Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

31 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

लॉकडाउन में कई लोगों की मदद कर मसीहा बने सोनू सूद ने अब एक और नेक काम किया है। सोनू ने उत्तराखंड के चमोली में 7 फरवरी को आई बाढ़ में जान गंवाने वाले एक व्यक्ति की चार बेटियों को गोद ले लिया है। वे अब उनकी पढ़ाई से लेकर शादी तक हर खर्च उठाएंगे। सोनू सूद ने सोशल मीडिया पर चारों बच्चियों की एक फोटो शेयर कर लिखा, “यह परिवार अब मेरा है।”

त्रासदी में गई थी चार बेटियों के पिता की जान
टिहरी जिले के लोयाल गांव के रहने वाले आलम सिंह पुंडीर (45) तपोवन हाइड्रो पावर प्रोजेक्ट में इलेक्ट्रीशियन के रूप में काम करते थे। जिस समय त्रासदी आई, तब आलम एक टनल में ही काम कर रहे थे। इस त्रासदी में उनकी जान चली गई और वे अपने पिछे पत्नी और चार बेटियों को छोड़ गए। मृतक की चार बेटियां अंचल (14), अंतरा (11), काजल (8), और अनन्या (2) हैं। मृतक के परिवार वालों ने उनकी जिम्मेदारी उठाने के लिए सोनू को धन्यवाद दिया है।

सोनू सूद को हमारा आशीर्वाद और शुभकामनाएं
लोयाल गांव के निवासी और पूर्व ग्राम प्रधान हुकुम सिंह भंडारी ने कहा, “हमें श्री सोनू सूद की टीम से आश्वासन मिला है कि वह बच्चियों की शिक्षा और परिवार की आजीविका से संबंधित सभी खर्च वहन करेंगे। सोनू सूद को हमारा आशीर्वाद और शुभकामनाएं।”

सोनू सूद भगवान के रूप में आए हैं: सरोजनी देवी
मृतक आलम सिंह की पत्नी सरोजनी देवी ने कहा, “बाढ़ ने मेरे बच्चों के पिता की जान ले ली और हमें बेसहारा कर दिया। सोनू जी मेरे बच्चों का पालन-पोषण करने के लिए एक भगवान के रूप में आगे आए हैं। मेरे परिवार को अंधेरे में उतरने से बचाने के लिए में उनका दिल से आभार वयक्त करती हूं।”

हर नागरिक की जिम्मेदारी है, आगे आकर मदद का हाथ बढ़ाएं
इस बारे में एक न्यूज वेब साइट को दिए इंटरव्यू में सोनू ने कहा, “ये हर नागरिक की जिम्मेदारी है कि वो इस मुश्किल समय में आगे आकर मदद का हाथ बढ़ाएं। जिन भी लोगों को इस त्रासदी की वजह से बर्बादी झेलनी पड़ी है, उन सभी की हर संभव मदद की जाए।” एक्टर की तरफ से उठाए गए इस नए कदम की जमकर तारीफ की जा रही है। सभी को उम्मीद है कि सोनू का ये कदम पीड़ित परिवार के दुख को कुछ हद तक कम करने वाला साबित होगा।



Source link

By Raj

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *