुत बहुत दुखद… हम विफल रहे।’

नगमा ने लिखा, ‘कितने शर्म की बात है, हाथरस की बेटी को न्याय नहीं मिला, उसका सामूहिक बलात्कार हुआ, उसे अधमरा मरने के लिए छोड़ा गया, अब उस पर पर्दा डाल रही है उत्तर प्रदेश की सरकार।’

हुमा कुरैशी ने लिखा, ‘हमें कब तक इन क्रूर अपराधों को सहन करना होगा। इस भयावह अपराध के दोषियों को सजा मिलनी चाहिए। #हाथरस’

मीरा चोपड़ा ने लिखा, ‘एक और गैंगरेप, एक और #निर्भया। ऐसा तब तक नहीं रुकेगा जब तक कि दोषियों को सार्वजनिक रूप से जिंदा नहीं जलाया जाता। इस तरह के घृणित अपराध के लिए कोई दया नहीं हो सकती। ये सब देखकर आपको गुस्सा क्यों नहीं आ रहा।’

कंगना ने सरेआम गोली मारने की मांग की

इस मुद्दे को लेकर किए अपने ट्वीट में कंगना रनोट ने लिखा था, ‘इन बलात्कारियों को सार्वजनिक रूप से गोली मार दो। इन सामूहिक दुष्कर्मों का क्या समाधान है, जिनकी संख्या में हर साल बढ़ोतरी हो रही है? इस देश के लिए कितना दुखद और शर्मनाक दिन है। हम शर्मिंदा हैं क्योंकि हम अपनी बेटियों की सुरक्षा में विफल रहे हैं। #RIPManishaValmiki’

14 सितंबर को हुई थी वारदात

पीड़िता के परिवार के मुताबिक, उस दिन सुबह-सुबह पीड़िता, उसका बड़ा भाई और मां गांव के जंगल में घास काटने गए थे। जब घास की एक गठरी बंध गई तो बड़ा भाई उसे लेकर घर चला आया। मां और बेटी खेत में अकेले रह गए। मां आगे घास काट रही थी। बेटी पीछे कुछ दूर उसे इकट्ठा कर रही थी। इसी दौरान चारों अभियुक्तों ने पीड़िता के गले में पड़े दुपट्टे से उसे बाजरे के खेत में खींच कर उसके साथ गैंगरेप किया।





Source link

By Raj

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *