Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

2 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

करियर के शुरुआती दिनों में परिणीति चोपड़ा को अपने बढ़े हुए वजन के चलते काफी आलोचना का शिकार होना पड़ा था। अब उन्होंने एक इंटरव्यू में उन्होंने कहा कि वे ऐसे लोगों से सहमत थीं। उन्होंने कहा, “मैं उनसे सहमत थी कि मैं सबसे अच्छी नहीं देख रही थी। मैं फिटनेस के लिए अपना बेस्ट नहीं दे रही थी।” इस दौरान उन्होंने बॉडी शैमिंग को धरती की सबसे हास्यास्पद चीज भी बताया।

‘आहत तब होती, जब फिट होते हुए आलोचना होती’
परिणीति ने आगे कहा, “मुझे लगता है कि मैं आहत तब होती, जब मैं जो कर सकती थी, वह सबकुछ कर रही होती और मैं वाकई एकदम फिट होती और लोग मेरे लुक को पसंद नहीं कर रहे होते। मुझे लगता है कि इसका मुझपर असर होता। लेकिन मैं उनसे सहमत थी, क्योंकि मुझे पता था कि मैं अपना बेस्ट नहीं कर रही थी।”

‘बॉडी शैमिंग धरती की सबसे हास्यास्पद चीज है’
आलोचना के चलन पर रिएक्शन देते हुए परिणीति ने कहा, “बॉडी शैमिंग धरती की सबसे हास्यास्पद चीज है। यह तो वैसा है कि किसी को उसकी काली आंखों के लिए कहना कि तुम्हारी आंखें काली हैं? तुम्हारे साथ क्या दिक्कत है? तुम्हारी आंखें काली कैसे हो सकती हैं? यह नैचुरल हैं, जिनके साथ आप पैदा हुए हैं। लेकिन हर इंसान को फिट होने की कोशिश करनी चाहिए। उन्हें पतले होने की कोशिश नहीं करनी चाहिए। आप अपने बॉडी टाइप में फिट हो सकते हैं।”

परिणीति ने 2011 में बॉलीवुड डेब्यू किया
परिणीति चोपड़ा ने 2011 में ‘लेडीज वर्सेस रिकी बहल’ से बॉलीवुड डेब्यू किया था। हालांकि, उन्हें पहचान 2012 में रिलीज हुई ‘इशकजादे से मिली थी। ‘शुद्ध देसी रोमांस’, ‘गोलमाल अगेन’, ‘केसरी’ और ‘जबरिया जोड़ी’ जैसी फिल्मों में काम कर चुकीं परिणीति इस साल बैक टू बैक तीन फिल्मों की रिलीज को लेकर चर्चा में हैं। 26 फरवरी को उनकी ‘द गर्ल ऑन द ट्रेन’ OTT प्लेटफॉर्म पर रिलीज हुई। 19 मार्च को ‘संदीप और पिंकी फरार’ और 26 मार्च को ‘सायना’ सिनेमाघरों में रिलीज हुई।

खबरें और भी हैं…



Source link

By Raj

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *