• Hindi News
  • Local
  • Maharashtra
  • Sonu Sood Vs Mumbai BMC Update; Municipal Filed Police Complaint Against Actor Over Building Converting Hotel

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

मुंबई29 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

शक्ति सागर बिल्डिंग (बाएं), जिसे अभिनेता सोनू सूद पर होटल के रूप में तब्दील करने का आरोप है। बीएमसी ने उनके खिलाफ पुलिस में शिकायत दर्ज कराई है।

लॉकडाउन के दौरान जरूरतमंदों की मदद कर चर्चित हुए अभिनेता सोनू सूद विवादों में फंसते नजर आ रहे हैं। वृहनमुंबई नगर निगम (BMC) ने एक 6 मंजिला रिहायशी इमारत को होटल में तब्दील करने के आरोप में उनके खिलाफ जुहू पुलिस स्टेशन में शिकायत दर्ज करवाई है।

बीएमसी की ओर दी गई कंप्लेंट में कहा गया है कि सोनू सूद ने मुंबई में एबी नायर रोड पर स्थित शक्ति सागर बिल्डिंग को बिना परमिशन के ही होटल में तब्दील कर लिया है। शक्ति सागर एक रिहायशी बिल्डिंग है और उसका कॉमर्शियल इस्तेमाल नहीं किया जा सकता। यह महाराष्ट्र रीजन एंड टाउन प्लानिंग एक्ट के सेक्शन-7 के तहत दंडनीय है। बीएमसी ने सोनू सूद पर इमारत के हिस्से को बढ़ाने, नक्शे में बदलाव करने और इस्तेमाल में बदलाव का आरोप लगाया है।

नोटिस के बावजूद अनधिकृत निर्माण का आरोप
बीएमसी ने अपनी शिकायत में यह भी कहा है कि सोनू सूद ने खुद ही जमीन के इस्तेमाल में बदलाव कर लिया है। इसके अलावा तय प्लान से अतिरिक्त निर्माण कराया है। इसके लिए उन्होंने अथॉरिटी से जरूरी मंजूरी भी हासिल नहीं की है। अभिनेता पर नोटिस को नजरअंदाज करने का भी आरोप लगाया है। BMC ने अपनी कंप्लेंट में कहा है कि नोटिस दिए जाने के बाद भी वह लगातार अनधिकृत निर्माण कराते रहे।

BMC के नोटिस के खिलाफ अदालत गए थे सोनू
बीएमसी अधिकारियों ने बताया कि बीएमसी से जारी नोटिस के खिलाफ सोनू सूद ने मुंबई कोर्ट में अर्जी दाखिल की थी, लेकिन उन्हें वहां से अंतरिम राहत नहीं मिल पाई थी। कोर्ट ने सोनू सूद को हाईकोर्ट में अपील करने के लिए तीन सप्ताह का वक्त दिया था। कोर्ट की ओर से दिया गया तीन सप्ताह का वक्त बीत चुका है और उन्हें अनधिकृत निर्माण को न तो हटाया और न ही इस्तेमाल में तब्दीली के फैसले से पीछे हटे हैं। ऐसे में हमने पुलिस में शिकायत दर्ज कराई है। यह एफआईआर MRTP एक्ट के तहत दर्ज कराई गई है।

BMC की शिकायत पर सूद का जवाब
इस मामले पर सोनू सूद ने भी प्रतिक्रिया दी है। उन्होंने कहा कि बीएमसी से जमीन के यूजर चेंज के लिए परमिशन ली थी और अब महाराष्ट्र कोस्टल जोन मैनेजमेंट अथॉरिटी से मंजूरी मिलने का इंतजार कर रहे हैं। उन्होंने नियमों को नजरअंदाज करने के बीएमसी के आरोप को गलत बताया है।

अब आगे क्या होगा?
बीएमसी की शिकायत पर पुलिस जांच करेगी। इसमें अगर सोनू सूद की और से गड़बड़ी की बात की पुष्टि होती है तो पुलिस महाराष्ट्र रीजन एंड टाउन प्लानिंग एक्ट के तहत एफआईआर कर सकती है।



Source link

By Raj

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *