2 दिन पहले

  • कॉपी लिंक

आमिर खान और फैजल खान ने फिल्म ‘मेला’ में साथ काम किया था, जो 2000 में रिलीज हुई थी।

आमिर खान और उनके छोटे भाई फैजल के बीच रिश्ता लंबे समय से सामान्य नहीं है। अब एक इंटरव्यू में फैजल ने कहा कि वे आमिर की परछाई से बाहर निकला चाहते हैं। उन्होंने सवाल उठाया कि आखिर लोग फैजल का भाई आमिर क्यों नहीं लिखते? दरअसल, फैजल खान फिल्म ‘फैक्ट्री’ से निर्देशन में कदम रख रहे हैं और उनकी मानें तो इस फिल्म के निर्माण में उन्हें आमिर की ओर से कोई मदद नहीं मिली।

आमिर ने फिल्म की स्क्रिप्ट भी नहीं सुनी

एक अंग्रेजी न्यूज वेबसाइट से बातचीत में फैजल ने कहा, “यहां तक कि उन्होंने उस फिल्म की स्क्रिप्ट भी नहीं सुनी, जो मैंने बनाई। और वैसे भी मुझे इस तरह की मदद की जरूरत नहीं। क्योंकि मैं प्रोसेस से गुजर चुका हूं।”

‘मुझे आमिर पर निर्भर रहने की जरूरत नहीं है’

फैजल की मानें तो जब उन्होंने आमिर खान के साथ प्रोडक्शन हाउस ज्वाइन किया था, तब वे स्क्रिप्ट पढ़ते थे। इसके अलावा करियर के शुरुआती दिनों में बतौर असिस्टेंट डायरेक्टर उन्होंने जो कुछ भी सीखा है, उसे इस फिल्म में डाल दिया।

वे कहते हैं, “मुझे किसी भी चीज के लिए आमिर पर निर्भर होने की जरूरत नहीं है। क्योंकि विजन तो डायरेक्टर के पास ही होता है। मैं किसी से इनपुट नहीं लेना चाहता था। मैं अपने दम पर इस प्रोजेक्ट को पूरा करना चाहता था। फिर चाहे यह हिट हो या फ्लॉप, जो भी हो मेरा होगा।”

‘कोई फैजल का भाई आमिर क्यों नहीं लिखता’

फैजल का कहना है कि वे अपने भाई की छत्रछाया से बाहर निकलना चाहते हैं। वे कहते हैं, “मैंने किसी को भी फैसले नहीं लेने दिए। आखिर आपको अपने फैसले खुद लेने होते हैं। वरना आप अपनी पहचान कैसे बना पाएंगे? मेरे अपने संघर्ष रहे हैं। फैजल आमिर खान की परछाई से बाहर कब निकलेगा? क्यों कोई इस तरह से नहीं लिखता कि यह फैजल का भाई आमिर है? पूरा सिस्टम बदलने की जरूरत है।”

एक बीमारी के चलते दोनों भाइयों में दरार आई

दोनों भाइयों के बीच तब दरार आ गई थी, जब फैजल को कथित तौर पर सिजोफ्रेनिया नाम की मानसिक बीमारी हो गई थी। आमिर और उनकी मां ने उनकी इच्छा के बगैर उनका इलाज कराना और उन्हें दवा देना शुरू कर दिया था।

2008 में एक इंटरव्यू में फैजल ने कहा था- “फ्रैंकली, मैं कभी बीमार हुआ ही नहीं था। जो कुछ भी मेरे बारे में कहा गया वह कयास पूर्ण और मेरे बड़े भाई और दूसरे फैमिली मेंबर्स द्वारा फैलाया गया था। मुझे किडनैप कर लिया गया था। मैं नजरबंद था। मुझे अनचाहे ड्रग्स दिए गए। जजमेंट वाले दिन जज साहब ने कहा कि मैं किसी बीमारी से पीड़ित नहीं हूं। मैं अपनी जिंदगी अपने दम पर जीने में सक्षम हूं। मुझे सामान्य इंसान की तरह ट्रीट किया जाए।”



Source link

By Raj

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *